खाद्य पदार्थों की कीमतों में उछाल, खुदरा महंगाई बढ़कर हुई 5.52 फीसदी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (NSO) द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मार्च महीने में खुदरा महंगाई बढ़कर 5.52 फीसदी हो गई है। मुख्य रूप से खाद्य पदार्थों की कीमतों में बढ़ोत्तरी के चलते खुदरा महंगाई में तेजी आई है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा महंगाई फरवरी में 5.03 फीसदी पर रही थी। यह भी पढ़ें:-  कोरोना से जंग में भारत को मिला एक और हथियार, इस वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी यह भी पढ़ें:- ड्रेस को लेकर निशाने पर प्रियंका चोपड़ा, ट्रोलर्स ने कहा- लगता है कुछ पहनना भूल गई एक्ट्रेस आंकड़ों के अनुसार, खाद्य पदार्थों में मार्च महीने में कीमतों में वृद्धि की दर बढ़कर 4.94 फीसदी हो गई। इससे पहले के महीने में यह 3.87 फीसदी थी। फ्यूल और लाइट कैटेगरी में महंगाई मार्च महीने में 4.50 फीसदी पर रही। यह फरवरी महीने में 3.53 फीसदी पर रही थी। यह भी पढ़ें:- Rajasthan: RU नहीं करेगा छात्रों को प्रमोट, यूजी और पीजी के टाइमटेबल जारी यह भी पढ़ें:- महाराष्ट्र में 10वीं-12वीं की परीक्षाएं स्थगित होने के बाद राजस्थान सरकार का भी बड़ा फैसला, इन कक्षाओं के विद्यार्थी होंगे प्रमोट आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में भारतीय रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी से… Continue reading खाद्य पदार्थों की कीमतों में उछाल, खुदरा महंगाई बढ़कर हुई 5.52 फीसदी

अपना सिस्टम क्रोनी या भ्रष्ट, निकम्मा?

भारत का कौन खरबपति फिलहाल मन ही मन बम-बम होगा? जवाब है मुकेश अंबानी और उनकी जियो कंपनी। देश की पुरानी-स्थापित टेलीकॉम कंपनियां बरबादी की कगार पर हैं। ये दिवालिया होंगी तो जियो टेलीकॉम की चांदी है। भारत में सरकार, अदालत, मीडिया सबका कैसे इस्तेमाल कर एकाधिकार बना देश को, लोगों को चूना लगाना है, बिना लाइसेंस के टेलीकॉम की झुग्गी-झोपड़ी बना कर सीडीएमए तकनीक से सस्ती सेवा के बहाने रिलायंस कम्युनिकेशन का बाजार में छा कर बाकी कंपनियों को नानी याद कराते हुए, ग्राहकों को, बैंकों को चूना लगाने की दास्तां को लोग भूले नहीं हैं तो मुफ्त सेवा से जियो की एकाधिकारी रणनीति को भी हर समझदार बूझता है। क्रोनी पूंजीवाद और भ्रष्ट सिस्टम, निकम्मी सरकार व नेताओं के राज में अरबपति-खरबपति कैसे बना जाता है इसकी भारत दास्तां दुनिया में इसलिए् अनूठी है क्योंकि अच्छी-अच्छी विदेशी कंपनियां, देश के पुराने घराने (टाटा, बिड़ला, वाडिया) भी धागे से लेकर पेट्रोलियम-गैस, रिटेल, टेलीकॉम जैसे तमाम धंधों में चोरी, ऊपर से सीनाजोरी के अंदाज में मां भारती को लूटने में जैसे निर्लज्ज रहे हैं वैसे पुतिन के क्रोनी खरबपति भी नहीं रहे! इस वास्तविकता में भारत का राजा कोई हो, मनमोहन सिंह हों या नरेंद्र मोदी हमेशा सिस्टम, अफसर क्रोनी… Continue reading अपना सिस्टम क्रोनी या भ्रष्ट, निकम्मा?

बीस साल में पहली बार घटेगी आय कर वसूली!

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से ही केंद्र सरकार इस बात के लिए अपनी पीठ थपथपा रही है कि इससे आय कर देने वालों की संख्या बढ़ी है पर अब खबर आ रही है कि इस साल दो दशक में पहली बार ऐसा हो सकता है कि आय कर की वसूली कम हो जाए। आय कर विभाग के जानकार सूत्रों के मुताबिक आय कर वसूली का लक्ष्य पूरा करना तो दूर की बात है इस बार पहली बार ऐसा होगा कि वसूली कम हो सकती है। बताया जा रहा है कि भारत के कॉरपोरेट और आय कर संग्रह में 20 साल में पहली बार गिरावट हो सकती है। केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार ने चालू वित्त वर्ष में यानी 31 मार्च को खत्म हो रहे वित्तीय वर्ष में साढ़े 13 लाख करोड़ रुपए के कर संग्रह का लक्ष्य लेकर चल रही है। यह पिछले साल के लक्ष्य से 17 फीसदी ज्यादा है। लेकिन, 23 जनवरी तक आय कर विभाग सिर्फ केवल 7.3 लाख करोड़ रुपए का संग्रह ही कर पाया है। यह पिछले साल इसी अवधि में की गई कर वसूली से साढ़े पांच फीसदी कम है। आय कर संग्रह के इन आंकड़ों की जानकारी न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को… Continue reading बीस साल में पहली बार घटेगी आय कर वसूली!

मदर डेयरी का दूध तीन रुपए महंगा!

खाने पानी की चीजों की बढ़ती महंगाई के बीच आम लोगों के ऊपर महंगाई की एक और मार पड़ने वाली है। महंगे प्याज के साथ साथ अब लोगों को महंगा दूध भी खरीदना होगा।

एयर इंडिया में सौ फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार एयर इंडिया में सौ फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी। नागरिक विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को लोकसभा में इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नई सरकार बनने के बाद एयर इंडिया स्पेसिफिक ऑल्टरनेटिव मैकेनिज्म, एआईएसएएम को फिर से गठित किया गया था। एआईएसएएम पूरी तरह विनिवेश की मंजूरी दे चुका है। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने पिछले साल एयर इंडिया की 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए बोलियां मंगवाई थीं, लेकिन कोई खरीदार नहीं मिला। इसके बाद ट्रांजेक्शन एडवाइजर अर्नस्ट एंड यंग ने बोली प्रक्रिया विफल रहने के कारणों पर रिपोर्ट तैयार की थी। रिपोर्ट के आधार पर इस बार शर्तों में बदलाव किया गया है। एयर इंडिया लंबे समय से घाटे में चल रही है। 2018-19 में 8,556.35 करोड़ रुपए का घाटा हुआ। एयरलाइन पर 50 हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा का कर्ज है। इसलिए सरकार एयर इंडिया को बेचना चाहती है। मार्च तक बिक्री प्रक्रिया पूरी करने की योजना है।

खुदरा महंगाई और बढ़ी

नई दिल्ली। देश में आर्थिक मंदी की खबरों के बीच सरकार को मुश्किल में डालने वाले नए आंकड़ा आए हैं। सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक खुदरा महंगाई दर नवंबर में 5.54 फीसदी पहुंच गई है। यह पिछले तीन साल में सबसे ज्यादा है। इससे अधिक 6.07 फीसदी महंगाई जुलाई 2016 में थी। अक्टूबर में यह 4.62 फीसदी रही थी। यानी महंगाई दर लगातार दूसरे महीने आरबीआई के मध्यम अवधि लक्ष्य यानी चार फीसदी से अधिक रही। इससे पहले रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति की समीक्षा में ब्याज दरें तय करते वक्त खुदरा महंगाई दर को ध्यान में रखता है। इस दर में लगातार चौथे महीने बढ़ोतरी हुई है। सांख्यिकी कार्यालय ने गुरुवार को आंकड़े जारी किए। खाने पीने की वस्तुओं की कीमतें बढ़ने से खुदरा महंगाई दर ज्यादा प्रभावित हुई। खाने पीने की महंगाई दर नवंबर में 10.01 फीसदी रही। अक्टूबर में यह 7.89 फीसदी थी। सांख्यिकी विभाग ने औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े भी जारी किए। इसमें लगातार तीसरे महीने कमी आई। इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन, आईआईपी में सितंबर में 4.3 फीसदी और अगस्त में 1.1 फीसदी गिरावट आई थी। पावर, माइनिंग और निर्माण सेक्टर की गतिविधियों में सुस्ती की वजह से इंडेक्स ज्यादा प्रभावित हुआ। आईआईपी का किसी भी… Continue reading खुदरा महंगाई और बढ़ी

निर्मला ने कहा, सबकी सुनती है सरकार

नई दिल्ली। मशहूर उद्योगपति राहुल बजाज की ओर से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सामने आर्थिकी के सवाल उठाने के मसले पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि सरकार सबकी सुनती है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आलोचनाओं को सुनती है और उसका जवाब देने के लिए हमेशा तैयार रहती है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि यह कहना गलत है कि मोदी सरकार आलोचना नहीं सुनती है। कारपोरेट कर में कटौती से जुड़े संशोधन वाले कराधान विधि संशोधन विधेयक 2019 पर लोकसभा में चर्चा का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यह सरकार आलोचना सुनती है और सकारात्मक ढंग से जवाब देती है और कदम भी उठाती है। वित्त मंत्री ने एक कार्यक्रम में उद्योगपति राहुल बजाज के ‘डर का माहौल’ वाले बयान का हवाला देते हुए कहा कि उस जगह गृह मंत्री ने पूरा जवाब दिया और जब भी आलोचना होती है तो यह सरकार सुनती है और जवाब देती है। वित्त मंत्री ने कहा- सोशल मीडिया में तो कुछ लोगों ने सबसे खराब वित्त मंत्री कह दिया, लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा। मंत्री ने कहा कि यह सरकार और प्रधानमंत्री आलोचनाओं को सुनते हैं और सकारात्मक ढंग से जवाब देते हैं। उन्होंने विपक्ष पर… Continue reading निर्मला ने कहा, सबकी सुनती है सरकार

प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों का उत्पादन ​घटा

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रही है। अब अर्थव्यवस्था के लिए एक और बुरी खबर आई है। भारत के प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों के उत्पादन में बीते महीने सितंबर में पांच फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। आठ प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों के उत्पादन के सूचकांक के अनुसार, सितंबर में औद्योगिक उत्पादन में गिरावट दर्ज की गई जबकि अगस्त में मामूली 0.1 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी। सालाना आधार पर देखें तो पिछले साल सितंबर में औद्योगिक उत्पादन वृद्धि की दर 4.3 फीसदी थी।आठ प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, स्टील, सीमेंट और बिजली शामिल हैं। आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक के अनुसार, उर्वरक को छोड़कर बाकी सभी सात उद्योगों के उत्पादन में सितंबर के दौरान गिरावट दर्ज की गई। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में शामिल मदों के भार में 40.27 फीसदी योगदान प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों का होता है।

बैंक संगठनों की हड़ताल से कामकाज प्रभावित

बैंकों के विलय, ब्याज दरों में कमी और कुछ दूसरी नीतियों के विरोध में बैंक कर्मचारियों के दो संगठनों ने देश भर में हड़ताल किया, जिससे कई जगह कामकाज प्रभावित हुआ

जानसन बेबी पाउडर में कैंसर कारक तत्व

अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (जेएंजे) के बेबी पाउडर में कैंसर कारक तत्व का पता चला है जिसके बाद कंपनी ने बेबी पाउडर की 33 हजार बोतलें वापस मंगवाई हैं।

और लोड करें