Covid Death in India : 70 फीसदी को अन्य बीमारियां थी, एक दिन में 50,040 नए मामले, 1258 लोगों की मौत

Covid Death in India : नयी दिल्ली | देश में कोविड का हाहाकार थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीते चौबीस घंटों में भी साढ़े बारह सौ मरीज कोरोना के कारण मौत का शिकार हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है। देश में कोविड-19 के बीते एक दिन में 50 हजार 40 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 2 लाख 33 हजार 183 हो गई और उपचाराधीन मामलों की संख्या घटकर 5 लाख 86 हजार 403 रह गई। #CoronaVirusUpdates: State-wise details of Total Confirmed #COVID19 cases (till 27th June, 2021, 8 AM) ➡️States with 1-100000 confirmed cases ➡️States with 100001-800000 confirmed cases ➡️States with 800000+ confirmed cases ➡️Total no. of confirmed cases so far#StaySafe pic.twitter.com/sDxhHK7N2N — #IndiaFightsCorona (@COVIDNewsByMIB) June 27, 2021 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, इस संक्रामक रोग से एक दिन में 1 हजार 258 लोगों के जान… Continue reading Covid Death in India : 70 फीसदी को अन्य बीमारियां थी, एक दिन में 50,040 नए मामले, 1258 लोगों की मौत

मौत के आंकड़े छिपाने का आरोप

नई दिल्ली। एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले कांग्रेस पार्टी ने भाजपा शासित कई राज्यों पर कोरोना संक्रमण से हुई मौत के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाया है। कांग्रेस पार्टी वे गुजरात, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में आंकड़े छिपाए जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह भी कहा कि देश में कोविड से हुई मौतों का सही आंकड़ा पता करने और आंकड़े छिपाने वालों की जवाबदेही तय करने के लिए न्यायिक जांच कराई जाए। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने मध्य प्रदेश में कोविड से मौत के आंकड़ों से जुड़ी एक खबर का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को इस पर जवाब देना चाहिए। उन्होंने ट्विट किया- एक लाख 70 हजार मौत- अकेले मई माह में- सिर्फ मप्र में! जो न सोचा, न सुना, वो सत्य सामने है। मध्य प्रदेश में अकेले मई माह में छह महीने के बराबर मौतें हो गईं। इंसान की जान सबसे सस्ती कैसे हो गई? क्यों आत्मा मर गई? कैसे शासन पर बैठे हैं ‘शिवराज’? प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री सामने आएं, बताएं कि कौन जिम्मेदार? कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने… Continue reading मौत के आंकड़े छिपाने का आरोप

मूर्खता से बड़ी महामारी कोई और है ही नहीं।

हम यहां कैसे पहुंचे है? …..मूर्खता से, क्योंकि मूर्खता से बड़ी महामारी कोई और है ही नहीं।..भारत सात साल पहले उम्मीदों में झूमता हुआ था। अच्छे दिनों की आशा में मग्न था। चाशनी में डूबे शब्दों के जरिए हमें रोज नई-नई मिठाई की खुश्बू पहुंचाई जाने लगी थी। ….पर  शासन के नाम पर कुशासन और ऊपर से झूठ का कभी नहीं रुकने वाला सिलसिला।… ऐसे में महामारी को भी झूठ में बदला जाना ही था। वायरस को हल्के में लिया जाना था। वही हुआ और तभी सात साल पुरानी कहानी खलास और उसकी जगह रूलाई की कहानी! यह भी पढ़ें: वक्त आज.. मैंने हवाओं से पूछा! कहानी की जगह केवल कहानी ही ले सकती है! अब कहानी नरेन्द्र मोदी नामक उम्मीद की नहीं है बल्कि उम्मीद के नाउम्मीद होने की है जिसमें भारत खुद को फंसा-जकड़ा पा रहा है। कहानी अब भारत की तकलीफ की है। ऑक्सीजन को तरसते लोगों की कहानी है, जिसमें कहानी सुनाने वाला कहीं छिपा हुआ है। कहानी परिवार के लोगों और मित्रों के निधन से रोते, बिलखते और दुखी लोगों की भारत रूदाली की है, जबकि कहानी सुनाने वाला गुमशुदा है, वह लगातार कही छिपा हुआ है। कहानी भारत की वित्तिय बर्बादी और अनिश्चितता में… Continue reading मूर्खता से बड़ी महामारी कोई और है ही नहीं।

Canada ने अपने देश में आधी आबादी का Covid19 Vaccination कर दिया है, पहली खुराक में USA से आगे निकला

ओटावा | कनाडा (Canada) की करीब आधी आबादी को शनिवार दोपहर तक कोविड-19 वैक्सीन (Covid-16) की पहली खुराक और 4.3 फीसदी को दूसरी खुराक (Second Dose) दे दी गई है। 3.8 करोड़ आबादी वाले देश कनाडा ने 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन (20 Million Vaccination in Canada) की खुराक दी है। सीबीसी न्यूज के अनुसार, लगभग 50 प्रतिशत कनाडाई लोगों ने Satarday तक अपनी पहली खुराक प्राप्त कर ली है। अमेरिका में, रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) की रिपोर्ट है कि 48.2 प्रतिशत ने अपना पहला शॉट लिया है। कनाडा की जन स्वास्थ्य एजेंसी के अनुसार, पिछले हफ्ते उन्होंने कोविड-19 टीकों के वितरण और टीकाकरण के कवरेज में कुछ माइलस्टोन पार किए। वहां पर सप्ताहांत से पहले टीकों की 45 लाख खुराक की डिलीवरी की गई और देशभर में टीका लगाने वालों की संख्या बढ़कर 2 करोड़ को पार हो गई है। ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय में स्थित एक ऑनलाइन प्रकाशन, आवर वर्ल्ड इन डेटा के एक ट्रैकर के अनुसार, कनाडा अब कम से कम एक खुराक के साथ आबादी के हिस्से के लिए दुनिया में पांचवें स्थान पर है। यह दो महीने पहले 26वें स्थान से ऊपर है। “दोस्ताना प्रतिस्पर्धा करना अच्छा है, है ना?” सीबीसी न्यूज नेटवर्क… Continue reading Canada ने अपने देश में आधी आबादी का Covid19 Vaccination कर दिया है, पहली खुराक में USA से आगे निकला

वक्त आज.. मैंने हवाओं से पूछा!

दुनिया भर से आ रहे चिंता जताने वाले संदेश, सरोकार दिखाने वाले सवालों से इनबॉक्स भरे हैं। मैं कई दिनों तक उनकी अनदेखी करती हूं पर सवालों में चिंता बढ़ती जाती है। ….. लेकिन मैं उनसे क्या कहूं? क्या यह कहूं मैं ठीक हूं, जबकि यहां से हजार किलोमीटर दूर शवों के ऊपर टायर और केरोसीन डाल कर उन्हे जलाया जा रहा है?…. झूठ है कि सब ठीक है, मरीजों की संख्या कम हो रही है, जबकि गांवों में लोग सामूहिक रूप से अपनों का जलप्रवाह कर रहे हैं। अब मैं भूल चुकी हूं कि साफ हवा की गंध कैसी होती है। लेकिन मैं कह सकती हूं कि बाहर की हवा भी अंदर की हवा की तरह बासी और जहरीली है। इसमें भय की कच्ची गंध, पागलपन का पसीना और मुश्किलों की सड़ांध है। पिछली बार से बदला हुआ..इस बार घबराहट में होने वाली खरीद नहीं है। मैगी के पैकेट खरीद कर घरों में नहीं भरे जा रहे हैं और न चावल, दाल, पास्ता या चटनी-केचअप की खरीद हो रही है, खुशबूदार बॉडीवॉश या यहां तक कि आटा-मैदा भी खरीद कर नहीं भरा जा रहा है। इस बार सड़कों पर आवारा कुत्ते घबराए हुए नहीं हैं। वे खाना देने वाले… Continue reading वक्त आज.. मैंने हवाओं से पूछा!

देश की असल समस्या

हैरतअंगेज है कि ऐसे त्रासद मौके पर सरकारी पक्ष और सरकारी माध्यम असीमित सकारात्मक भावना की बात कर रहे हैं। गौर करें, तो देश की असल समस्या यही है। सच छिपाने के लिए हेडलाइन मैनेज करने की वर्तमान सरकार की प्रवृत्ति ही हमें आज मुकाम तक ले आई है। भारतीय अर्थव्यवस्था की जड़ें कोरोना महामारी आने के पहले ही कमजोर हो चुकी थी। पिछले महामारी के कारण लगाए गए लॉकडाउन ने अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी। क्या असर हुआ, इसे अलग-अलग क्षेत्रों में जो हुआ उससे समझा जा सकता है। देश का मध्य वर्ग एक तिहाई सिकुड़ गया। 23 करोड़ गरीबी रेखा के नीचे वापस चले गए। जिन महिला कर्मियों का रोजगार छूटा, उनमें से ज्यादातर आज तक वापस नहीं आ सकी हैं। इन सबका उपभोग और मांग पर जो असर हुआ, वह हम सबके सामने है। उसके बाद अब आई महामारी की दूसरी लहर कहां तक नुकसान पहुंचाएगी, इसका अभी अंदाजा ही लगाया जा सकता है। लेकिन अनुमान लगाने की ऐसी हर कोशिश सिहरन पैदा करती है। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने उचित ही कहा है कि स्वतंत्रता के बाद कोविड-19 महामारी देश की शायद सबसे बड़ी चुनौती है। ये चुनौती इस कारण और गंभीर… Continue reading देश की असल समस्या

Good News: अगर आप भी यूज करते हैं जियो तो आपको भी होने वाला है ये बड़ा फायदा, मिलेगी ये सुविधा

New Delhi : कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण लोगों की जेब भी बहुत असर पड़ा है. कई लोगों की नौकरियां छूट गयीं तो कई ऐसे लोग हैं जिनके पास फोन तो है लेकिन फोन पर बात करने के लिए बैलेंस नहीं है. कोरोना के कारण उत्पन्न हुई इन परिस्थितयों में अब जियो ने लोगों को राहत देने का प्रयास किया है. निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो ने कहा है कि वह कोरोना काल के दौरान अपने ग्राहकों को हर महीने 300 मिनट, यानी रोजाना दस मिनट, की मुफ्त काल करने की सुविधा उपलब्ध करायेगी. कंपनी इसके लिये रिलायंस फाउंडेशन के साथ काम कर रही है. कंपनी ने एक बयान में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि कोराना महामारी और लॉकडाउन के चलते उसके जो ग्राहक रिचार्ज नहीं करा पा रहे हैं उन्हें यह सुविधा दी जायेगी. कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच ग्राहकों को मुफ्त टाकटाइम की सुविधा की घोषणा करने वाली रिलायंस जियो पहली कंपनी बन गयी है. महामारी के समय में लोगों को ना हो परेशानी कंपनी ने एक बयान में कहा है कि महामारी के दौरान कंपनी यह सुनिश्चित करना चाहती है कि समाज के वंचित तबके को भी मोबाइल… Continue reading Good News: अगर आप भी यूज करते हैं जियो तो आपको भी होने वाला है ये बड़ा फायदा, मिलेगी ये सुविधा

विपक्ष सिर्फ एक बात करे

कोरोना वायरस की महामारी के बीच विपक्षी पार्टियां एक साथ आईं और सरकार को चिट्ठी लिख कर कई सुझाव दिए। विपक्ष का साथ आना और सरकार को सुझाव दोनों अच्छी बातें हैं। पर विपक्ष अपने सुझावों में विवादित राजनीतिक मुद्दों को शामिल करके अच्छी भली पहल को बेपटरी कर दे रहा है। सोनिया गांधी से लेकर मल्लिकार्जुन खड़गे तक और राहुल गांधी से लेकर प्रियंका गांधी तक अपने निजी बयानों में या प्रधानमंत्री से अपील में कह रहे हैं कि सेंट्रल विस्टा का काम रोक दिया जाए। इसी बात को 12 विपक्षी पार्टियों की ओर से लिखी गई चिट्ठी में भी  प्रमुखता से शामिल कर दिया गया। यह एक विवादित राजनीतिक मुद्दा है, जिसे कोरोना वायरस की महामारी के पहले से विपक्षी पार्टियां उठा रही हैं। जब से सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट की चर्चा शुरू हुई है तब से विपक्ष इसका विरोध कर रहा है। पहले इसका विरोध इस नाम पर था कि यह प्रोजेक्ट गैरजरूरी है, पैसे की बरबादी है, पर्यावरण सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक है और सौंदर्यबोध की दृष्टि से भी बेकार है। दिल्ली की आर्किटेक्चर पर काम करने वाले कई लोगों ने सौंदर्यबोध के नजरिए से सुप्रीम कोर्ट में इसका विरोध किया तो पर्यावरणवादियों ने पर्यावरण के… Continue reading विपक्ष सिर्फ एक बात करे

अपने मोदीजी अब गिरधर गमांग!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज किस मनोदशा में होंगे? अपना मानना है गिरधर गमांग की मनोदशा में। सन् 1999 में ओडिसा में आदिवासी गिरधर गमांग मुख्यमंत्री थे। वे भाग्य से सीएम बने लेकिन बुद्धी, समझ में उनका भगवान मालिक! अक्टूबर 1999 में ओडिसा परजबसुपर साइक्लोन की विपदा आई तो उनका उस वक्त इसी उधेडबुन में वक्त गुजरा की करें तो क्या? जैसा राजा वैसे ही उसके चुने हुए अफसर।  तभी साईक्लोन के वक्त जिस किंकर्तव्यमूढता में, बेचारगी में गमांग और उनके अफसर एक दूसरे का मुंह देख दिमाग खंपाते हुए थे।  . मुख्यमंत्री अफसरों को देखते थे और अफसर उनको। मतलब, जी हुजूर साईक्लोन गुजर जाएगा, कुछ ही समय की बात है। आज नरेंद्र मोदी और उनके अफसर एक-दूसरे को देखते-मूढ भांपते क्या दिमाग लगाते होंगे? …हुजूर हाईकोर्ट-सुप्रीम कोर्ट में झाड पड रही है..हेडलाईने बन रही है… तो क्या हो सकंट का प्रबंधन?…बोल दो वायरस की तीसरी वेव की तैयारी कर रहे है..बनवा दो आज हैडिंग तीसरी वेव आएगी…डराओं। अभी भले लाशे यमुना में बहती मिले लेकिन तीसरी वेव में कहीं बंगाल की खाडी-हिंद महासागर में बहती न मिले। इसलिए जजों-संपादकों को कहों-समझाओं कि गमांग सरकार अगले सुपर साइक्लोन की चिंता में है… लोग मर रहे है तो क्या हुआ दूसरे… Continue reading अपने मोदीजी अब गिरधर गमांग!

विराट कोहली और अनुष्का शर्मा कोविड-19 के खिलाफ जंग में आगे आए, शुरू किया ये अभियान

मुंबई | सेलिब्रिटी जोड़ी अनुष्का शर्मा और विराट कोहली (Virat Kohli) ने कोविड संकट (Covid Crisis) से निपटने में मदद करने के लिए एक धन निधि अभियान शुरू किया है। इस युगल ने अभियान के लिए क्राउड-फंडिंग प्लेटफॉर्म केटो के साथ सहयोग किया है। ‘हैशटेग इनदिसटुगेदर’ की पहल के लिए 2 करोड़ रुपये दान कर चुका है। उन्होंने भारत (India) में कोविड से राहत देने के लिए 7 करोड़ जुटाने का लक्ष्य रखा है। उसी के बारे में बात करते हुए, अनुष्का ने कहा, भारत (India) बेहद कठिन समय से गुजर रहा है और भयावय कोविड महामारी की दूसरी लहर ने हमारे देश को संकट की स्थिति में धकेल दिया है। यह हम सभी के लिए एक साथ आने और करने का समय है। हमारे सभी को आगे आना चाहिए जिससे जरूरत मंद देशवासियों की मदद की जा सकें। विराट कोहली (Virat Kohli) और मुझे बहुत दुख हुआ है कि लोग जिस बेवजह की पीड़ा से गुजर रहे हैं उसे देखते हुए हमें उम्मीद है कि यह फंड वायरस के खिलाफ हमारी लड़ाई में मदद करेगा कि हम सभी असहाय साक्षी हैं। हम सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। हम आशा करते हैं कि आप ज्यादा से… Continue reading विराट कोहली और अनुष्का शर्मा कोविड-19 के खिलाफ जंग में आगे आए, शुरू किया ये अभियान

सावधान! तबाही ना मचा दे covid की  Triple mutation strain, यहाँ आ चुकी है भारत में..

भारत में कोरोना वायरस(corona virus) ने आतंक मचा रखा है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। जिससे एक दिन में करीब 3 लाख मामले दर्ज हो रहे है। और 2 हजार मौते हो रही है। विशेषज्ञों (expert) के अनुसार कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से कई गुना खतरनाक है। इसी बीच एक रिपोर्ट के मुताबिक(according to a report) भारत के कुछ हिस्सों में ‘ट्रिपल म्यूटेशन स्ट्रेन(Triple mutation strain) पाया गया है। भारत के साथ ही ये ट्रिपल म्यूटेशन स्ट्रेन अमेरिका, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर और फिनलैंड में भी पाया गया है। और देश का हेल्थ सिस्टम(health system) जर्जर होता जा रहा है। देश के अधिकांश अस्पतालों(hospital) में चिकित्सा सेवाएं बहाल(resumed) करने की जरूरत है। ऑक्सीजन(oxygen) की कमी तो देश के लगभग सभी अस्पतालों में है। वहीं बैड और दवाओं की भी लगातार कमी हो रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि इससे पहले ये वायरस तबाही मचाये इसे रोकना होगा। देश में सभी लोगों को सतर्क(alert) रहना होगा। इसे भी पढ़ें दर्दनाक : तीन दिन से मृत पड़ी थी कोरोना पाॅजिटिव महिला! शव को खा रहे थे जानवर क्या है वायरस का म्यूटेशन म्यूटेशन (mutation) तब होता है जब वायरस अपना रूप बदलता है और जितना वो म्यूटेट (mutation)होता… Continue reading सावधान! तबाही ना मचा दे covid की Triple mutation strain, यहाँ आ चुकी है भारत में..

सोनिया गांधी का आरोप, मोदी सरकार कर रही विपक्षी राज्यों के ​साथ भेदभाव, कहा 25 से अधिक उम्र वालों को लगे वैक्सीन

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने केंद्र सरकार पर कोरोना वायरस (CoronaVirus) से लड़ाई में विपक्षी शासन वाले राज्यों से भेदभाव करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस कार्य समिति की शनिवार को हुई बैठक में सोनिया गांधी ने केंद्र पर आरोप लगाया कि उसने महामारी के दौरान सिर्फ राजनीति की और स्वास्थ्य की बुनियादी सुविधाओं में विकास के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने 25 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन की सुविधा शुरू करने की भी मांग की। कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में केंद्र पर निशाना साधते हुए सोनिया ने कहा कि संक्रमण की पहली लहर के बाद केंद्र सरकार को एक साल का पूरा समय मिला, लेकिन सरकार ने मेडिकल सुविधाओं को ठीक करने के बजाए सिर्फ राजनीति की। कांग्रेस अध्यक्ष ने विपक्षी पार्टियों के शासन वाले राज्यों के साथ भेदभाव का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों और कांग्रेस के सहयोगी मुख्यमंत्रियों ने कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके विभागीय मंत्रियों को पत्र लिख कर जरूरी सामानों की मांग की है, लेकिन केंद्र सरकार ने चुप्पी साध रखी है। सोनिया ने कहा- कई राज्यों में वैक्सीन नहीं है, वेंटिलेटर नहीं है, ऑक्सीजन नहीं… Continue reading सोनिया गांधी का आरोप, मोदी सरकार कर रही विपक्षी राज्यों के ​साथ भेदभाव, कहा 25 से अधिक उम्र वालों को लगे वैक्सीन

Corona Update Bihar : बिहार सरकार ने बंद कर दी स्कूलें और कॉलेज, हाईलेवल मीटिंग के बाद सीएम ने किया फैसला

पटना | बिहार राज्य सरकार ने कोरोनावायरस (Corona Virus in Bihar) महामारी के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य भर में 11 अप्रैल तक स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को बंद (School College Close in Bihar) कर दिया है। कोविड संक्रमण के बढ़ते मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय मीटिंग की थी। इसके बाद संकट प्रबंधन समूह की बैठक में स्कूल और कॉलेजों को बंद करने का फैसला ले लिया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे किसी भी बड़े जन समूह को इकट्ठा होने की अनुमति न दें। वहीं शादी व जन्मदिन की पार्टियों में आमंत्रितों की संख्या को भी कम करने पर ध्यान दें। मुख्य सचिव व संकट प्रबंधन समूह के प्रमुख अरुण कुमार सिंह को राज्य के हर जिले में रैपिड एंटीजन और आरटी-पीसीआर परीक्षणों को तेज करने का मुख्यमंत्री ने निर्देश भी दिया है। सरकार की ओर से अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि लोग महामारी के प्रसार को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों और बाजार स्थानों पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। ​बिहार में 2.68 लाख मामले अब तक सामने… Continue reading Corona Update Bihar : बिहार सरकार ने बंद कर दी स्कूलें और कॉलेज, हाईलेवल मीटिंग के बाद सीएम ने किया फैसला

अस्पताल में आग, आठ की मौत

अहमदाबाद के एक कोविड समर्पित निजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में आग लगने से गुरुवार को 5 पुरुषों और 3 महिलाओं समेत आठ मरीजों की जान चली गई।

दिल्ली में कोविड की स्थिति ‘खराब, भयावह, दयनीय’: सुप्रीम कोर्ट

उच्चतम न्यायालय ने आज दिल्ली में मेडिकल वाडरें की खराब स्थिति को बताने वाली खबरों को लेकर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई।

और लोड करें