महाराष्ट्र: हिंसा की मामलों के बाद अब अमरावती में लगा कर्फ्यू, बदतर हो रहे हैं हालात…

महाराष्ट्र के अमरावती से लगातार आ रही हिंसा के मामलों के बाद अब कर्फ्यू लगा दिया गया है. बता दें कि शुक्रवार और शनिवार दोनों दिन इलाके में…

Jagannath Puri Rath Yatra 12 जुलाई को, शहर में लगाया जाएगा कर्फयू, छतों से देखने पर पाबंदी

पुरी | Jagannath Puri Rath Yatra : जगन्नाथपुरी की रथयात्रा 12 जुलाई को निकलने वाली है। लेकिन इस पार्वन अवसर पर श्रद्धालुओं को कोरोना महामारी के चलते रथयात्रा में शामिल होने की अनुमति नहीं होगी। ओडिशा सरकार ने साफ कह दिया है कि इस साल वार्षिक रथयात्रा उत्सव श्रद्धालुओं (Devotees banned) की भीड़ के बगैर ही होगा और उन्हें रथ के रास्ते में छतों से भी देखने की अनुमति नहीं होगी और पुरी शहर में कर्फ्यू (Curfew) लगाया जाएगा। ये भी पढ़ें:- Pushkar Singh Dhami होंगे उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री, पूर्व CM तीरथ सिंह रावत ने किया नाम का ऐलान ये भी पढ़ें:- इस्लामिक देशों में बदलाव, जगती उम्मीदें घरों की छतों से देखने पर भी पाबंदी Jagannath Rath Yatra 2021 : पुरी के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने कहा कि, इस साल वार्षिक रथयात्रा उत्सव में श्रद्धालुओं को आने की बिल्कुल भी अनुमति नहीं होगी। यहां तक कि रथयात्रा को घरों एवं होटलों की छतों से देखने पर भी पाबंदी रहेगी। रथयात्रा उत्सव 12 जुलाई को होगा। ऐसे में उत्सव से एक दिन पहले पुरी शहर में कर्फ्यू लगाया जाएगा जो अगले दिन दोपहर तक प्रभावी रहेगा। ये भी पढ़ें:- राजस्थान में कभी कम तो कभी ज्यादा हो रहे Covid 19 Case, 24… Continue reading Jagannath Puri Rath Yatra 12 जुलाई को, शहर में लगाया जाएगा कर्फयू, छतों से देखने पर पाबंदी

Puri Rath Yatra 2021:  इस बार भी बिना भक्तों के नगर भ्रमण के लिए निकलेंगे भगवान जगन्नाथ

भुवनेश्वर |  कोरोना काल में ये दूसरा मौका है जब श्रद्धालुओं के बिना ही रथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है. ओडिशा में 12 जुलाई को निर्धारित वार्षिक रथ यात्रा को लेकर एक माह पहले ही इस बात की घोषणा कर दी है. राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस साल भी श्रद्धालुओं को उत्सव में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं होगी. यह उत्सव कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल के सख्त अनुपालन के बीच केवल पुरी में आयोजित होगा. विशेष राहत आयुक्त (SRC) पी के जेना ने कहा कि पिछले साल उच्चतम न्यायालय की ओर से दायर सभी दिशा-निर्देशों का इस अवसर पर अनुष्ठानों के दौरान अक्षरश: पालन करना होगा. रथ यात्रा के नगर में होगा कर्फ्यू पी के जेना ने कहा कि इस साल भी, भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा पुरी में बिना श्रद्धालुओं के होगी. प्रशासन ने राज्य के अन्य हिस्सों में इस तरह के समारोहों के आयोजन पर प्रतिबंध लगाया है. एसआरसी ने कहा कि केवल चयनित कोविड निगेटिव और टीके की दोनों खुराकें ले चुके सेवकों को ही ‘स्नान पूर्णिमा’ और अन्य कार्यक्रमों में हिस्सा लेने की अनुमति होगी. जेना ने कहा कि रथ यात्रा के दिन इस पवित्र नगर में कर्फ्यू लगाया जाएगा, पिछले वर्ष… Continue reading Puri Rath Yatra 2021: इस बार भी बिना भक्तों के नगर भ्रमण के लिए निकलेंगे भगवान जगन्नाथ

Eid-Ul-Fitr 2021 : महाराष्ट्र में ईद-उल-फितर को लेकर दिशा-निर्देश जारी

मुंबई | महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Corona virus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसकी कड़ी को तोड़ने के लिए सख्त पाबंदियां लगायी गयी हैं। पूरे राज्य में कर्फ्यू (Curfew) लागू है तथा किसी तरह के सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक या सांस्कृतिक समारोह के आयोजन की अनुमति नहीं है। इस साल रमजान का पवित्र महीना 13 अप्रैल से शुरू हुई था। रमजान ईद (Eid) 13 या 14 मई को मनायी जाएगी। एक आधिकारिक बयान में बुधवार को कहा गया कि मौजूदा समय में कोविड-19 की दूसरी लहर और कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 13 अप्रैल, 2021 के आदेश के प्रावधानों के अनुसार विशेष सावधानी के साथ ईद (Eid) का त्योहार मनाये जाने की जरूरत है। इसे भी पढ़ें – Good News: 2 से 18 साल के बच्चों के का होगा क्लीनिकल ट्रायल ,भारत बायोटेक को मिली मंजूरी सरकारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मुसलमानों को ईद-उल-फितर (Eid-ul-Fitr) की नमाज अदा करने, तरावी और इफ्तार के लिए मस्जिदों या सार्वजनिक जगहों पर उपस्थित होने की अनुमति नहीं होगी। इस समाज के लोगों के लिए अपने घरों में धार्मिक उत्सवों को मनाने की सलाह दी जाती है। लोग रमजान के मौके पर… Continue reading Eid-Ul-Fitr 2021 : महाराष्ट्र में ईद-उल-फितर को लेकर दिशा-निर्देश जारी

Corona Update: High Court ने योगी सरकार को लगायी फटकार, कहा- 14 दिन का लगायें पूर्ण लॉकडाउन

Lucknow : यूपी में कोरोना के बेकाबू हालात पर इलाहाबाद हाइकोर्ट ने योगी सरकार को फटकार लगायी है. कोर्ट ने ‘हाथ जोड़ कर’ यह सुझाव दिया कि यूपी के बड़े शहरों में 14 दिन का पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाये. साथ ही कोर्ट ने सवाल किया है कि यूपी पंचायत चुनावों में कोरोना गाइडलाइन्स का पालन क्यों नहीं किया गया? इससे पहले भी इलाहाबाद हाइकोर्ट ने प्रदेश के पांच बड़े शहरों में पूर्ण लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था, जिसे सरकार ने मानने से इनकार कर दिया था. उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के भीतर 29 हजार 824 नये मामले सामने आये हैं. यूपी में कोरोना के बेकाबू हालात की वजह से मेडिकल इमरजेंसी आ गयी है. ऑक्सीजन की कमी, बेड की किल्लत और जरूरी दवाओं के अभाव में बीते कई दिनों से कई मरीजों की जान चली गयी. इसे भी पढें- कौन देगा हिसाब ? पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे 135 शिक्षकों की मौत सुविधाओं की है भारी किल्लत  इलाहाबाद हाइकोर्ट ने बुधवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को जम कर फटकारा. कोर्ट ने कहा कि प्रदेश में स्थिति नियंत्रण से बाहर चली गयी है. डॉक्टरों की कमी है. ऑक्सीजन नहीं है, एल-1, एल-2 हॉस्पिटल नहीं हैं. कागजों… Continue reading Corona Update: High Court ने योगी सरकार को लगायी फटकार, कहा- 14 दिन का लगायें पूर्ण लॉकडाउन

Chennai: उपनगरीय ट्रेन सेवाएं रात 10 बजे के बाद नहीं चलेगी, समय सारणी में बदलाव की घोषणा

चेन्नई | कोरोना के बढ़ते मामलों को देखतेर हुए दक्षिण रेलवे (Southern Railway) ने चेन्नई (Chennai) में उपनगरीय ट्रेनों (Suburban Trains) की समय सारणी में बड़े बदलावों की घोषणा की है, अब रात में चेन्नई निगम द्वारा लगाए गए कर्फ्यू के दौरान रात 10 बजे के बाद कोई ट्रेन संचालित नहीं होगी। पहली ट्रेन (Train) सुबह 4 बजे के बाद शुरू होगी और 86 सह-शहरी सेवाएं रविवार को संचालित की जाएंगी, क्योंकि प्रशासन ने शहर में रविवार को लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की है। दक्षिणी रेलवे (Southern Railway) शासकीय सूचना ने कहा कि नियमित 700 ट्रेनों के बजाय केवल 434 उपनगरीय ट्रेनें सप्ताह के दिनों में चलेंगी। एमएमसी-अरक्कोणमार्ग पर 150 सेवाएं होंगी, एमएमसी-गुम्मिदीपोंडी मार्ग पर 64 सेवाएं, समुद्र तट पर 68 सेवाएं, वेलाचेरी मार्ग और समुद्र तट- तांबरम मार्ग पर 152 सेवाएं होंगी। इसे भी पढ़ें – Coronavirus मामलों में वृद्धि के कारण पुडुचेरी में 23 अप्रैल से 26 अप्रैल तक Lockdown रविवार को एमएमसी-अरक्कोणम मार्ग पर 32 सेवाएं,एमएमसी-सुलुरुपेटापर 24 सेवाएं, समुद्र तट-वेलाचेरी मार्ग पर 12 सेवाएं और समुद्र तट-चेंगलपट्टू मार्ग पर 18 सेवाएं संचालित होंगी। इसे भी पढ़ें – विमानन क्षेत्र पर दिखा Corona का असर, हवाई यात्रियों की संख्या में आई गिरावट

केंद्र सरकार ने Migrant workers की समस्याओं के समाधान के लिए खोले 20 कंट्रोल रूम

नई दिल्ली| देश में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर के कारण कुछ राज्य सरकारों की ओर से कर्फ्यू, लॉकडाउन जैसे कदम उठाने के मद्देनजर प्रवासी मजदूरों (migrant laborers) की समस्याओं को देखते हुए केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय (Union Ministry of Labor and Employment) ने अहम पहल की है। मंत्रालय ने मजदूरों की भुगतान सहित हर तरह की शिकायतों और समस्याओं को दूर करने के लिए देश भर में 20 कंट्रोल रूम (Control Room) खोले हैं। देश भर में चीफ लेबर कमिश्नर की निगरानी में संचालित ये कंट्रोल रूम राज्य सरकारों के साथ समन्वय कर प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को सुलझाने में मदद करेंगे। पिछले साल लाखों मजूदरों की समस्याओं का कंट्रोल रूम (Control Room) के माध्यम से समाधान हुआ था। पीड़ित प्रवासी मजदूर, ईमेल, मोबाइल और वाट्सअप के माध्यम से कंट्रोल रूप में शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। ये कंट्रोल रूम (Control Room) लेबर इंफोर्समेंट अफसर, असिस्टेंट लेबर कमिश्नर, क्षेत्रीय श्रम आयुक्त आदि स्तर के अधिकारी संचालित करेंगे। इसे भी पढ़ें – Motorola ने भारत में लॉन्च किए जी सीरीज के दो नए Smartphone, जानें कीमत और फीचर्स सभी 20 कंट्रोल रूम की निगरानी चीफ लेबर कमिश्नर करेंगे। सभी संबंधित अधिकारियों से पीड़ित कामगारों को अधिकतम संभव सहायता देने का… Continue reading केंद्र सरकार ने Migrant workers की समस्याओं के समाधान के लिए खोले 20 कंट्रोल रूम

 राजस्थान : राज्य के सबसे बड़े कोविड अस्पताल  RUHS से आयी डराने वाली तस्वीरें

Jaipur: कोरोना का कहर देशभर में देखा जा रहा है. कई राज्यों में ने संक्रमण की रफ्तार को कम करने के लिए लॉकडाउन और कर्फ्यू जैसे कदम भी उठाए हैं. अस्पतालों में हो रही बेड की कमी किसी से भी छिपी नहीं है. ऐसे में मरीजों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ताजा मामला   राजस्‍थान से है जहां 3 मई तक के लिए अनुशासन पखवाड़ा’लागू किया गया है. इसके बाद भी कोरोना की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है. राजस्थान के सबसे बड़े अस्पताल में अब बेड के साथ मरीजों को स्थान भी नहीं मिल रहा है.  राजधानी में राज्य का सबसे बड़ा कोविड अस्पताल RUHS पूरी तरह से फूल हो गया है.  इसके बाद भी लगातार मरीज पहुंच रहे हैं. ऐसे में अब अस्पताल प्रबंधन की ओर से मरीजों को बरामदों रखा जा रहा है. बरामदे में बेड रखकर हो रहा है इलाज RUHS में मरीजों के लगातार बढ़ती संख्या से अब अस्पताल प्रबंधन भी परेशान हो गया है.  अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि जल्द ही कोरोना संक्रमण के फैलाव पर अंकुश नहीं लगा तो हालात और ज्यादा खराब हो जाएंगे. हालांकि अस्पताल प्रबंधन  इस बात से इनकार नहीं कर… Continue reading  राजस्थान : राज्य के सबसे बड़े कोविड अस्पताल  RUHS से आयी डराने वाली तस्वीरें

गुजरात सरकार को हाईकोर्ट की फटकार

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में कोरोना वायरस के संक्रमण से हालात बिगड़ते जा रहे हैं। कोरोना की वजह से लोगों को हो रही परेशानी को लेकर गुजरात हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को कड़ी फटकार लगाई और सरकार के कामकाज पर तीखी टिप्पणी की। हाई कोर्ट ने यह भी कहा कि गुजरात के लोगों न अस्पताल में बेड्स मिल रहे हैं और न दवाएं मिल रही हैं, लोगों को लग रहा है कि वे भगवान भरोसे जी रहे हैं। अदालत ने यह भी कहा कि लोगों का भरोसा कम हो गया है। एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने सोमवार को कहा कि प्रदेश और लोग जिस तरह की दिक्कतें झेल रहे हैं, वह सरकार के दावे से बहुत अलग है। चीफ जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस भार्गव करिया की बेंच ने कहा कि लोगों को लगने लगा है कि वे अब भगवान भरोसे हैं। एडवोकेट जनरल कमल त्रिवेदी ने सरकार की ओर से उठाए गए कदमों के बारे में अदालत को बताया। लेकिन अदालत ने ज्यादातर दलीलों को मानने से इनकार कर दिया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई सुनवाई में अदालत ने एडवोकेट जनरल से कहा- आप जो दावा कर रहे हैं,… Continue reading गुजरात सरकार को हाईकोर्ट की फटकार

गुजरात High Court की सलाह के बाद राज्य के 20 शहरों में रात का कर्फ्यू

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ाने के कारण गुजरात में 3-4 दिनों के लिए Lockdown या Curfew लगाने की गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Court) की सलाह के बाद, गुजरात सरकार ने घोषणा कर कहा कि रात के Curfew को 20 अन्य शहरों में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक 30 अप्रैल तक लगाया जाएगा।

Corona के बढ़ते मामलों के कारण फिर से पलायन की तैयारी कर रहे मुंबई के प्रवासी मजदूर

मुंबई। महाराष्ट्र में Corona महामारी एक बार फिर अपने चरम पर है। इस बीच मुंबई और मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) में काम करने वाले हजारों प्रवासियों को एक बार फिर पलायन का डर सताने लगा है, किसी भी समय अपने गृह नगर लौटने की संभावना हो सकती है इसलिए एक बार फिर से मजदूर लोगों ने अपने बैग पैक का मन बना रहे है क्योकि राज्य में Corona के मामले बढ़ते जा रहे है पिछले साल महामारी फैलने के बाद लगाए गए Lockdown के कारण महाराष्ट्र से हजारों प्रवासी मजदूरों को पलायन करना पड़ा था। जब Lockdown खुला और सामान्य स्थिति लौटने लगी तो यह मजदूर भी अपने काम पर लौट आए थे। अब उन्हें काम पर लौटे मुश्किल से छह महीने भी नहीं हुए हैं, मगर उन्हें एक बार फिर पलायन का डर सताने लगा है राज्य में corona virus की दूसरी लहर चल रही है और रोजाना हजारों मामले सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि वह पहले से ही अपना बैग पैक करने लगे हैं। इसे भी पढ़ें – Bihar: कोरोना के बढ़ते मामलों साथ दिहाड़ी मजदूरों की बढ़ी परेशानी, जानें मजदूरों की बातें Maharashtra में रात में Curfew लगाया गया है, जबकि दिन में काम से… Continue reading Corona के बढ़ते मामलों के कारण फिर से पलायन की तैयारी कर रहे मुंबई के प्रवासी मजदूर

विदिशा में रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का निर्णय

मध्यप्रदेश के विदिशा जिले में कोरोना के मामले बढ़ने के कारण रात्रि दस बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है।

फ्रांस में फिर लागू होगा कर्फ्यू

फ्रांस के इमैनुएल मैक्रोन ने कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए शुक्रवार से देश में कर्फ्यू लगाये जाने की घोषणा की है। शहरों में कर्फ्यू रात नौ बजे से सुबह 6 बजे तक लागू होगा।

कश्मीर में 2 दिन के लिए कर्फ्यू लगाया गया

आर्टिकल 370 निरस्त होने की पहली वर्षगांठ (5 अगस्त) से पहले कश्मीर घाटी में सुरक्षा कारणों से दो दिवसीय कर्फ्यू लगाया गया है। सूत्रों ने बताया कि यह फैसला श्रीनगर में

कर्नाटक में 33 घंटे का कर्फ्यू

कर्नाटक में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर एहतियातन 33 घंटे का कर्फ्यू लागू कर दिया गया है।

और लोड करें