बाबा केदारनाथ की नगरी का सफर 400 साल पहले बर्फ में दबे होने से लेकर अब तक …कीजिए हमारे साथ

रूद्रप्रयाग |  उत्तराखंड में स्थित हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मंदिर बारह ज्योतिर्लिंगों में सम्मिलित होने के साथ-साथ पंचकेदार में से भी एक है। यहां के मुश्किल मौसम के कारण यह मंदिर अप्रैल से नवंबर महीने के बीच ही खुला  रहता है। कत्युरी शैली से बने इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण पांडव वंश के राजा जन्मयजन ने कराया था। यहां स्थित स्वयंभू शिवलिंग अतिप्राचीन है। कहा जाता है कि 8वीं शताब्दी में आदिशंकराचार्य ने इस मंदिर का जीणोद्धार किया था। जून 2013 के दौरान भारत के उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के राज्यों में आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण केदारनाथ अत्यधिक प्रभावित रहा। एतिहासिक मंदिर का मुख्य हिस्सा और सदियों पुराना गुंबद सुरक्षित रहा। लेकिन मंदिर का प्रवेश द्वार और आसपास का इलाका पूरी तरह तबाह हो गया। केदारनाथ मंदिर समुंद्र तल से 11,755 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। आइये जानते है किस तरह 400 सालों तक केदारनाथ मंदिर बर्फ में दबा रहा और इसका मंदिर पर क्या असर पड़ा। केदारनाथ मंदिर 400 सालों तक बर्फ में दबा था वैज्ञानिकों के अनुसार केदारनाथ का मंदिर 400  सालों तक बर्फ में दबा रहा। फिर भी इस मंदिर को कुछ भी नहीं… Continue reading बाबा केदारनाथ की नगरी का सफर 400 साल पहले बर्फ में दबे होने से लेकर अब तक …कीजिए हमारे साथ

CM Tirath singh Rawat के नाक के नीचे से अस्पताल प्रबंधन ने छिपाए 65 संक्रमित मौतों के आंकड़ें

Dehradun: देश में कोरोना की दूसरी लहर से अभी भी हालत खराब है. इन हालातों में भी देश के कुछ राज्यों के सीएम की ओर से हास्यपद बयान आए हैं. इनमें सबसे उपर शामिल है उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत का नाम. बता दें कि हाल में ही सीएम तीरथ सिंह ने कोरोना के कहर के बीच एत अजीब बयान दिया था. तीरथ सिंह ने कहा था कि कोरोना का भी घर परिवार है. सीएम के इस बयान के बाद से उनकी काफी फजीहत भी हुई थी. अब उत्तराखंड के हरिद्वार से एक बार फिर बड़ा लापरवाही की खबर सामने आई है. जानकारी के अनुसार हरिद्वार के एक निजी अस्पताल ने कथित तौर पर नियमों का खुला उल्लंघन करते हुए एक पखवाडे़ से भी ज्यादा समय तक स्वास्थ्य अधिकारियों से अपने यहां हुई कोविड मरीजों की मौतों की संख्या छिपाई है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. हरिद्वार के बाबा बर्फानी अस्पताल में 25 अप्रैल से लेकर 12 मई के बीच 65 कोविड मरीजों की मृत्यु हुई लेकिन अस्पताल प्रशासन ने राज्य कोविड नियंत्रण कक्ष से ये आंकडे़ छिपा लिए. अस्पताल प्रबंधन ने बनाए कई बहानें इस संबंध में राज्य कोविड नियंत्रण कक्ष के अधिकारियों ने बताया कि जब अस्पताल… Continue reading CM Tirath singh Rawat के नाक के नीचे से अस्पताल प्रबंधन ने छिपाए 65 संक्रमित मौतों के आंकड़ें

Haridwar Mahakumbh 2021 : महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना से निधन, हरिद्वार में बढ़ें कोरोना संक्रमण के मामले

देहरादून। Haridwar Mahakumbh 2021 : कोरोना महामारी (Covid 19) के दौरान भी हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ (Mahakumbh 2021) में भारी भीड़ का उमड़ना जारी है। इस वजह से कुंभ में कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं हो पा रहा है। ऐसे में महाकुंभ में कई साधु-संतों और श्रद्धालुओं के कोरोना पाॅजिटिव (Corona Positive) मिलने का सिलसिला जारी है। रिपोर्ट के अनुसार, हरिद्वार में 5 दिन में 2167 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। यह भी पढ़ें:- Nizamuddin Markaz : दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, निजामुद्दीन मरकज में 50 लोग पढ़ सकेंगे नमाज कोरोना महामारी (Kumbh 2021) के चलते निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव (Mahamandaleshwar Kapil Dev) का संक्रमण से निधन हो गया। कुंभ के दौरान कोरोना से जान गंवाने वाले महामंडलेश्वर कपिल देव पहले बड़े संत हैं। वह एमपी के चित्रकूट से कुंभ में शामिल होने के लिए हरिद्वार गए थे। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से उनका देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। हॉस्पिटल के अनुसार, बुधवार को उनका निधन हो गया। यह भी पढ़ें:- राजस्थान : राज्यपाल कलराज मिश्र ने लगवाया कोरोना का दूसरा टीका, कहा-सभी लोग निडर होकर टीकाकरण करवाएं उत्तराखंड के कोविड-19 स्टेट कंट्रोल रूम के अनुसार, 10 से 14 अप्रेल के दौरान… Continue reading Haridwar Mahakumbh 2021 : महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना से निधन, हरिद्वार में बढ़ें कोरोना संक्रमण के मामले

भगवान के घर में भेद-भाव कैसा ?

यदि ईश्वर एक है तो सभी मनुष्य उसी एक ईश्वर के बच्चे है। मैं न तो मूर्ति-पूजा करता हूं, न नमाज पढ़ता हूं और न ही बाइबिल की आयतें लेकिन मुझे देश और दुनिया के मंदिरों, मस्जिदों, गिरजों, गुरुद्वारों और साइनेगागों में जाना बहुत अच्छा लगता है।

किसानों की डोईवाला में महापंचायत, नरेश टिकैत होंगे शामिल

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की महापंचायतों का दौर जारी है। इसी क्रम में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत डोईवाला देहरादून की महापंचायत में शामिल होंगे।

राज्यपाल को सरकारी विमान से उतारा!

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को राज्य सरकार के विमान से देहरादून जाने और वहां से एक आधिकारिक समारोह के लिए मसूरी जाने से रोक दिया गया।

सड़क पर पड़े नोट, उठाने को कोई तैयार नहीं

उत्तराखंड के देहरादून में आज सड़क में पड़े पांच सौ रुपए के चार और एक सौ रुपये का एक नोट को देखने के बावजूद किसी राहगीर ने न इसे छुआ और न ही उठाने की हिम्मत जुटाई।

रावत ने साझा किया सदन में विधायकों से अपना फोन नंबर

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को सदन में विधायकों के साथ अपना फोन नम्बर साझा करते हुए कहा कि वह अपना फोन खुद रिसीव करते हैं

कोरोना वायरस : भाजपा सरकार का कार्यक्रम टला

उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार के तीन वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में पूरे राज्य में कार्यक्रमों का आयोजन कोरोना वायरस खतरे के मद्देनजर टाल दिया गया है।

त्रिवेन्द्र ने किया ‘इण्डिया ड्रोन फेस्टिवल-2.0’ का शुभारम्भ

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सूचना प्रौद्योगिकी भवन, आईटी पार्क, देहरादून में बुधवार को इंडिया ड्रोन फेस्टिवल-2.0 का शुभारम्भ किया।

उत्तराखंड में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम शुरू

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को हिम ज्योति स्कूल देहरादून में बच्चों को कृमि मुक्ति की दवा खिला कर राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

उत्तराखंड में गौचर, चिन्यालीसौड़ हैली सेवा प्रारम्भ

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को उड़ान योजना के तहत सहस्त्रधारा (देहरादून) हैलीपैड से चमोली जिले के गौचर एवं उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़

उत्तराखंड में अब डिजीटल जीवन प्रमाण पत्र मिलेगा

उत्तराखंड में अब डिजीटल जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त किया जा सकेगा।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को यहां अपने सरकारी आवास में डिजिटल माध्यम से ई – जीवन प्रमाण पत्र प्रदान करने के

भगत बने उत्तराखंड भाजपा के अध्यक्ष

उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और विधायक वंशीधर भगत को गुरुवार को सर्वसम्मति से पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष चुन लिया गया।

तंगहाली का तकाजा : बेटों की फीस जुटाने को डॉक्टर छापने लगा जाली नोट

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में पुलिस ने जाली नोट छापने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। गिरोह का सरगना आयुर्वेदिक डॉक्टर है।

और लोड करें