Delhi rally

  • मकसद की एकता बनी

    कहा जाता है कि ना से देर भली। इसलिए विपक्ष में बढ़े तालमेल का स्वागत किया जाएगा। इससे इतनी उम्मीद तो जगी ही है कि विपक्ष समर्थक मतदाता एक उद्देश्य बोध के साथ अब गोलबंद होंगे। नई दिल्ली में विपक्षी दलों की हुई बड़ी रैली का संदेश यह रहा कि आखिर इंडिया गठबंधन के अंदर उद्देश्य की एकता बनी है। मकसद का इजहार इस नारे में हुआ- अबकी बार, भाजपा तड़ीपार। कहा जा सकता है कि आम चुनाव से ठीक पहले केंद्र ने विपक्ष को अपंग बना देने के लिए जिस आक्रामक अंदाज में सरकारी तंत्र का इस्तेमाल किया है,...