इस सत्र में भी उपाध्यक्ष का चुनाव नहीं!

संसद का यह सत्र खत्म होगा तो 17वीं लोकसभा बने दो साल हो जाएंगे। अगर इस सत्र में लोकसभा के उपाध्यक्ष का चुनाव नहीं होता है तो इसका मतलब है कि पूरे दो साल निचला सदन बिना उपाध्यक्ष के रहेगा।

लोकसभा में उपाध्यक्ष का पद किसे?

संसद के अगले सत्र में लोकसभा के उपाध्यक्ष का चुनाव हो सकता है। पिछले सत्र में राज्यसभा के उप सभापति का चुनाव हुआ। उसमें सरकार ने निरंतरता बनाए रखी। जदयू के सांसद और निवर्तमान उप सभापति हरिवंश नारायण सिंह को ही फिर से उप सभापति बना दिया गया।

फेसबुक को सुप्रीम कोर्ट से राहत

उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली दंगा मामले में फेसबुक के उपाध्यक्ष अजित मोहन को समन किये जाने को चुनौती देने वाली याचिका पर दिल्ली विधानसभा की ‘शांति एवं सौहार्द’ समिति को आज नोटिस जारी किया

लोकसभा में उपाध्यक्ष की जरूरत नहीं

ऐसा लग रहा है कि केंद्र सरकार लोकसभा में उपाध्यक्ष की जरूरत नहीं समझ रही है। 17वीं लोकसभा के गठन के बाद संसद के तीसरे सत्र की घोषणा हो गई है। 31 जनवरी से बजट सत्र शुरू होगा और एक फरवरी को बजट पेश किया जाना है।

लोकसभा का उपाध्यक्ष कब बनेगा?

सत्रहवीं लोकसभा का दूसरा सत्र चल रहा है। पर अभी तक लोकसभा का उपाध्यक्ष नियुक्त नहीं किया जा सका है। पिछली लोकसभा में अन्ना डीएमके के थंबी दुरैई उपाध्यक्ष थे पर इस बार वे चुनाव हार गए हैं। अन्ना डीएमके को सिर्फ एक सीट मिली है और वह भी पहली बार के सांसद हैं।

मंडावी ने विधानसभा उपाध्यक्ष के पद के लिए किया नामांकन

छत्तीसगढ़ में सत्तारूढ़ कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक मनोज मंडावी ने विधानसभा उपाध्यक्ष के पद के लिए आज नामांकन किया।
विधानसभा के प्रमुख सचिव चन्द्रशेखर

गंगवा चुने गये हरियाणा विधानसभा उपाध्यक्ष

गंगवा को संविधान दिवस के अवसर पर बुलाये गये एक दिवसीय विशेष सत्र के दौरान सर्वसम्मति से हरियाणा विधानसभा का उपाध्यक्ष चुना गया।