क्यों जरूरी है प्रगतिशील सोच

जब भारत में बहस प्रगतिशील मुद्दों पर होती थी, तब इच्छा-मृत्यु का प्रश्न राष्ट्रीय एजेंडे में आया था। तब सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसला भी दिया था। मगर उसके बाद देश की दिशा बदल गई।