कांग्रेस में प्रशांत की बात कौन सुनेगा?

अगर उन्होंने प्रशांत पर भरोसा दिखा दिया इसका मतलब है कि पार्टी के हर नेता को भरोसा दिखाना होगा, नहीं तो पार्टी से बाहर जाना होगा। पश्चिम बंगाल में यही हुआ था, जिन नेताओं को प्रशांत किशोर यानी पीके का तरीका पसंद नहीं आया उनको पार्टी से बाहर होना पड़ा।

पीके ने क्या गुजरात के लिए बात की?

Prashant Kishor Rahul Gandhi : प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात में क्या गुजरात विधानसभा चुनाव के बारे में चर्चा की थी? कांग्रेस के कुछ जानकार नेताओं का कहना है कि 2024 के लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाने और सभी विपक्षी पार्टियों का गठबंधन कराने के बारे में कांग्रेस से… Continue reading पीके ने क्या गुजरात के लिए बात की?