उद्धव ठाकरे ने एक्वा लाइन मेट्रो का उद्घाटन किया

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एवं आवास और शहरी मामलों के राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज नागपुर एक्वा लाइन मेट्रो के पहले खंड को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हरी झंडी दिखाई।

विदेशी एयरलाइंस न ले उड़ें विकास का लाभ : पुरी

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि देश का विमानन क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है तथा इसके साथ ही हमें यह सुनिश्चित करना होगा

ननकाना साहिब गुरुद्वारा की घटना शर्मनाक : पुरी

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पाकिस्तान स्थित श्री ननकाना साहिब गुरुद्वारा में तोड़फोड़ की घटना को शर्मनाक बताते हुए शनिवार को कहा

लागत से भी सस्ते टिकट बेचने से खराब हो रहा बाजार : पुरी

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आने वाले वर्षों में देश के विमानन क्षेत्र में दहाई वृद्धि दर की उम्मीद जताते हुये विमान सेवा कंपनियों को लागत से सस्ते

अनधिकृत कालोनियों में लोगों को मालिकाना हक मिलने पर केजरीवाल को तकलीफ क्यों : पुरी

नई दिल्ली। आवास एवं शहरी विकास मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को दिल्ली सरकार पर अनधिकृत कालोनियों को नियमित करने के नाम पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया। पुरी ने कहा कि अनधिकृत कालोनियों में लोगों को संपत्ति का मालिकाना हक दिये जाने से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को तकलीफ हो रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा वैसे सिसोदिया जी और केजरीवाल जी यह बताएं कि अगर 1731 कॉलोनियों के लोगों को उनके घर का मालिकाना हक़ मिल रहा है और उनके घरों की रजिस्ट्री हो रही है तो उन्हें क्या तकलीफ़ है? शायद यह कि वो अब इस मामले में कोई नया रोड़ा नहीं अटका पाएंगे। इसे भी पढ़ें : आनंदीबेन ने प्रदेशवासियों को दी नववर्ष की बधाई पुरी ने कहा साफ़ दिख रहा है कि दिल्ली के माननीय उपमुख्यमंत्री अनुभव की कमी के कारण कुछ चीज़ें समझ नहीं पा रहे हैं और उन्हीं एक दो शब्दों के जाल में उलझे पड़े हैं जो उन्होंने सुन रखे हैं। उन्होंने कहा कि संपत्ति के पंजीकरण के बारे में डीडीए की वेबसाइट पर नियमों को सरल तरीके से बताया गया है। एक अन्य ट्वीट में पुरी ने कहा जब इन कॉलोनियों… Continue reading अनधिकृत कालोनियों में लोगों को मालिकाना हक मिलने पर केजरीवाल को तकलीफ क्यों : पुरी

एयर इंडिया में सौ फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार एयर इंडिया में सौ फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी। नागरिक विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को लोकसभा में इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नई सरकार बनने के बाद एयर इंडिया स्पेसिफिक ऑल्टरनेटिव मैकेनिज्म, एआईएसएएम को फिर से गठित किया गया था। एआईएसएएम पूरी तरह विनिवेश की मंजूरी दे चुका है। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने पिछले साल एयर इंडिया की 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए बोलियां मंगवाई थीं, लेकिन कोई खरीदार नहीं मिला। इसके बाद ट्रांजेक्शन एडवाइजर अर्नस्ट एंड यंग ने बोली प्रक्रिया विफल रहने के कारणों पर रिपोर्ट तैयार की थी। रिपोर्ट के आधार पर इस बार शर्तों में बदलाव किया गया है। एयर इंडिया लंबे समय से घाटे में चल रही है। 2018-19 में 8,556.35 करोड़ रुपए का घाटा हुआ। एयरलाइन पर 50 हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा का कर्ज है। इसलिए सरकार एयर इंडिया को बेचना चाहती है। मार्च तक बिक्री प्रक्रिया पूरी करने की योजना है।

दिल्ली का विकास रोक रहे हैं केजरीवाल: पुरी

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर राष्ट्रीय राजधानी का विकास कार्य रोकने का आरोप लगाते हुए शनिवार को कहा कि केंद्र ने शहर के लिए 11 हजार बसों के परिचालन को मंजूरी दी लेकिन चार हजार बसें ही चलायी जा रही है।

योगी की कड़ी मेहनत का फल है कानपुर मेट्रो: पुरी

कानपुर। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि कानपुर को मेट्रो ट्रेन दिलाने के लिए उन्होंने बहुत मेहनत करी है। पुरी ने शुक्रवार को कानपुर मेट्रो के शिलान्यास के अवसर पर कहा कि योगी एक इमानदार और कर्मठ मुख्यमंत्री है। उन्होंने औद्योगिक नगरी में मेट्रो के संचालन के लिए केंद्र सरकार पर बेहद दबाव डाला है। योगी की कड़ी मेहनत की वजह से वित्तीय स्वीकृति जल्द मिली है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के अथक प्रयासों से अब 40 लाख की आबादी के लिए मेट्रो जल्द से जल्द धरातल पर आने वाली है और इसका सफर आनंददायक रहेगा। कानपुर में पहले चरण में करीब 735 करोड़ रुपए की लागत से आइआइटी से मोतीझील तक ट्रैक बनेगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ​अक्टूबर 2016 में कानपुर मेट्रो का शिलान्यास तो हो गया लेकिन फाइनेंस और काम का इंतज़ाम नहीं किया गया था। अब किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है और कानपुर की मेट्रो जल्द से जल्द आपकी सेवा में उपस्थित हो जाएगी।

और लोड करें