ईडी ने कुंभ के दौरान नकली कोरोना परीक्षण में किया मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज

ईडी ने कहा कि छापेमारी के दौरान कि अपमानजनक दस्तावेज, फर्जी बिल, लैपटॉप, मोबाइल फोन और संपत्ति के दस्तावेज और 30.9 लाख रुपये नकद जब्त किए हैं।

कावड़ियों से परेशान उत्तराखंड पुलिस, भेष बदलकर आने वाले 26,000 कावड़ियों को भेजा वापस

इसमें पुलिसकाकहना है कि छद्म भेष में कांवड़िए हो सकते हैं। यदि कोरोना की वजह से यात्रा बैन ना होती तो इस साल 25 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू होती और 7 अगस्त तक चलती।

Guru purnima celebration 2021 : ‘सांकेतिक स्नान’ का दावा फेल, गंगा स्नान के लिए टूट पड़े श्रद्धालु

श्रद्धालुओं ने ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का ही ख्याल रखा और ना ही मास्क ही पहने हुए नजर आए. इतना ही नहीं प्रशासन द्वारा पिछले कई दिनों से कहा जा रहा था कि स्नान के लिए कोरोना के नेगेटिव रिपोर्ट कैरी करना जरूरी होगा.

kawad yatra 2021: टैंकरों से गंगाजल भिजवाने को राजी हुआ उत्तराखंड, भेष बदलकर हरिद्वार पहुंचने लगे कावड़िये..

श्रावण मास के पवित्र महीने से शुरु होने वाली कावड़ यात्रा को उत्तराखंड सरकार ने रद्द कर दी है। उत्तराखंड के बाद राजस्थान की गहलोत सरकार ने भी कोवड़ यात्रा पर रोक लगा दी है। ( Kavadis came in disguise ) सुप्रीम कोर्ट के दखल और निर्देशों के बाद उत्तराखंड ने औपचारिक तौर पर ऐलान कर दिया है कि यदि अन्य राज्यों से गंगाजल की मांग होगी तो इसकी भी आपूर्ति की जाएगी। लेकिन टेंकरों की व्यवस्था कैसे होगी इस बात की चिंता के साथ अब उत्तराखंड सरकार के समक्ष एक और समस्या आ खड़ी हुई है कि भेष बदलकर आ रहे कावड़ियों को कैसे रोका जाएं। जब यात्रा चालू रहती थी तब लोग कावड़ियों के रूप में ही आते थे। लेकिन एब देशव्यापी रोक के बाद कावड़िये रूप बदलकर सीमा में प्रवेश कर रहे है। यब सरकार के सामने एक बड़ी चुनौती बनकर आयी है। ऐसे में कावड़ियों की पहचान कर पाना भी मुश्किल है। also read: राजस्थान सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, कावड़ यात्रा पर रोक के साथ धार्मिक आयोजन पर भी पाबंदी मुख्य सचिव के हवाले से एएनआई का ट्वीट उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने ट्वीट में लिखा… Continue reading kawad yatra 2021: टैंकरों से गंगाजल भिजवाने को राजी हुआ उत्तराखंड, भेष बदलकर हरिद्वार पहुंचने लगे कावड़िये..

Rajasthan: डाक विभाग की पहल से अब घर बैठे अपनों का अस्थि विसर्जन, ऑनलाइन देख भी सकेंगे

जोधपुर | कोरोना की दूसरी लहर ने राजस्थान में जमकर उत्पात मचाया है. अकेले जोधपुर शहर में संक्रमण से 1,000 से अधिक मौतें हुई हैं. देखा गया है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के अंतिम संस्कार से लेकर अस्थियों के विसर्जन तक में परिजनों को संक्रमण का डर सता रहा है. परिजनों की परेशानियों को देखते हुए अब जोधपुर के डाक विभाग में एक नई योजना की शुरुआत की है. इस योजना के अनुसार आप डाक विभाग मृतकों के परिजनों को उनके अस्थि विसर्जन को ऑनलाइन दिखाएगा. पुराना संक्रमित व्यक्तियों के अस्थि विसर्जन का पूरा जीवन अब डाक विभाग ने ले दिया है. दिव्य दर्शन संस्था से किया कॉन्ट्रैक्ट इस संबंध में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार जोधपुर शहर में कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों का अस्थि विसर्जन अब तक नहीं हो सका है. इसके मद्देनजर डाक विभाग ने दिव्य दर्शन संस्था से टाइअप किया है. दोनों मिलकर अब अस्थियों के विसर्जन से जुड़े ही कर्मकांड की सारी जिम्मेदारी निभायेंगे. डाक विभाग द्वारा शुरू की गई इस योजना का लाभ लेने के लिए मृतकों के परिजनो को डाक विभाग की स्पीड पोस्ट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. इसके बाद डाक विभाग अस्थियों का पंडितों की उपस्थिति में विसर्जन कराएगा. यहां बता… Continue reading Rajasthan: डाक विभाग की पहल से अब घर बैठे अपनों का अस्थि विसर्जन, ऑनलाइन देख भी सकेंगे

CM Tirath singh Rawat के नाक के नीचे से अस्पताल प्रबंधन ने छिपाए 65 संक्रमित मौतों के आंकड़ें

Dehradun: देश में कोरोना की दूसरी लहर से अभी भी हालत खराब है. इन हालातों में भी देश के कुछ राज्यों के सीएम की ओर से हास्यपद बयान आए हैं. इनमें सबसे उपर शामिल है उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत का नाम. बता दें कि हाल में ही सीएम तीरथ सिंह ने कोरोना के कहर के बीच एत अजीब बयान दिया था. तीरथ सिंह ने कहा था कि कोरोना का भी घर परिवार है. सीएम के इस बयान के बाद से उनकी काफी फजीहत भी हुई थी. अब उत्तराखंड के हरिद्वार से एक बार फिर बड़ा लापरवाही की खबर सामने आई है. जानकारी के अनुसार हरिद्वार के एक निजी अस्पताल ने कथित तौर पर नियमों का खुला उल्लंघन करते हुए एक पखवाडे़ से भी ज्यादा समय तक स्वास्थ्य अधिकारियों से अपने यहां हुई कोविड मरीजों की मौतों की संख्या छिपाई है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. हरिद्वार के बाबा बर्फानी अस्पताल में 25 अप्रैल से लेकर 12 मई के बीच 65 कोविड मरीजों की मृत्यु हुई लेकिन अस्पताल प्रशासन ने राज्य कोविड नियंत्रण कक्ष से ये आंकडे़ छिपा लिए. अस्पताल प्रबंधन ने बनाए कई बहानें इस संबंध में राज्य कोविड नियंत्रण कक्ष के अधिकारियों ने बताया कि जब अस्पताल… Continue reading CM Tirath singh Rawat के नाक के नीचे से अस्पताल प्रबंधन ने छिपाए 65 संक्रमित मौतों के आंकड़ें

कुंभ बना सुपर स्प्रेडर, मध्यप्रदेश के विदिशा में कुंभ से लौटे 83 मे से 60 श्रद्धालु मिले कोरोना संक्रमित

कुंभ खत्म होने के बाद जैसे ही लोग अपने-अपने घरों की और लौटने लगे है। वैसे ही कोरोना का विस्फोट होना शुरु हो गया है। जब कुंभ चल रहा था तब ही कई संत संक्रमित पाये गये थे और कई संतो की मौत भी हो गई थी। ताजा मामला मध्यप्रदेश के विदिशा से आया है। जहां कुंभ से 83 श्रद्धालु लौटे है जिनमें से 60 की रिपॉर्ट पॉज़िटिव आई है। और अन्य 22 का कोई अता-पता नहीं है। ये पूरा मामला विदिशा जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्यारसपुर का है। कुंभ में जो लोगों का सैलाब उमड़ा था वो अब वहां से कोरोना लेकर अपने-अपने राज्य में जा रहे है। कुंभ करवाकर जो गलती की थी उसका भुगतान हम सभी को भुगतना पड़ेगा। इसे भी पढ़ें बड़ी सफलता! उत्तराखंड के कोटद्वार में Fake Remedesivir Injection बनाने की कंपनी का भंडाफोड़, होंगे कई खुलासे कैसे पता चला कुंभ से लौटे कोरोना स्प्रेडर का विदिशा जिला प्रशासन के अनुसार, 83 तीर्थयात्री तीन अलग-अलग बसों में 11 से 15 अप्रैल के बीच हरिद्वार के लिए रवाना हुए थे। एक अधिकारी ने कहा कि ये पहले ग्यारसपुर से मुख्यालय कार में पहुंचे, फिर बस में मुख्यालय से हरिद्वार के लिए रवाना… Continue reading कुंभ बना सुपर स्प्रेडर, मध्यप्रदेश के विदिशा में कुंभ से लौटे 83 मे से 60 श्रद्धालु मिले कोरोना संक्रमित

कोरोना और कुंभ-स्नान

यह प्रसन्नता की बात है कि हरिद्वार में चल रहे कुंभ-मेले को स्थगित किया जा रहा है। यहाँ पहले शाही स्नान पर 35 लाख लोग जुटे थे। 27 अप्रैल तक चलने वाले इस कुंभ में अभी लाखों लोग और भी जुटते याने हजारों-लाखों लोग कोरोना के नए मरीज बनते। यदि यह कुंभ चलता रहता तो कोरोना भारत के गांव-गांव में फैल जाता। गरीब लोगों का मरण हो जाता। दिल्ली, मुंबई, इंदौर और पुणें जैसे शहरों में रोगियों को पलंग, दवाइयाँ और ऑक्सीजन के बंबे नहीं मिल पा रहे हैं तो इन करोड़ों गंगाप्रेमी ग्रामीणों का हाल क्या होता ? भारत भयंकर संकट में फंस जाता। इस नाजुक मौके पर इन अखाड़ों के मुखियाओं ने बहुत साहस दिखाया है। वे पाखंड में नहीं फंसे। कई मूर्ख नेता यह कहते हुए भी पाए गए कि कोरोना हो या कोरोना का बाप हो, गंगा मैया में डुबकी लगाओ कि वह भाग खड़ा होगा।इन अंधविश्वासियों से कोई पूछे कि गंगा में डुबकी लगाने से यदि रोग भागते हों या मोक्ष मिलता हो तो उसमें दिन-रात विहार करनेवाले सारे मगरमच्छ भी क्यों नहीं निर्वाण को प्राप्त होंगे ? गंगाजल यदि मरते हुए आदमी को दिया जाए तो उसे स्वर्ग मिलेगा, ऐसा अंधविश्वास ही हरिद्वार में… Continue reading कोरोना और कुंभ-स्नान

कुंभ 2021 समाप्त : जूना अखाड़े ने की कुंभ समाप्ति की घोषणा, पीएम मोदी ने की थी अवधेशानंद गिरि से बात

नई दिल्ली। भारत में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण और हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले 2021 (Haridwar Maha Kumbh 2021) में कई साधु-संतों के पाॅजिटिव आने और एक महामंडलेश्वर की मौत केे बाद जूना अखाड़े ने शनिवार को हरिद्वार कुंभ की समाप्ति की घोषणा कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कुंभ को समाप्त करने की अपील की थी। जिसके बाद आर्चाय महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने जूना अखाड़ा की तरफ से कुंभ के विधिवत समापन की घोषणा कर दी है। ट्वीट कर दी जानकारी महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने ट्वीट करते हुए कहा कि, भारत की जनता और उसकी जीवन रक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हमने विधिवत कुंभ के आवाहित सभी देवताओं का विसर्जन कर दिया है। जूना अखाड़ा की ओर से यह कुंभ का विधिवत विसर्जन-समापन है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह फोन पर स्वामी अवधेशानंद गिरि से बातचीत कर संतों का हालचाल जाना था। ये भी पढ़ें :- Haridwar Mahakumbh 2021 : महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना से निधन, हरिद्वार में बढ़ें कोरोना संक्रमण के मामले पीएम मोदी ने फोन पर की थी बात आर्चाय महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि से बातचीत के बाद पीएम ने… Continue reading कुंभ 2021 समाप्त : जूना अखाड़े ने की कुंभ समाप्ति की घोषणा, पीएम मोदी ने की थी अवधेशानंद गिरि से बात

खत्म हो सकता है कुंभ! पीएम मोदी ने स्वामी अवधेशानंद गिरी से की बात, साधु-संतों से की ये अपील

नई दिल्ली। हरिद्वार के चल रहे कुंभ मेले 2021 (Haridwar Mahakumbh 2021) को लेकर अब जंग सी छिड़ गई है। ऐसे में अब कुंभ मेले को खत्म किया जा सकता है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने खुद साधु-संतों से अपील की है कि अब कुंभ (Kumbh 2021) को प्रतीकात्मक रखा जाए। पीएम मोदी ने महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी (avadheshanand giri) से भी फोन पर कुंभ को लेकर बातचीत की है। पीएम मोदी की सोशल मीडिया पर दो ट्वीट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दो ट्वीट किए। इसमें उन्होंने कहा, “आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरि जी से आज फोन पर बात की। सभी संतों के स्वास्थ्य का हाल जाना। सभी संतगण प्रशासन को हर प्रकार का सहयोग कर रहे हैं। मैंने इसके लिए संत जगत का आभार व्यक्त किया।” अपने दूसरे ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा, “मैंने प्रार्थना की है कि दो शाही स्नान हो चुके हैं और अब कुंभ को कोरोना के संकट के चलते प्रतीकात्मक ही रखा जाए। इससे इस संकट से लड़ाई को एक ताकत मिलेगी।” ये भी पढ़ें :- Corona Curfew के बीच कोरोना ने तोड़े सारे रिकाॅर्ड, 24 घंटे में 1341 लोगों को बनाया मौत का… Continue reading खत्म हो सकता है कुंभ! पीएम मोदी ने स्वामी अवधेशानंद गिरी से की बात, साधु-संतों से की ये अपील

उतराखंड  : हरि की नगरी में कुंभ नहाने आये 30 श्रद्धालु कोरोना संक्रमित

देश में कोविड-19 का कहर बढ़ता ही जा रहा है. आज देश में कोरोना के सवा दो लाख मामले सामने आये हैं. कोरोना के इस खराब हालत में देश में कई धार्मिक आयोजन हो रहे हैं.  कुंभ में 30 श्रद्धालु कोरोना संक्रमित मिले हैं.  इनमें ऑल इंडिया अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरी भी शामिल हैं. जिन्हें इलाज के लिए एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है. देवभूमि उतराखंड में महाकुंभ चल रहा है जो 1 अप्रेल को आयोजित हुआ था.  जो भयंकर कोरोना स्प्रेडक का कारण बन सकता है. कुंभ मेला अभी दो सप्ताह और चलने वाला है. यह भी पढ़ें Ramadan 2021 : कोरोना के साये के बीच रमजान का पहला जुमा, घरों पर ही इबादत की अपील निरंजनी अखाड़े ने शनिवार को कुंभ से हटने का किया फैसला हरिद्वार के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. एसके झा ने बताया कि अभी तक 30 साधु कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. ये मामले किसी एक विशेष अखाड़ा से सामने नहीं आ रहे हैं। निरंजनी, जूना और अन्य सभी अखाड़ों से ये मामले सामने आ रहे हैं। इसलिए एक निरंजनी अखाड़ा ने कुंभ से शनिवार को हटने के फैसला किया है। गुरुवार की रिपोर्ट में कुंभ मेले के पहले पांच दिन… Continue reading उतराखंड : हरि की नगरी में कुंभ नहाने आये 30 श्रद्धालु कोरोना संक्रमित

Haridwar Mahakumbh 2021 : महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना से निधन, हरिद्वार में बढ़ें कोरोना संक्रमण के मामले

देहरादून। Haridwar Mahakumbh 2021 : कोरोना महामारी (Covid 19) के दौरान भी हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ (Mahakumbh 2021) में भारी भीड़ का उमड़ना जारी है। इस वजह से कुंभ में कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं हो पा रहा है। ऐसे में महाकुंभ में कई साधु-संतों और श्रद्धालुओं के कोरोना पाॅजिटिव (Corona Positive) मिलने का सिलसिला जारी है। रिपोर्ट के अनुसार, हरिद्वार में 5 दिन में 2167 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। यह भी पढ़ें:- Nizamuddin Markaz : दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, निजामुद्दीन मरकज में 50 लोग पढ़ सकेंगे नमाज कोरोना महामारी (Kumbh 2021) के चलते निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव (Mahamandaleshwar Kapil Dev) का संक्रमण से निधन हो गया। कुंभ के दौरान कोरोना से जान गंवाने वाले महामंडलेश्वर कपिल देव पहले बड़े संत हैं। वह एमपी के चित्रकूट से कुंभ में शामिल होने के लिए हरिद्वार गए थे। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद से उनका देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। हॉस्पिटल के अनुसार, बुधवार को उनका निधन हो गया। यह भी पढ़ें:- राजस्थान : राज्यपाल कलराज मिश्र ने लगवाया कोरोना का दूसरा टीका, कहा-सभी लोग निडर होकर टीकाकरण करवाएं उत्तराखंड के कोविड-19 स्टेट कंट्रोल रूम के अनुसार, 10 से 14 अप्रेल के दौरान… Continue reading Haridwar Mahakumbh 2021 : महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना से निधन, हरिद्वार में बढ़ें कोरोना संक्रमण के मामले

Kumbh Mela 2021 : 20 साधु-संत पाए गए पाॅजिटिव, सौ से ज्यादा श्रद्धालु भी आए चपेट में

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus in India) बेकाबू होने बाद अब हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले (Kumbh Mela 2021) में भी कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। कुंभ मेले में महंतों और साधु-संतों पर भी कोरोना की छाया पड़ गई है। कुंभ मेले (Mahakumbh 2021) में अब तक 20 साधु-संत कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 100 से ज्यादा श्रद्धालु भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कुंभ मेले में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि को तबीयत बिगड़ने पर एम्स में भर्ती कराया गया है। इससे पहले शनिवार को श्रीमहंत की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अखाड़े में ही आइसोलेट किया गया था। इधर, पिछले पांच दिनों में निरंजनी अखाड़े के दस संत भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। श्रीमहंत के संपर्क में आए यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी मंगलवार को लखनऊ में अपनी कोविड जांच कराई है। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने अखाड़े के कई संतों के कोरोना सैंपल लिए हैं। ये भी पढ़ें :- Kumbh Special हरिद्वार में हर की पौड़ी का क्यों है महत्व,आइए जानें इसे ब्रह्मकुंड क्यों कहते हैं….. श्रीमहंत गिरि महाकुंभ से जुड़े कार्यों में सक्रिय भूमिका निभा रहे थे। कुंभ… Continue reading Kumbh Mela 2021 : 20 साधु-संत पाए गए पाॅजिटिव, सौ से ज्यादा श्रद्धालु भी आए चपेट में

कोरोना पर आस्था का प्रहार! Somvati Amavasya 2021 पर कुंभ के दूसरे शाही स्नान में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच आज सोमवती अमावस्या (Somvati Amavasya 2021) के दिन हरिद्वार महाकुंभ (Mahakumbh 2021) में दूसरा शाही स्नान हो रहा है। हालांकि कोरोना की वजह से कुंभ स्थल पर कई तरह की पाबंदियां लगाई गईं हैं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। लेकिन शाही स्नान (Shahi Snan) में लोगों का उत्साह देखने को मिल रहा है। इस शाही स्नान में सबसे पहले तमाम अखाड़ों के साधु-संतों ने आस्था की डुबकी लगाई। अखाड़ों के बाद आम श्रद्धालुओं ने शाही स्नान किया। कोरोना के चलते इस बार आम लोगों के स्नान की अलग व्यवस्था की गई है। हरिद्वार में हर की पौड़ी पर सबसे पहले खास मुहूर्त में विभिन्न अखाड़ों के साधु-संत स्नान करते हैं फिर इसके बाद श्रद्धालुओं को स्नान करने दिया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अमावस्या या सोमवती अमावस्या के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से भगवान विष्णु की कृपा सदैव बनी रहती है। अमावस्या तिथि पर चंद्रमा की विधिवत पूजा करने से चंद्रदेव का आशीर्वाद मिलता है और जीवन में सुख समृद्धि आती है। ये भी पढ़ें :- UP Panchayat Election: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित होकर यह महिला लड़ रही पंचायत चुनाव स्नान करने से मिलती… Continue reading कोरोना पर आस्था का प्रहार! Somvati Amavasya 2021 पर कुंभ के दूसरे शाही स्नान में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर कुंभ के शाही स्नानों में ज्यादा भीड़ आने की संभावना नहीं -अधिकारी

कोविड-19 के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है. दूसरी ओर देवभूमि उतराखंड के हरिद्वार में कुंभ का मेला चल रहा है. अधिकारियों का कहना है कि कुंभ में होने वाले मुख्य स्नान में ज्यादा भीड़ होने की उम्मीद नहीं की जा रही है. कुंभ में इस बार तीन शाही स्नानों का आयोजन किया जाएगा. ये शाही स्नान 12,14 और 27 अप्रैल को आयोजित होंगे.  अधिकारियों ने उम्मीद जताई है कि अब तक के मेले को देखकर नहीं लगता है कि शाही स्नान के दिन ज्यादा लोग पहुंचेंगे.  हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएं कर ली गयी हैं. अगर ज्यादा भीड़ आ भी गई तो सभी व्यवस्थाएं पर्याप्त रूप से उपलब्ध है. इसे भी पढ़ें Corona Update : मध्यप्रदेश के सभी शहरों में लगाया Weekend Lockdown, जानें क्या हैं नियम 670 हेक्टेयर में लगा है कुंभ का मेला हरिद्वार से लेकर देवप्रयाग तक 670 हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में कुंभ का मेला लगा हुआ है. इस पर नज़र रखने के लिए चप्पे-चप्पे पर 12000 पुलिस और 400 अर्धसैनिक बल तैनात हैं, जो कानून और व्यवस्था के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करवाएंगे. महाकुंभ मेले के पुलिस महानिरीक्षक संजय… Continue reading कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर कुंभ के शाही स्नानों में ज्यादा भीड़ आने की संभावना नहीं -अधिकारी

और लोड करें