• डाउनलोड ऐप
Thursday, May 6, 2021
No menu items!
spot_img

Hinduism

नरेंद्र कोहली और संघ परिवार

छः वर्ष पहले नरेंद्र कोहली के 75वें जन्म-दिन पर दिल्ली में एक सुंदर कार्यक्रम हुआ  था। आयोजन हिन्द पॉकेट बुक्स और वाणी प्रकाशन द्वारा संयुक्त था। दोनों बड़े प्रकाशक हैं, इसलिए यह मूलतः हिन्दी पाठकों द्वारा दिया गया सम्मान...

CHARDHAM YATRA POSTPOND : कोरोना ने चारधाम यात्रा पर निर्भर व्यापारियो की फिर तोड़ी कमर… सीएम रावत ने निलंबित की चारधाम यात्रा

हिन्दु धर्म के आस्था का प्रतीक है चारधाम यात्रा। चारधाम की यात्रा उतराखंड में स्थित है-केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री।  हर वर्ष चारधाम की यात्रा में हजारों-लाखों श्रद्धालु अपने भगवान के दर्शन को जाते है। लेकिन इस वर्ष जो...

स्वास्तिक: हमारा या हिटलर का ?

अमेरिका के मेरीलेंड नामक प्रांत की विधानसभा में एक ऐसा विधेयक लाया गया है, जो भारतीय लोगों के लिए बड़ी मुसीबत पैदा कर सकता है। वह विधेयक यदि कानून बन गया तो बाइडन और मोदी प्रशासनों के बीच भी...

क्या आर.एस.एस. हिन्दू धर्म से दूर हो रहा है?

स्वामी विवेकानन्द ने कहा था कि धर्म के बारे में अंतिम बात कही जा चुकी है। सभी अन्य मनीषियों ने भी धर्म को केवल विभिन्न रूपों में समझाने का ही कार्य किया। किसी ने उसे सुधारने या बदलने की आवश्यकता नहीं बताई।

संस्कारों का ट्रांसफॉरमेशन है श्राद्ध, जिसमें पुरखों से परिचित होती है नई पीढ़ी

श्रद्धा के साथ पितरों के लिए किया गया तर्पण अर्पण और पूजन श्राद्ध कहलाता है। हिंदू धर्म में इसका बड़ा महत्व है। पितरों को देवी देवताओं के समान माना गया है और इनके प्रति आदर

बुद्धि नहीं सुधारेंगे तो नहीं बनेंगे!

मैं भारत और हिंदू पर विचारते हुए थका हूं! पर थकावट क्योंकि हर रोज देश-दुनिया की घटनाओं पर गौर करते हुए दिमाग की भन्नाहट में बदलती है तो सोचना-लिखना भला कैसे बंद हो!
- Advertisement -spot_img

Latest News

Corona : संक्रमण काल में अपनों से दूर हुए रिश्तेदार, अनजान चेहरे बने मददगार

पटना | कोरोना के इस संक्रमण काल में संक्रमित परिवारों के लिए खून के रिश्ते जहां लाचार हो रहे...
- Advertisement -spot_img