भारतीय वायुसेना के विमान के काबुल से उड़ान भरते ही भारतीय दूतावास के सभी कर्मचारी सुरक्षित

भारतीय वायु सेना के एक विमान ने मंगलवार सुबह काबुल के हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से दूतावास के कर्मचारियों और अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेजों को लेकर उड़ान भरी।

Afghanistan में तालिबानियों का कोहराम! रिपोर्ट के मुताबिक अफगान सरकार ने मांगी Indian Air Force की मदद

नई दिल्ली | अफगानिस्तान में तालिबान आतंकियों (Taliban Terrorist) ने कोहराम मचा दिया है। जिसके बाद अफगान सरकार तालिबान के खिलाफ असहाय होती दिख रही है। ऐसे में अफगानिस्तान ने भारत से मदद मांगी है। अफगान सरकार ने तालिबानियों के खात्मे के लिए भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) की मदद की गुहार लगाई है। मंगलवार को तालिबान ने अफगानिस्तान के 6 प्रांतों की राजधानियों पर अपना कब्जा जमा लिया (Taliban possession in Afghanistan ) है। जिसके बाद इन प्रांतों में तालिबानियों ने जमकर कोहराम मचाया है। तालिबानियों के कब्जे के बाद हजारों की संख्या में स्थानीय लोगों को घर छोड़कर भागना पड़ा है। ये भी पढ़ें :- लोकसभा से पास ओबीसी सूची बिल, राज्य ओबीसी की सूची में फेरबदल कर सकेंगे भारतीय वायुसेना करे अफगान सेना की मदद Afghanistan में लगातार बिगड़ते हालातों को देखते हुए द प्रिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान की अशरफ गनी सरकार भारतीय वायुसेना की मदद चाहती है। सरकार चाहती है कि भारतीय वायुसेना अफगान एयरफोर्स की सहायता करे। गौरतलब है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी फौजों के जाने के बाद से तालिबान ने खुली हिंसा को बढ़ावा दे दिया है और अफगान में खुद की हुकूमत चलाने के लिए कई प्रांतों पर कब्जा कर लिया… Continue reading Afghanistan में तालिबानियों का कोहराम! रिपोर्ट के मुताबिक अफगान सरकार ने मांगी Indian Air Force की मदद

Cyclone Yaas Update: तूफान यास को हल्के में न लें, NDRF के डीजी ने यह कहा

नई दिल्ली | चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas in India) अगले दो दिन में भीषण रूप ले सकता है। मौसम विभाग (IMD) ने चेतावनी दी है कि इसे हलके में नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि यह एक भीषण तूफान में बदल सकता है और बड़ी तबाही मचा सकता है। बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) से उठा यह चक्रवाती तूफान यास पश्चिम बंगाल और ओड़िशा की तरफ आगे बढ़ रहा है। 26 मई की शाम तक इसके उत्तरी ओड़िशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड से टकराने की संभावना है। मौसम विभाग ने यास को बहुत गंभीर चक्रवात की श्रेणी में शामिल किया है। इसका असर पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, और अंडमान निकोबार द्वीप समूह जैसे राज्यों में दिख सकता है। इस बीच पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम शुरू हो गया है। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, एनडीआरएफ की 85 टीमें पांच राज्यों में तैनात की हैं। तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान पश्चिम बंगाल और ओडिशा में हो सकता है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक इन राज्यों में 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं… Continue reading Cyclone Yaas Update: तूफान यास को हल्के में न लें, NDRF के डीजी ने यह कहा

Cyclone Yaas Update: भीषण हुआ चक्रवाती तूफान ‘यास’, राहत के लिए वायुसेना, NDRF तैयार, रेलवे ने रद्द की 25 ट्रेनें

नई दिल्ली। Cyclone Yaas Update: अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ‘ताउते’ के अभी बर्बादी के निशान अभी मिटे भी नहीं है कि अब चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Yaas) कोहराम मचाने के लिए तैयार है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र अब दबाव वाले क्षेत्र में बदल चुका है और बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में 26 मई को पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा तटों को पार करेगा. मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान यास के दौरान दोनों राज्यों में हवा 155 से 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की संभावना है. ये भी पढ़ें:- Cyclone Yaas Updates: देश के पूर्वी हिस्से में तूफान यास का खतरा राहत के लिए भारतीय वायुसेना तैयार चक्रवाती तूफान ‘यास’ की भयानकता को देखते हुए भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने पूरी तैयारी कर ली है. भारतीय वायुसेना ने किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए 11 परिवहन विमान और 25 हेलीकॉप्टर तैयार रखे हैं. वहीं पूर्वी रेलवे ने तूफान को देखते हुए आज 24 मई से 29 मई के बीच चलने वाली 25 ट्रेनों को रद्द कर दिया है. तूफान यास के खतरे को देखते हुए ओडिशा और पश्चिम बंगाल दोनों ही राज्यों में सुरक्षा… Continue reading Cyclone Yaas Update: भीषण हुआ चक्रवाती तूफान ‘यास’, राहत के लिए वायुसेना, NDRF तैयार, रेलवे ने रद्द की 25 ट्रेनें

Corona Initiate: ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए अब वायु सेना ने संभाला मोर्चा

New Delhi: देश में कोरोना के साथ ही ऑक्सीजन की कमी की परेशानी सामने आई है. कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से लोगों ने दम तोड़ दिए हैं. मामले को गंभीरता से लेते हुए ऑक्सीजन संकट के बीच अब भारतीय वायु सेना ने मोर्चा संभाल लिया है.  जानकारी के अनुसार वायुसेना के विमान अब देश के अलग-अलग हिस्सों में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम कर रहे हैं.  माना जा रहा है कि ऑक्सीजन की किल्लत को अब वायु सेना जल्द ही दूर कर लेगी.  इस काम के लिए वायु सेना के c-17 और il-76 विमानों को काम पर लगाया गया है. बड़े स्टेशन पर ऑक्सीजन टैंकरों को किया जा रहा है एयरलिफ्ट कोरोना की किल्लत को देखते हुए भारत सरकार ने वायु सेना से मदद मांगी है.  इसके लिए अब देश के कई बड़े स्टेशनों पर ऑक्सीजन टैंकरों को एयरलिफ्ट करने का काम शुरू कर दिया गया है. माना जा रहा है कि इससे देश में आई ऑक्सीजन की संकट से उबरा  जा सकेगा. हालांकि इस संबंध में अभी तक केंद्र सरकार की ओर से कोई जानकारी नहीं दी गई है.  लेकिन ऑक्सीजन टैंकरों के एयरलिफ्ट होने की खबरें  से वायरल हो रही है. इसे भी पढें- Corona Update: कई देशों… Continue reading Corona Initiate: ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए अब वायु सेना ने संभाला मोर्चा

आज फ्रांस से भारत आएंगे 3 और राफेल विमान, देखते रह जाएंगे चीन और पाकिस्तान

भारत सरकार ( govt og india )  पड़ोसी देशों के साथ तनाव के बीच देश की सेना को ताकतवर बनाने में जुटी है. इसी क्रम में आज शाम फ्रांस से 3 और राफेल फाइटर जेट (Rafale fighter jet )  भारत पहुचेगा. ये तीनों विमान अंबाला एयरबेस पर लैंड करेंगी. इन 3 राफेल फाइट्स के साथ भारतीय वायुसेना (Indian airforce)  की ताकत और बढ़ जाएगी. कहा जा रहा है कि  इसमें लगे हथियारों की काट पाकिस्तान और चीन के पास भी नहीं है. पाकिस्तान के पास अमेरिका से खरीदा हुआ F-16 फाइटर जेट है और चीन के पास अपना बनाया हुआ जे-20 लड़ाकू विमान है. UAE (UAE) के आसमान में ही तीनों विमानों में उड़ान के दौरान ही ईंधन (एयर टू एयर रिफ्यूलिंग) भरा जाएगा. फांसीसी और भारतीय राजनायिक की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार भारतीय वायुसेना की एक टीम तीनों राफेल को लाने के लिए पहले ही अंबाला से फ्रांस ले गई थी.  तीनों राफेलों  विमान ने बॉरडॉक्स में मेरिग्नाक एयरबेस से 31 मार्च की सुबह सात बजे उड़ान भरी थी और शाम को करीब 7 बजे तक भारत के अंबाला एयरबेस पहुंचेंगे.  इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार 9 विमानों का अगला जत्था अप्रैल में भारत आएगा.… Continue reading आज फ्रांस से भारत आएंगे 3 और राफेल विमान, देखते रह जाएंगे चीन और पाकिस्तान

सभी राफेल विमान अप्रैल 2022 तक वायु सेना में होंगे शामिल : राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को राज्यसभा में कहा कि सभी स्वीकृत राफेल लड़ाकू विमान अप्रैल 2022 तक भारतीय वायु सेना में शामिल कर लिए जाएंगे। इस साल के मार्च तक 7 और राफेल

राफेल लड़ाकू विमान उड़ाएगी महिला पायलट

चीन के साथ सीमा पर चल रहे विवाद के बीच सेना को लेकर दो बड़ी खबरें आई हैं। भारत ने पहली बार नौसेना में दो महिलाओं को वारशिप पर तैनात किया गया है

वायु सेना में शामिल हुआ राफेल विमान

लड़ाकू विमान राफेल को आज भारतीय वायुसेना के बेड़े में औपचारिक रुप से शामिल कर लिया गया। उन्होंने कहा कि राफेल का वायु सेना के बेड़े में शामिल होना उन देशों को कड़ा संदेश है जो भारत की संप्रभुता पर नजर लगाए बैठे हैं।

राफेल के समारोह में हिस्सा लेंगी फ्रांस की रक्षा मंत्री

राफेल लड़ाकू विमान को भारतीय वायु सेना में शामिल करने के लिए होने वाले समारोह में फ्रांस की रक्षा मंत्री भी हिस्सा लेंगी। अंबाला में होने वाले इस समारोह में हिस्सा लेने के लिए फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली 10 सितंबर को भारत पहुंचेंगी।

राफेल दस सितंबर को वायु सेना में शामिल होंगे

आखिरकार फ्रांस से खरीदे गए राफेल लड़ाकू विमानों के वायु सेना में शामिल होने का समय आ गया।

कांग्रेस ने राफेल मिलने पर वायु सेना को दी बधाई

कांग्रेस ने पांच राफेल लड़ाकू विमानों के भारत पहुंचने पर खुशी जाहिर करते हुए इसके लिए भारतीय वायु सेना को बधाई दी और कहा कि कांग्रेस सरकार ने आठ साल पहले जो पौधा रोपा था वह अब फल देने लगा है।

किसी भी विपरीत स्थिति के लिए वायुसेना रहे हर क्षण तैयार: राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख में भारत एवं चीनी सेनाओं के बीच तनाव एवं तैनाती कम करने के प्रयासों की आज सराहना की और साथ ही भारतीय वायुसेना

भारत-चीन गतिरोध के बीच वायुसेना को मिलेगी राफेल की ताकत

भारतीय वायुसेना(आईएएफ) के बेड़े में जुलाई के अंत तक 36 राफेल लड़ाकू विमानो में से कम से कम पांच विमान शामिल हो जाएंगे, जिससे देश की वायु शक्ति में जरूरी ताकत का इजाफा होगा।

भारतीय वायुसेना हाई अलर्ट पर

भारतीय वायुसेना को उत्तरी और पश्चिमी सीमाओं पर हाई अलर्ट पर रखा गया है और एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया तैयारियों का निरीक्षण करने के लिए स्वयं लेह और श्रीनगर में अग्रिम स्थानों पर स्थित वायुसेना अड्डों का दौरा कर रहे हैं।

और लोड करें