Kanhaiya Kumar

  • कन्हैया को मिली है मुश्किल सीट

    राजधानी दिल्ली में अभी तक मुकाबला बहुत दिलचस्प नहीं दिख रहा था क्योंकि आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों की हवा नहीं बन रही थी। ऐसा लग रहा था कि भाजपा अपना गढ़ बचा लेगी और सभी सीटें जीतने की हैट्रिक लगाएगी। लेकिन कांग्रेस के तीन उम्मीदवार आते ही माहौल बदल गया है। कांग्रेस ने गठबंधन की ओर से कन्हैया कुमार को उत्तर पूर्वी दिल्ली सीट से उम्मीदवार बनाया है। अगर पिछले लोकसभा चुनाव के आंकड़े देखें तो उस हिसाब से यह गठबंधन की सबसे मुश्किल सीट है। पिछली बार इस सीट से कांग्रेस की टिकट पर शीला दीक्षित चुनाव लड़ी...

  • दिल्ली में कन्हैया कांग्रेस के लिए कारगर होंगे!

    कन्हैया कुमार को लेकर कांग्रेस में बड़ी योजना बन रही है। बताया जा रहा है कि उनको दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जा सकता है या यूथ कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जा सकता है। यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास की उम्र 42 साल हो गई है और अध्यक्ष के नाते वे करीब चार साल से काम कर रहे हैं। इसलिए उनकी जगह नया अध्यक्ष बनना है। श्रीनिवास को मल्लिकार्जुन खड़गे की केंद्रीय टीम में जगह मिल सकती है। वे जितने सक्रिय हैं और उनकी जैसी लोकप्रियता है उसे देखते हुए उनको किसी राज्य का प्रभारी महासचिव बनाया...

  • राहुल से काम लें तो जयराम व कन्हैया एंड पार्टी पर अंकुश बनाएं!

    रायपुर अधिवेशन के साथ मल्लिकार्जुन खड़गे कांग्रेस के रियल मालिक हैं। नेहरू-गांधी परिवार का अर्थ अपनी जगह है लेकिन बतौर पार्टी अध्यक्ष के खड़गे को चलाने का मिजाज सोनिया-राहुल-प्रियंका में किसी का नहीं है। खड़गे खुद ही यदि बात-बात पर गांधी परिवार से सलाह करके अपनी अध्यक्षता को लल्लू बनाएं तो बात अलग है अन्यथा मेरा मानना है कि खड़गे में दम है और उनकी अपनी अथॉरिटी भाजपा के जेपी नड्डा से कई गुना अधिक है। मगर जनमानस और बाकी पार्टियों में गांधी परिवार को लेकर क्योंकि धारणाएं हैं तो उनके लिए यह चुनौती है कि वे सन् 2024 के...