• डाउनलोड ऐप
Monday, May 10, 2021
No menu items!
spot_img

NRC

भारत खिलाफ प्रचार और हथियार

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर चरम पर पहुंच चुका है। कांग्रेस, तृणमूल सहित कई स्वघोषित सेकुलरिस्ट अपने प्रचार में पुन: "लोकतंत्र-संविधान खतरे में है" जैसे जुमलों का उपयोग करके सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी...

शाहीन बाग के फैसले पर पुनर्विचार नहीं

नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में हुए प्रदर्शन को लेकर दिए गए फैसले पर सुप्रीम कोर्ट फिर से विचार नहीं करेगा।

न एनआरसी मुद्दा और न सीएए!

पिछले साल के अंत में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने संशोधित नागरिकता कानून यानी सीएए और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर यानी एनआरसी का मुद्दा नहीं उठाया तो माना गया कि नीतीश कुमार के साथ एलायंस की वजह से पार्टी चुप रही है।

बंगाल चुनाव से पहले सीएए के नियम!

भारत सरकार ने अभी तक संशोधित नागरिकता कानून के नियम नहीं बनाए हैं। यह कानून पास हुए एक साल हो गए। कानून पास होने के बाद पूरे देश में ऐतिहासिक आंदोलन हुआ था।

मानवाधिकारों के पक्ष में

गुवाहाटी हाई कोर्ट ने पिछले दिनों मानवाधिकारों के पक्ष में एक अहम फैसला दिया। ये निर्णय असम में विदेशियों के लिए जेलों में बने डिटेंशन सेंटर के मुद्दे पर आया। जाहिर है, हाई कोर्ट का फैसला राज्य सरकार के लिए एक तगड़ा झटका है।

शाहीन बागः रास्ता रोक पर रोक

सर्वोच्च न्यायालय ने एक ऐसा फैसला दे दिया है, जिसके कारण सभी प्रदर्शनकारियों और धरनाधारियों को अब ज़रा सम्हलकर रहना होगा। शाहीन बाग में कई हफ्तों तक पड़ौसी देशों के शरणार्थियों के बारे में बने कानून के विरुद्ध धरना चलता रहा।

सार्वजनिक जगहों पर प्रदर्शन इजाजत नहीं

संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में हुए धरने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर मुकदमे की सुनवाई पूरी हो गई है और अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। इस मामले में प्रदर्शन करने के अधिकार को लेकर सुनवाई हुई है।

सीएए विरोधी अब भाजपा में

यह कमाल की राजनीति हो रही है। कुछ समय पहले देश भर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर आंदोलन चल रहे थे। विरोध-प्रदर्शन हो रहा था और सीएए व एनआरसी के विरोध का आंदोलन आधुनिक समय का सबसे बड़ा आंदोलन बन गया था।

लखनऊ में सीएए-एनआरसी का प्रदर्शन स्थगित

उत्तर प्रदेश की राजधानी में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ चल रहे धरना प्रदर्शन को कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप

शाहीन बाग में आपस में भिड़े दो गुट

दिल्ली के शाहीन बाग धरनास्थल के पास रविवार सुबह एक अज्ञात व्यक्ति ने पेट्रोल बम फेंक दिया। पुलिस ने यह जानकारी दी।
- Advertisement -spot_img

Latest News

Rajasthan COVID-19 Update : भयावह होती जा रही मौतों की संख्या, बीते 24 घंटे में 159 लोगों ने तोड़ा दम, 17921 नए संक्रमित आए...

जयपुर। Rajasthan COVID-19 Update : राजस्थान में कोरोना संक्रमण ( Rajasthan COVID-19 ) से बेकाबू हुए हालात अब भी...
- Advertisement -spot_img