private charter service

  • डीजीसीए हाईफाई निजी चार्टर सेवा में भी लापरवाह!

    एआर एयरवेज़ नाम की एक निजी एयर चार्टर कंपनी का मामला गंभीर है। कंपनी के मालिक अशोक चतुर्वेदी नियमों की धज्जियाँ उड़ा कर, गृह मंत्रालय द्वारा ‘सिक्योरिटी क्लीयरेंस’ (सुरक्षा मंजूरी) की बुनियादी आवश्यकताओं का उल्लंघन करके एयरलाइन चला रहे हैं।...राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने और अति विशिष्ट यात्रियों के जीवन से खिलवाड़ करने का एक स्पष्ट मामला है। पिछले सप्ताह मैंने देश के नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) की लापरवाही का एक उदाहरण दिया था जिसमें डीजीसीए एक निजी एयरलाइन की ग़लतियों को अनदेखा कर रही थी। देर से ही सही पर डीजीसीए जागी ज़रूर। मालूम हुआ है कि देश के...