झारखंड से रघुवर को मिलेगी राज्यसभा!

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास को भाजपा राज्यसभा में ला सकती है। झारखंड में राज्यसभा की दो सीटें खाली हो रही हैं। कांग्रेस के समर्थन से सांसद बने राजद नेता प्रेमचंद्र गुप्ता और भाजपा के समर्थन से निर्दलीय जीते कारोबारी परिमल नाथवानी इस साल रिटायर हो रहे हैं।

न रघुवर जीते और न हेमंत हारे!

झारखंड में इस बार नरेंद्र मोदी का जादू नहीं चला। छह महीने पहले लोकसभा चुनाव में इसी झारखंड में नरेंद्र मोदी के नाम 14 में से 12 सीटें मिलीं। पर छह महीने बाद विधानसभा के चुनाव में मोदी अपने मुख्यमंत्री को भी चुनाव नहीं जिता पाए।

मुख्यमंत्रियों के हारने का सिलसिला जारी

झारखंड में मुख्यमंत्री चुनाव हारते रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्रियों के भी चुनाव हारने का सिलसिला रहा है। वह सिलसिला इस बार भी नहीं टूटा। इस बार मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी पारंपरिक जमशेदपुर पूर्वी सीट पर भारी अंतर से चुनाव हार गए।

काले का श्राप व अहंकार को थप्पड़!

अमरप्रीत सिंह काले को सलाम! कौन है सरदार काले? क्यों उसकी वाह मेरी कलम से? इसलिए कि मैंने काले से कहा था कि यदि तुम जैसे कह रहे हो वैसे रघुवर दास जमशेदपुर से सचमुच हारे तो मैं लिखूंगा कि चींटी ही बहुत है अहंकार तोड़ने के लिए! हां, झारखंड का फैसला कांग्रेस-जेएमएम की जीत… Continue reading काले का श्राप व अहंकार को थप्पड़!

झारखंड में बागी सरयू राय मुख्यमंत्री दास को हराने की ओर

भाजपा के बागी नेता और झारखंड के पूर्व मंत्री सरयू रॉय करीब 10,000 से ज्यादा वोटों से झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास से जमशेदपुर पूर्वी सीट से आगे चल रहे हैं।

रघुवर के पिछड़ने के प्रचार से भाजपा बैकफुट पर

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी संघर्ष कर रही है। हर चरण के मतदान के बाद भाजपा की स्थिति बिगड़ने की खबरें आ रही हैं। पहले चरण के मतदान के बाद जेएमएम-कांग्रेस और राजद गठबंधन और भाजपा दोनों ने जीत का दावा किया।

दिसंबर में पसीने पसीने भाजपा!

आमतौर पर झारखंड में मौसम बहुत सर्द नहीं होता है पर इतना गर्म भी नही होता कि दिसंबर में पसीने छूटें। पर इस बार प्रकृति ने दिसंबर में झारखंड में लोगों के पसीने छुड़ा रखे हैं। ऊपर से चुनाव की सरगर्मी अलग से, जिसमें सबसे ज्यादा भाजपा के पसीने छूट रहे हैं।

रघुवर दास के साथ बड़ी समस्या

महाराष्ट्र और हरियाणा के बाद अब झारखंड में भाजपा के मुख्यमंत्री रघुवर दास बड़े संकट से घिरे हैं। ध्यान रहे 2014 में इन तीनों राज्यों में भाजपा बिना किसी का चेहरा प्रोजेक्ट किए चुनाव लड़ी थी और जीतने के बाद तीनों राज्यों में सबसे मजबूत जातियों को छोड़ कर दूसरी जातियों से मुख्यमंत्री बनाए गए थे।

मुख्यमंत्री को बदलना चाहते हैं झारखंड के मतदाता : सर्वेक्षण

झारखंड विधानसभा चुनाव में अधिकतर मतदाताओं के बीच मुख्यमंत्री से नाखुशी एक मुद्दा है। आईएएनएस और सी-वोटर झारखंड जनमत सर्वेक्षण में यह खुलासा हुआ है। झारखंड में 30 नवंबर से 20 दिसंबर के बीच पांच चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं।

झारंखड में क्या सरयू राय होंगे विपक्ष का चेहरा?

झारंखड में विपक्षी पार्टियों ने मुख्यमंत्री रघुबर दास के खिलाफ लड़ रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बागी नेता सरयू राय को अपना नैतिक समर्थन दिया है

झारखंड : भाजपा के रघुबर, राय ने एक-दूसरे के खिलाफ नामांकन

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बागी नेता सरयू राय ने सोमवार को जमशेदपुर पूर्व से एक-दूसरे के खिलाफ नामांकन पत्र दाखिल किया।

रघुवर की मर्जी से टिकट बंटवारा

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी की टिकटों को लेकर घमासान मचा है। पार्टी की पहली सूची में दस मौजूदा विधायकों की टिकट कट गई है। कई मंत्रियों और बड़े नेताओं की टिकट अटकी है।

झारखंड में भड़के भाजपा के सहयोगी

महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड में भी भाजपा की सहयोगी पार्टियों ने तेवर दिखाए हैं। भाजपा को दो सहयोगी पार्टियों आजसू और लोजपा ने अकेले लड़ने का ऐलान किया है।

झारखंड: विपक्षी दलों की एक ही चरण में चुनाव कराने की मांग

झारखंड में विपक्षी दलों ने एक ही चरण में चुनाव कराने की मांग रखी। बीजेपी को छोड़कर सभी विपक्षी पार्टियां चाहती है कि चुनाव एक ही चरण में हो। चुनाव आयोग (ईसी) की टीम ने गुरुवार को रांची में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाकात की।