कुशाभाऊ भाजपा के आधार स्तंभ रहे : राकेश

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे जनसंघ से लेकर भाजपा तक हमारे आधार स्तंभ रहे।

सीएए को लागू करने से इंकार नहीं कर सकते कमलनाथ : सिंह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह ने आज कहा कि संवैधानिक प्रावधानों के चलते राज्य की कांग्रेस सरकार

सदस्यता को लेकर सदन से पहले सड़क पर संघर्ष

प्रहलाद लोधी की सदस्यता को लेकर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने हैं। हाईकोर्ट द्वारा सजा पर स्टे मिलने के बाद भाजपा ने राज्यपाल से गुहार लगाई है तो कांग्रेस उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी। जिस तरह से दोनों दल अपनी-अपनी मांगों पर अड़े हैं उससे इतना तो साफ है कि सदन से पहले सड़क पर शुरू हो चुका संघर्ष शीतकालीन सत्र को हंगामेदार बनाएगा।

BJP : पॉवर सेंटर और जोर-आजमाइश का दौर..

भाजपा में पॉवर सेंटर पार्टी की कमजोर कड़ी बनकर सामने आए हैं। नेताओं की कार्यशैली में समन्वय का अभाव साफ देखा जा सकता है। जो मीडिया के मार्फत अपनी बात अलग-अलग समय पर अलग-अलग स्थान से रखते तो बंद कमरे में यहां बैठकों के दौर भी पार्टी से ज्यादा खुद को मजबूत करने के लिए शुरू हो चुके हैं।

गाँधी के सपनों का भारत बनाना है : राकेश

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि हमें महात्मा गाँधी के सपनों का भारत बनाना है। इसके लिये हमें उनके द्वारा किये गए कार्यों, उनके विचारों को आत्मसात करना होगा।

विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ेगें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख : राकेश सिंह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मध्यप्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केन्द्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि अब दोनों प्रदेश विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ेगें।

‘इकट्ठे हुए’ भाजपा के दिग्गज लेकिन कब तक ‘एकजुट!’

झाबुआ उपचुनाव में मिली करारी हार के बाद भाजपा के दिग्गज नेता एक बार फिर भाजपा कार्यालय में इकट्ठे हुए। बावजूद इनकी एकजुटता सवालों के घेरे से बाहर निकल चुकी हो यह संदेश स्पष्ट तौर पर कम से कम कार्यकर्ताओं तक नहीं पहुंचा है। ये वही कार्यकर्ता है जिन्हें मंडल और जिला अध्यक्ष के चुनाव से पहले प्रस्तावित 4 नवंबर के किसान आंदोलन को सफल बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

पटेल ने किसानों के मामले में भाजपा को घेरा

मध्यप्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य में पंद्रह वर्षों तक राज करने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने किसानों के हित में कार्य नहीं किए।

चेहरा, नीति, नेतृत्व विहीन, दिशाहीन बीजेपी में क्या संकट गहराया

भाजपा अपने कब्जे वाली झाबुआ का उपचुनाव सिर्फ हारी नहीं, बल्कि बड़े मतों के अंतर से जिस सीट पर लोकसभा चुनाव में उसे 7000 की बढ़त मिली थी वहां वह 27000 से हार गई यानी बड़ा उलटफेर।

भाजपा करेगी प्रदेश सरकार के खिलाफ किसान आंदोलन

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रदेश में बारिश से फसलों को पहुंचे नुकसान का मुआवजा किसानों को देने की मांग करते हुये कहा है कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की उपेक्षा के मद्देनजर भाजपा ने पूरे प्रदेश मेें किसान आक्रोश आंदोलन का आयोजन किया है।

कमलनाथ बेकाबू जहाज के कप्तान जैसे : भाजपा

मध्यप्रदेश में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी विवेक अग्रवाल के खिलाफ ईओडब्ल्यू में शिकायत दर्ज किए जाने के बाद अफसरों और मंत्रियों के बीच जारी खींचतान को लेकर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को ‘बेकाबू जहाज का कप्तान’ बताया है।

कमलनाथ सरकार के कामकाज का ‘लिटमस टेस्ट’

वैसे तो एक विधानसभा क्षेत्र के उप-चुनाव का सियासी तौर पर ज्यादा महत्व नहीं होता है, मगर मध्यप्रदेश के झाबुआ में होने जा रहे उप-चुनाव में बड़ा संदेश छुपा हुआ है, क्योंकि यह चुनाव जहां नौ माह पुरानी कमलनाथ सरकार के कामकाज का लिटमस टेस्ट होगा,

और लोड करें