भाजपा ने कहा-केरल और राजस्थान सरकार के कारण बढ़ रहे हैं कोरोना के नये मामले और बकरीद …

संबित पात्रा ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की सरकार का उदाहरण देते हुए कहा कि दोनों ही प्रदेशों ने समझदारी दिखाते हुए कावड़ यात्रा पर रोक लगा दी थी. उन्होंने कहा कि राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने इंडोर स्टेडियम अपना जन्मदिन मनाया जिसमें सैकड़ों लोग शामिल रहे.

CM Kejriwal on Oxyegen Crisis : ऑक्सीजन की मांग वाली रिपोर्ट विवादित!

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने जिस रिपोर्ट के आधार पर दिल्ली सरकार पर जरूरत से ज्यादा ऑक्सीजन  ( CM Kejriwal on Oxyegen Crisis) की मांग करने का आरोप लगाया था उसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स दिल्ली के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि ऐसा कहना जल्दबाजी होगी कि दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन की मांग चार गुना बढ़ा कर रखी थी। गौरतलब है कि जिस उप समिति की रिपोर्ट का हवाला दिया जा रहा है उस कमेटी के अध्यक्ष गुलेरिया ही हैं। इस मामले में भाजपा का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट की बनाई उप समिति ने कहा है कि दिल्ली सरकार ने चार गुना ज्यादा डिमांड रखी थी, जबकि दिल्ली सरकार ने रिपोर्ट को फर्जी बताया है। एक निजी चैनल से बात करते हुए गुलेरिया ने कहा है- ऐसे यह कहना जल्दबाजी होगी कि दिल्ली ने सेकंड वेव के पीक के वक्त जरूरी ऑक्सीजन की डिमांड को चार गुना बढ़ा कर बताया। उन्होंने कहा कि मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है, ऐसे में हमें जजमेंट का इंतजार करना चाहिए। डेल्टा प्लस वैरिएंट क्या है, क्या ये कोरोना की तीसरी लहर की चेतावनी है..आइये जानते है इसके सारे सवालों… Continue reading CM Kejriwal on Oxyegen Crisis : ऑक्सीजन की मांग वाली रिपोर्ट विवादित!

CM Kejriwal on Oxyegen Crisis : ऑक्सीजन विवाद पर केजरीवाल का तंज, कहा- झगड़ा खत्म हो गया हो तो, कुछ काम कर लें

नई दिल्ली | CM Kejriwal on Oxyegen Crisis : देश की राजधानी दिल्ली समेत दूसरे राज्य में कोरोना कि दूसरे लहर के दौरान कई लोगों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई थी. दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद अब ऑक्सीजन को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए थे. संबित पात्रा ने कहा था कि अरविंद केजरीवाल ने 4 गुना ऑक्सीजन की जरूरत को बढ़ा कर दिखाया. इसी के कारण देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हुई और लोगों की मौत हो गई. अब इन आरोपों पर केजरीवाल ने तंज कसते हुए कहा है कि अगर ऑक्सीजन पर झगड़ा खत्म हो गया हो तो थोड़ा काम कर लें. ऑक्सिजन पर आपका झगड़ा खतम हो गया हो तो थोड़ा काम कर लें? आइए मिलकर ऐसी व्यवस्था बनाते हैं कि तीसरी वेव में किसी को ऑक्सिजन की कमी ना हो। दूसरी लहर में लोगों को ऑक्सिजन की भीषण कमी हुई।अब तीसरी लहर में ऐसा ना हो। आपस में लड़ेंगे तो करोना जीत जाएगा। मिलकर लड़ेंगे तो देश जीतेगा — Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal)… Continue reading CM Kejriwal on Oxyegen Crisis : ऑक्सीजन विवाद पर केजरीवाल का तंज, कहा- झगड़ा खत्म हो गया हो तो, कुछ काम कर लें

सोशल और डिजिटल मीडिया का विवाद

सोशल और डिजिटल मीडिया का विवाद : इस पर सारी दुनिया के राजनीतिक विश्लेषक एक राय हैं कि नरेंद्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनाने और दूसरी बार ज्यादा बहुमत से चुनवाने में मीडिया और सोशल मीडिया की सबसे बड़ी भूमिका रही है। लेकिन दूसरे कार्यकाल में सोशल और डिजिटल मीडिया के बदलते रुख या स्वतंत्र रुख की वजह से परेशान केंद्र सरकार इन पर लगाम लगाने में जुट गई है। इस प्रयास में सरकार ने खुद को और देश को बड़ी मुश्किल में डाला हुआ है। दुनिया भर में देश की बदनामी हो रही है। सारे देश हैरान परेशान हैं आखिर क्यों भारत सरकार ट्विटर या दूसरी सोशल मीडिया कंपनियों के पीछे पड़ी है और किस वजह से डिजिटल मीडिया को नियंत्रित करने का प्रयास किया जा रहा है। बोलने और अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर बहस छिड़ी है और भारत सरकार दुनिया से कह रही है कि वह उसे इस मसले पर लेक्चर न दे क्योंकि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। यह भी पढ़ें: समस्याएं सुलझ नहीं, बढ़ रही हैं! सवाल है कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में क्या इसी तरह का काम होता है? सरकार ने डिजिटल मीडिया पर नियंत्रण के लिए नया कानून… Continue reading सोशल और डिजिटल मीडिया का विवाद

BJP VS AAP Oxyegen Crisis: दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी 4 गुना दिखा रहे थे CM Arvind kejriwal !

नई दिल्ली | BJP VS AAP Oxyegen Crisis: देशभर में कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ने लग गई. दूसरी लहर के दौरान देश ने ऐसी स्थिति भी देखी थी जिसमें देशभर में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा हुआ था. अब स्थिति सामान्य होने के बाद एक बार फिर से ऑक्सीजन के मामले में राजनीतिक छींटाकशी शुरू हो गई है. भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए हैं. संबित पात्रा ने कहा है कि जानबूझकर केंद्र सरकार की छवि को खराब करने की मंशा से दिल्ली के सीएम में 4 गुना बढ़ाकर ऑक्सीजन की जरूरत को दिखाया था. संबित पात्रा ने कहा कि ऑक्सीजन की जरूरत को ट्रैक करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने ऑडिट पैनल स्थापित किया था उसी के रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है. एक तथाकथित रिपोर्ट बताई जा रही है कि दिल्ली में जब कोरोना का पीक था तो ऑक्सीजन की कमी नहीं थी और ऑक्सीजन की मांग 4 गुना बढ़ा-चढ़ाकर बताई गई थी। भाजपा के नेता जिस तथाकथित रिपोर्ट के हवाले से अरविंद केजरीवाल को गाली दे रहे हैं, ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं है: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री pic.twitter.com/ENYAyxwD1X — ANI_HindiNews (@AHindinews) June 25, 2021  उपमुख्यमंत्री ने… Continue reading BJP VS AAP Oxyegen Crisis: दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी 4 गुना दिखा रहे थे CM Arvind kejriwal !

आईटी नियमों पर सरकार का जवाब

नई दिल्ली। सोशल मीडिया कंपनियों के लिए बनाए गए नए आईटी नियमों पर केंद्र सरकार ने संयुक्त राष्ट्र संघ को जवाब दिया है। भारत सरकार ने कहा है कि नए आईटी नियम सोशल मीडिया के आम यूजर्स को ताकत देने के लिए बनाए गए हैं। केंद्र ने कहा है कि सिविल सोसायटी और दूसरे पक्षों के साथ सलाह मशविरे के बाद ही इसे अंतिम रूप दिया है। सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने रविवार को इसकी जानकारी दी। असल में संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार परिषद के तीन विशेषज्ञों ने 11 जून को भारत सरकार को पत्र लिख कर नए आईटी नियमों पर चिंता जताई थी। उनका कहना था कि भारत में लागू किए गए नए आईटी नियम अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार मानदंडों के हिसाब से नहीं हैं। ये ग्लोबल ह्यूमन राइट्स का उल्लंघन करते हैं। भारत सरकार ने इससे इनकार किया है और कहा है कि इनसे आम यूजर्स को ताकत मिलेगी। गौरतलब है कि नए नियमों को लेकर अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर के साथ भारत सरकार की ठनी है। भारत सरकार ने संयुक्त राष्ट्र को बताया है कि उसने जो नए आईटी नियम बनाए हैं उसे 25 फरवरी, 2021 को अधिसूचित किया गया। 26 मई से ये नियम लागू हो गए… Continue reading आईटी नियमों पर सरकार का जवाब

छवि बिगड़ेगी या सुधरेगी?

भारत सरकार चाहती है कि ट्विटर और विदेशों से संचालित तमाम सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म उसी तरह चलें, जैसाकि उसने देसी मीडिया को चलने के लिए प्रेरित या मजबूर कर रखा है। यानी वे एकतरफा संदेश फैलाएं। वे वही प्रसारित करें, जो सरकार चाहती है और जो भी मन में सवाल है उन्हें वे विपक्ष से पूछें। तो दिल्ली पुलिस ने ट्विटर के गुरुग्राम और दिल्ली स्थित दफ्तरों पर दस्तक दी। वजह सबको मालूम है। भारत सरकार चाहती है कि ट्विटर और विदेशों से संचालित तमाम सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म उसी तरह चलें, जैसाकि उसने देसी मीडिया को चलने के लिए प्रेरित या मजबूर कर रखा है। यानी वे एकतरफा संदेश फैलाएं। वे वही प्रसारित करें, जो सरकार चाहती है और जो भी मन में सवाल है उन्हें वे विपक्ष से पूछें। इस तरह प्रधानमंत्री और सत्ताधारी दल की छवि निर्माण में वे सहायक बनें। ट्विटर ने भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा के एक ट्वीट को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ यानी ऐसी बात घोषित किया था जिसमें तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ा गया। पात्रा और कई दूसरे भाजपा नेताओं ने कुछ दस्तावेजों को कांग्रेस पार्टी की ‘टूल किट’ बताते हुए सोशल मीडिया पर साझा किया था। उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस ने कोरोना… Continue reading छवि बिगड़ेगी या सुधरेगी?

ट्विटर को अभिव्यक्ति की आजादी की चिंता!

नई दिल्ली। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने भारत में अभिव्यक्ति की आजादी के खतरे में होने की चिंता जताई है। ट्विटर ने उसके ऑफिस में पुलिस भेजे जाने को डराने-धमकाने की रणनीति कहा है। उसने भाजपा के एक प्रवक्ता के ट्विट में ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ का टैग लगाने के जवाब में ‘पुलिस द्वारा डराने-धमकाने की रणनीति के इस्तेमाल’ पर चिंता जताते हुए कहा है कि वह भारत में कर्मचारियों की सुरक्षा और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए संभावित खतरे के बारे में चिंतित है। अमेरिकी कंपनी ट्विटर ने इसके साथ ही यह भी कहा कि वह देश में अपनी सेवाएं जारी रखने के लिए भारत में लागू कानूनों का पालन करने की कोशिश करेगी। उसने कहा है कि वह आईटी नियमों के उन तत्वों में बदलाव की वकालत करने की योजना बना रहा है जो ‘मुक्त और खुली सार्वजनिक बातचीत को रोकते हैं’। ट्विटर ने कहा है- फिलहाल, हम भारत में अपने कर्मचारियों के संबंध में हालिया घटनाओं और अपने उपयोगकर्ताओं की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए संभावित खतरे से चिंतित हैं। ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा है- भारत और दुनिया भर में नागरिक समाज के कई लोगों के साथ ही हम पुलिस द्वारा धमकाने की रणनीति के इस्तेमाल से चिंतित हैं।… Continue reading ट्विटर को अभिव्यक्ति की आजादी की चिंता!

केंद्र सरकार ने ट्विटर को दी चेतावनी

नई दिल्ली। भारत सरकार ने एक बार फि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर को चेतावनी दी है। सरकार ने उसे याद दिलाया है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और अभिव्यक्ति की आजादी के बारे में उसे पाठ पढ़ाने की जरूरत नहीं है। सोशल मीडिया को लेकर तैयार किए गए नए दिशा-निर्देशों पर ट्विटर के रवैए से खफा सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा है कि वह दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को न सिखाए कि हमें क्या करना है। मंत्रालय ने कहा कि ट्विटर मुद्दा भटकाने के बजाय नियमों का पालन करे। सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा है कि ट्विटर का जवाब दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश पर जबरन अपनी शर्तें थोपने जैसा है। गौरतलब है कि ट्विटर ने अपने बयान के जरिए उन दिशा-निर्देशों का पालन करने से मना किया है, जो भारत सरकार ने आपराधिक गतिविधियां रोकने के लिए तैयार की हैं। मंत्रालय ने कहा है कि भारत में लोकतंत्र और बोलने की आजादी सदियों से रही है। यहां इसकी रक्षा करने की जिम्मेदारी सिर्फ ट्विटर जैसी किसी एक संस्था को नहीं है। सरकार ने आरोप लगाते हुए कहा कि बोलने की आजादी को लेकर ट्विटर पर पारदर्शी नीतियां नहीं हैं। कई लोगों के अकाउंट… Continue reading केंद्र सरकार ने ट्विटर को दी चेतावनी

ट्विटरः सरकार का अपने हाथों इमेज भठ्ठा!

केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी को सबसे ज्यादा किसी बात की चिंता है तो वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इमेज है। उसे बचाने के लिए सरकार और पार्टी कुछ भी करने को तैयार है। लेकिन इसी चक्कर में इमेज ज्यादा खराब हो रही है। दूसरी बात यह है कि भाजपा का लक्ष्य सिर्फ प्रधानमंत्री की इमेज बेहतर करना नहीं है, बल्कि उसके साथ साथ राहुल गांधी की इमेज बिगाड़ना भी उसका एक लक्ष्य है। इसी लक्ष्य को साधने के लिए एक टूलकिट का हल्ला मचा। भाजपा के राष्ट्रीय प्रक्ता संबित पात्रा ने एक के बाद एक कई ट्विट करके बताया कि यह टूलकिट कांग्रेस पार्टी ने बनाया है, जिसमें भारत और प्रधानंमत्री की इमेज खराब करने वाली सामग्री है। भाजपा के नेताओं और केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने इसे हाथों हाथ लिया, रिट्विट किया और कांग्रेस पर हमला किया। यह भी पढ़ें: भाजपा की बैठक, कांग्रेस का फिजलू निशाना बाद में फैक्ट चेक करने वाले एक पोर्टल ने इसे फर्जी बताया और फिर ट्विटर ने भी इसे मैनिपुलेटेड मीडिया बता कर टैग कर दिया। सरकार को यह बात इतनी नागवार गुजरी कि उसने ट्विटर के ऑफिस में दिल्ली पुलिस की टीम भेज दी। दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच… Continue reading ट्विटरः सरकार का अपने हाथों इमेज भठ्ठा!

Toolkit Case: कांग्रेस ने Twitter को लिखी चिट्ठी

नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को केंद्र सरकार की ओर से चेतावनी देने और दिल्ली पुलिस के छापा मारने के बाद अब कांग्रेस पार्टी ने चिट्ठी लिखी है। कांग्रेस ने कहा है कि जिस तरह से ट्विटर ने टूलकिट मामले में भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा और कुछ अन्य लोगों की पोस्ट को मैनिपुलेटेड मीडिया टैग दिया है उसी तरह भाजपा के 11 और नेताओं की पोस्ट को भी टैग करना चाहिए। कांग्रेस ने 11 नेताओं के ट्विट भी ट्विटर के लीगल डिपार्टमेंट को भेजे हैं और कहा है कि नेताओं पर एक्शन लिया जाए। कांग्रेस ने ये चिट्ठी ट्विटर की लीगल हेड विजया गड्डे और लीगल डिपार्टमेंट के वाइस प्रेसिडेंट जिम बेकर को लिखी है। बताया जा रहा है कि ट्विटर इंडिया को दिल्ली पुलिस के नोटिस के बाद अमेरिका स्थित ट्विटर मुख्यालय ने मामला जिम बेकर को ही सौंपा है। कांग्रेस ने चिट्ठी में लिखा है- हमने पहले भी आपको फर्जी टूलकिट के बारे में जानकारी दी थी, जिसे कुछ भाजपा नेताओं ने गलत तरीके से सियासी फायदा उठाने के लिए बनाया है। ये नेता अपने ट्विटर हैंडल से कांग्रेस और उसके नेताओं के खिलाफ झूठी, मनगढ़ंत और खतरनाक जानकारियां फैला रहे हैं। कांग्रेस ने लिखा है-… Continue reading Toolkit Case: कांग्रेस ने Twitter को लिखी चिट्ठी

Toolkit केस: Twitter के दफ्तर पहुंची पुलिस

नई दिल्ली। भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्विट को मैनिपुलेटेड मीडिया यानी फर्जी ट्विट बताना ट्विटर इंडिया को भारी पड़ सकता है। ट्विटर के इस कदम से भारत सरकार पहले नाराज थी और सोमवार को दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा की टीम उसके दिल्ली और गुरुग्राम ऑफिस पहुंच गई। सोमवार की शाम को दिल्ली पुलिस की टीम ने दिल्ली के लाडो सराय में और गुरुग्राम के हॉरिजन प्लाजा के ऑफिस में जाकर जांच-पड़ताल की। असल में भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक कथित टूलकिट शेयर किया था, जिसे उन्होंने कांग्रेस का टूलकिट कहा था और आरोप लगाया था कि कांग्रेस इसके जरिए प्रधानमंत्री और देश की छवि खराब कर रही है। कांग्रेस ने इसे फर्जी बताते हुए मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी दी। बाद में ट्विटर ने खुद ही पात्रा के ट्विट पर मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग लगा दिया। इसे लेकर भारत सरकार के सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर से नाराजगी जताई थी और कहा था कि इस मामले की जांच चल रही है ऐसे में ट्विटर का इस तरह निष्कर्ष निकालना ठीक नहीं है। बहरहाल, दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा के आधा दर्जन सदस्य लाडो सराय स्थित ऑफिस पहुंचे, लेकिन वहां उन्हें वहां कोई नहीं मिला।… Continue reading Toolkit केस: Twitter के दफ्तर पहुंची पुलिस

Toolkit Case: केंद्र की Twitter को चेतावनी, जांच प्रक्रिया में दखल न दें

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा के कुछ ट्विट्स को ट्विटर ने मैनिपुलेटेड मीडिया यानी फर्जी ट्विट का टैग दिया तो केंद्र सरकार भड़क गई और ट्विटर को तीखे शब्दों में चेतावनी दी। सरकार ने शुक्रवार को ट्विटर से कहा कि वह मैनिपुलेटेड मीडिया टैग का इस्तेमाल बंद करे, क्योंकि अभी टूलकिट मामले की जांच एजेंसी कर रही है। गौरतलब है कि संबित पात्रा ने एक टूलकिट को लेकर कई ट्विट किए थे, जिसमें उन्होंने दावा किया था कि यह टूलकिट कांग्रेस पार्टी ने तैयार किया है, जिसमें देश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने का कंटेंट था। कांग्रेस ने इसे फर्जी बता कर मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी दी है। ट्विटर ने पात्रा के इन्हीं ट्विट्स पर मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग लगाया है। इससे नाराज सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि एजेंसी टूलकिट के कंटेंट की जांच कर रही है, न कि ट्विटर की। केंद्र ने ट्विटर से कहा कि वह जांच पूरी होने तक इस प्रक्रिया में दखल न दें। सरकार ने कहा- जब तक यह मामला जांच के दायरे में है तब तक ट्विटर अपना फैसला नहीं सुना सकती है। सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर की ग्लोबल टीम को लिखा कि… Continue reading Toolkit Case: केंद्र की Twitter को चेतावनी, जांच प्रक्रिया में दखल न दें

सरकार से सवाल पूछने पर 25 को जेल!

क्या किसी लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में सरकार से सवाल पूछने पर किसी को जेल हो सकती है? सवाल चाहे कितना भी कठिन हो, इसके लिए किसी को सजा नहीं दी जा सकती है। और भारत के प्रधानमंत्री ने तो वैसे भी देश के लोगों को समझाया है कि कठिन सवाल पहले हल करना चाहिए। लेकिन उनसे कुछ लोगों ने साधारण से सवाल पूछे तो दिल्ली की पुलिस ने 25 लोगों को जेल में डाला हुआ है। पुलिस यह भी कह रही है कि इतने पर बस नहीं है, अभी उसकी तलाश और तफ्तीश जारी है और कुछ अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया जा सकता है। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के कोने-कोने में इस मामले को लेकर एफआईआर दायर की है। दिल्ली की जिस भी दिवार पर सवाल वाले पोस्टर दिखे हैं, वह दिवार जिस थाना क्षेत्र में आती है वहां एफआईआर दर्ज हुई है। रविवार की सुबह तक 25 एफआईआर दर्ज हो चुकी थी। लोगों का कसूर सिर्फ इतना है कि उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री का नाम लेकर सवाल पूछा था। अगर उन्होंने सिस्टम और सरकार, जिसे इन दिनों मीडिया में लापता बताया जा रहा है उससे सवाल पूछा होता तो शायद इतनी कठोर कार्रवाई नहीं होती। असल में… Continue reading सरकार से सवाल पूछने पर 25 को जेल!

बंगाल में लगभग हर दिन हो रही राजनीतिक हत्याएं: भाजपा

पश्चिम बंगाल में हो रही राजनीतिक हत्याओं को लेकर भारतीय जनता पार्टी मुखर है। राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी

और लोड करें