मामा, महाराज, मुन्ना भैया ने ‘चंबल’ में बनाया माहौल..

कांग्रेस के मुकाबले मैदानी क्षेत्र में चुनाव प्रचार की बढ़त लेते हुए भाजपा ने कांग्रेस कमलनाथ का माखौल उड़ाते हुए माहौल बनाने की कवायद तेज कर दी है।

‘नवंबर’ में लगेगा म.प्र  कांग्रेस के कायाकल्प का ‘नंबर’..!

दिल्ली में कांग्रेस के अंदर मची उठापटक के बीच एक बार फिर मध्य प्रदेश चर्चा में आ चुका है। वजह कमलनाथ दिग्विजय सिंह के नेतृत्व के संकट पर दिए गए बयान,कांग्रेस कार्यसमिति ने

‘महाराज’ ने किया ‘पांच-पंद्रह’… विकास का एजेंडा सेट…

कमलनाथ कांग्रेस की सुई उपचुनाव में जीत के लिए यदि महाराज को गद्दार और शिवराज को झूठा साबित करने पर टिकी हुई है। तो ग्वालियर चंबल की धरती से भाजपा इस बहस को खुद्दार

हिंदुत्व-राष्ट्रवाद की बयार.. राम…राफेल और सवाल…

राम मंदिर निर्माण की तैयारियां जोरों पर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आधारशिला रखने के साथ क्या यह चुनावी मुद्दा भी बनेगा। देश की सर्वोच्च अदालत द्वारा सुनाए गए फैसले

‘उपचुनाव’ यदि समय पर तो फिर कांग्रेस में ‘भगदड़’ …..

मध्य प्रदेश में पिछले दिनों सर्वसम्मति से विधानसभा का बजट सत्र स्थगित किए जाने का फैसला तब सामने आया, तो लगा कि कोरोना के चलते उपचुनाव हर हाल में टाले जाएंगे।

‘राम मंदिर’ के भूमि पूजन से पहले भोपाल में ‘टीम भागवत’

टीम भागवत यानी उसके अखिल भारतीय पदाधिकारी जिन्हें संघ का नीति निर्धारक भी माना जाता। कोरोना के कहर के बीच देश के हृदय प्रदेश मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में उस वक्त इकट्ठे हो रहे हैं.

‘शिवराज’ की ‘यूएसपी’ पर चोट और ‘सवाल’?

मानवीयता और संवेदनशीलता को बनाए रखने वाली गुना पुलिस से जुड़ा मामला संगीन पर सवाल भी गम्भीर खड़े हो चुके।  गरीब बेवस दलित किसान पर पुलिस और प्रशासन की बर्बरता के इस वायरल

‘विधानसभा’ अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के भंवर में उल्झी ‘भाजपा’

छत्तीसगढ़ के विभाजन के साथ मध्यप्रदेश की विधानसभा में अध्यक्ष के लिए यदि विंध्य क्षेत्र का लंबे समय तक दबदबा रहा तो फिर महाकौशल ने भी अपनी प्रभावी मौजूदगी दर्ज

शिवराज के बाद की भाजपा का मध्यप्रदेश में ‘उदय’…

मध्य प्रदेश की बदलती राजनीति जिसे सिंधिया की प्रेशर पॉलिटिक्स से जोड़ कर देखा जाए तो अपने समर्थकों को शिवराज सरकार में भारी भरकम विभाग दिलाने में सफल रहे

‘एक्चुअल’ में देगी ‘नाथ की सेना’ ‘वर्चुअल’ का जवाब..!

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी मुकुल वासनिक उप चुनावों के रोड मैप को अपने भोपाल दौरे के दौरान लगभग अंतिम रूप दे चुके हैं.. एकजुटता के साथ जो ताकत कांग्रेस ने कभी विधानसभा चुनाव में नहीं

अब शिवराज, नरेंद्र, नरोत्तम, उमा के ‘सब्र’ का इंतिहान..

विधानसभा चुनाव परिणाम सामने आने के बाद सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और दूसरे सहयोगियों से विचार विमर्श के बाद राहुल गांधी ने कभी जिस ‘समय’ और ‘सब्र’ को कमलनाथ और ज्योतिरादित्य से

उपचुनाव: ‘नड्डा’ की नेतृत्व क्षमता और ‘साख’ कसौटी पर

मध्य प्रदेश में सरकार चलाना हो या फिर सरकार के लिए जरूरी 24 विधानसभा के उपचुनाव.. तेजी से बदलते राजनीतिक परिदृश्य में इसका महत्त्व मायने दोनों बदलते जा रहे हैं। 

टाइगर बोला हम ‘दो’ हमारे निशाने पर वो ‘दो’..

शिवराज कैबिनेट का विस्तार आखिर हो ही गया वह भी तब जब सरकार अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरा होने का जश्न मनाने जा रही है.. उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने के लिए आयोजित इस वर्चुअल रैली में

अबकी बार दो ‘राज’दारों की सरकार..

आखिर वह दिन आ ही गया जब गुरुवार को शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के साथ कैबिनेट के नए चेहरे सामने आएंगे, जिसको लेकर दिल्ली से लेकर भोपाल तक बैठकों का लंबा सिलसिला चला मंत्रिमंडल विस्तार से

‘देव’ सोने से पहले स्थापित होंगे शिव के  ‘मंत्री’

पराया धन फिल्म के गीत के बोल बीजेपी की इंटरनल पॉलिटिक्स में फिलहाल प्रासंगिक नजर आता आज उनसे पहली मुलाकात.. फिर आमने सामने बात होगी फिर होगा क्या, क्या पता,

और लोड करें