Naya India

Anjali Arora: रामायण में सीता की भूमिका में समर्पण

Image Credit: Outlook India

जहां प्रशंसक नितेश तिवारी की रामायण का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। जिसमें रणबीर कपूर और साईं पल्लवी राम और सीता की भूमिका निभा रहे हैं। वहीं Anjali Arora ने हाल ही में अभिषेक सिंह के निर्देशन में बनी रामायण कथा में सीता के रूप में अपनी शुरुआत की घोषणा की हैं। और दोनों फिल्में हिंदू महाकाव्य से प्रेरित हैं।

ईटाइम्स के साथ हाल ही में एक साक्षात्कार में Anjali Arora ने सीता का किरदार निभाने के लिए ‘धन्य’ महसूस किया और अंजलि ने इस भूमिका को पाने के बारे में अपनी प्रारंभिक जिज्ञासा का खुलासा किया। जिसमें उन्हें निर्देशक द्वारा सूचित किया गया था कि वह कुछ अन्य अभिनेताओं के साथ प्रतिस्पर्धा कर रही थीं। लेकिन निर्माताओं ने अंततः उन्हें इस भूमिका के लिए चुना। और इसके अतिरिक्त, अंजलि ने साझा किया कि पिछले महीने इस भूमिका के लिए फाइनल होने के बाद से, वह चरित्र की तैयारी के लिए परिश्रमपूर्वक वीडियो देख रही हैं। और कार्यशालाओं में भाग भी ले रही हैं।

यह देखते हुए कि दोनों फिल्में हिंदू महाकाव्य पर आधारित हैं। Anjali Arora ने स्वीकार किया की उनके प्रदर्शन की तुलना अनिवार्य रूप से रामायण में साईं पल्लवी के सीता के चित्रण से भी की जाएगी। लेकिन उन्होंने एक स्थापित अभिनेता से तुलना किए जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा की अगर मेरी तुलना किसी बॉलीवुड अभिनेत्री से की जाएगी, तो मुझे बहुत खुशी होगी।

Anjali Arora ने अपने डांस वीडियो वायरल होने के बाद से सोशल मीडिया पर अच्छी खासी लोकप्रियता हासिल की हैं। जिसके बाद रियलिटी शो लॉक अप में भी वह शामिल हुई। साक्षात्कार के दौरान उन्होंने इस बारे में चिंताओं को संबोधित किया की क्या उनका सोशल मीडिया व्यक्तित्व दर्शकों की धारणा को प्रभावित कर सकता हैं। क्योंकि वह रामायण कथा में सीता का किरदार निभा रही हैं।और यह स्वीकार करते हुए कि वह अपने प्रति किसी का नजरिया नहीं बदल सकती। उन्होंने अपने चरित्र को निखारने के प्रति समर्पण पर जोर दिया। साथ ही अंजलि ने ट्रोल्स की अनिवार्यता और उनके विचार व्यक्त करने के अधिकार को भी मान्यता दी। और कहा की उनकी सोशल मीडिया छवि का उनके अभिनय कौशल से कोई लेना-देना नहीं हैं। और यह उनके प्रदर्शन को प्रभावित नहीं करेगी।

यह भी पढ़ें: 

ओडिशा से पीएम मोदी का इंडी गठबंधन पर जुबानी प्रहार

महिलाओं के एक हजार रुपये रोकना चाहती है भाजपा: सुनीता केजरीवाल

Exit mobile version