nayaindia Gangster Sunil Rathi back to Tihar in Haridwar Jail हरिद्वार जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी को वापस तिहाड़ भेजने की कवायद शुरू
उत्तराखंड

हरिद्वार जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी को वापस तिहाड़ भेजने की कवायद शुरू

ByNI Desk,
Share

देहरादून/हरिद्वार। उत्तराखंड में हाई सिक्योरिटी जेल नहीं होने के कारण कुख्यात सुनील राठी (Gangster Sunil Rathi) को शासन ने यूपी व दिल्ली पुलिस (Delhi police) से वापस ले जाने के लिए कहा है। प्रदेश सरकार भी कैदियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हुई है। गृह विभाग ने प्रदेश में हाई सिक्योरिटी जेल न होने का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर सुनील राठी को वापस तिहाड़ (Tihar) ले जाने में सहयोग करने को कहा है।

दिल्ली की तिहाड़ जेल में हुई घटना के बाद अब प्रदेश सरकार भी कैदियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हुई है। इस कड़ी में हरिद्वार जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी को वापस तिहाड़ भेजने की कवायद शुरू हो गई है। गृह विभाग ने प्रदेश में हाई सिक्योरिटी जेल न होने का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर सुनील राठी को वापस तिहाड़ ले जाने में सहयोग करने को कहा है।

फिलहाल हरिद्वार जेल में रखा गया सुनील सिंह राठी:-

कुख्यात सुनील सिंह राठी विभिन्न आपराधिक मामलों में तिहाड़ जेल में सजा काट रहा था। गत वर्ष अप्रैल में एक मामले की सुनवाई के लिए उसे तिहाड़ जेल से उत्तराखंड लाया गया। तब से ही उसे वापस नहीं भेजा जा सका है। उसे फिलहाल हरिद्वार जेल में रखा गया है।

बड़े अपराधियों के लिए हाई सिक्योरिटी जेल नहीं:-

प्रदेश में इस तरह के बड़े अपराधियों के लिए हाई सिक्योरिटी जेल नहीं है। यहां जेल में उसके लिए अतिरिक्त सुरक्षा कर्मी लगाए गए हैं। ऐसे में हरिद्वार जेल प्रशासन ने शासन को पत्र लिखकर सुनील राठी को वापस भेजने का अनुरोध किया था।

सुनील राठी को तिहाड़ तक भेजने के लिए गृह विभाग स्वयं को सक्षम महसूस नहीं कर रहा है। ऐसे में अब गृह विभाग की ओर से उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस को पत्र भेजा गया है। इसमें कहा गया है कि यहां कैदी को रखने के लिए हाई सिक्योरिटी जेल नहीं है। ऐसे में उसे वापस तिहाड़ भेजना जरूरी है। कैदी को वापस तिहाड़ भेजने की व्यवस्था में सहयोग दिया जाए। (आईएएनएस)

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें