nayaindia congress accounts freezed कांग्रेस के खातों पर ताला!
Trending

कांग्रेस के खातों पर ताला!

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। चुनावी बॉन्ड योजना पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से केंद्र सरकार के पारदर्शिता के दावे पर बड़ा सवाल खड़ा होने के एक दिन बाद खबर आई है कि सरकार ने कांग्रेस पार्टी के सभी बैंक खातों से लेन-देन पर रोक लगा दी है। कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अजय माकन ने प्रेस कांफ्रेंस करके आरोप लगाया कि कांग्रेस और यूथ कांग्रेस दोनों के खाते फ्रीज  कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि क्राउड फंडिंग के जरिए जुटाए गए पैसे के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है। हालांकि बाद में खबर आई कि आयकर विभाग के अपीलीय ट्रिब्यूनल ने कुछ शर्तों के साथ खातों से लेन-देन की अनुमति दे दी है।

इससे पहले माकन ने बताया कि कांग्रेस के खातों पर रोक लगने से पार्टी पानी और बिजली का बिल भी नहीं भुगतान कर पा रही है। उन्होंने शुक्रवार को कहा- हमें दो दिन पहले पता चला कि हम जो चेक इश्यू कर रहे हैं, बैंक पैसा नहीं दे रहे हैं। हमने छानबीन की तो बताया गया कि कांग्रेस के सारे खाते फ्रीज कर दिए गए हैं। कांग्रेस कोषाध्यक्ष अजय माकन ने कहा-वित्त वर्ष 2018-19 का कांग्रेस की तरफ से आयकर का रिटर्न दाखिल करने में 40-45 दिनों की देरी की गई थी, इसे लेकर आयकर विभाग ने 210 करोड़ रुपए की रिकवरी मांगी है। उन्होंने कहा-ऐसे कई मामले और उदाहरण हैं, जिनमें इस तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई।

केंद्र सरकार को निशाना बनाते हुए माकन ने कहा- अभी हमारे पास खर्च करने के लिए पैसे नहीं हैं। बिजली बिल, कर्मचारियों का वेतन, हमारी न्याय यात्रा सब कुछ प्रभावित हुआ है।उन्होंने कहाकि -लोकतंत्र में ऐसा नहीं होना चाहिए, जहां बस एक पार्टी की मनमर्जी चल रही है,  जहां प्रमुख विपक्षी दल को इस तरह अधीन बना दिया गया है। माकन ने कहा- हमें कल पता चला कि हमारे वकील विवेक तन्खा का और कुल चार खाते फ्रीज कर दिए गए हैं।ये हमारे खाते नहीं, हमारे देश में डेमोक्रेसी फ्रीज हुई है। ये पैसा कॉरपोरेट जगत से मिला पैसा नहीं है। ये क्राउड फंडिंग का पैसा है। वही पैसा भारत सरकार ने फ्रीज किया है।

खातों के फ्रीज होने की सूचना मिलने के बाद कांग्रेस ने आयकर विभाग के अपीलीय ट्रिब्यूनल में याचिका दायर, जहां शुक्रवार को सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद कुछ शर्तों के साथ कांग्रेस को खातों से लेन-देन की मंजूरी मिल गई। बाद में माकन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्सपर लिखा- हमारी याचिका पर आयकर विभाग और आयकर अपीलीय अधिकरण ने कहा है कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि 115 करोड़ रुपए बैंक खातों में रखे जाएं। हम उससे ऊपर की राशि ही खर्च कर सकते हैं। इसका मतलब है कि 115 करोड़ रुपए फ्रीज कर दिए गए हैं। यह 115 करोड़ रुपये की राशि हमारे चालू खाते से कहीं अधिक है। कांग्रेस को मिली अंतरिम राहत पर अगले हफ्ते बुधवार को सुनवाई होगी।

आयकर विभाग की इस कार्रवाई पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सत्ता के नशे में चूर मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले देश की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी कांग्रेस के खाते फ्रीज कर दिए हैं। ये लोकतंत्र पर बड़ा हमला है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा- असंवैधानिक तरीके से इकट्ठा किए गए धन का उपयोग बीजेपी चुनावों में करती है। इसलिए मैंने कहा है कि भविष्य में कोई चुनाव नहीं होंगे। इसलिए हमने न्यायपालिका से लोकतंत्र की रक्षा की अपील की है। हम सड़कों पर उतरेंगे और इस निरंकुशता के खिलाफ मजबूती से लड़ेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें