nayaindia Kisan Andolan किसानों के दिल्ली मार्च पर टकराव
Trending

किसानों के दिल्ली मार्च पर टकराव

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली/चंडीगढ़। किसान एक बार फिर दिल्ली की ओर कूच कर गए हैं तो दूसरी ओर सरकार उनके रोकने के हर तरह के उपाय कर रही है। भाजपा की हरियाणा सरकार ने किसानों को दिल्ली कूच से रोकने के लिए सात जिलों में जबरदस्त तैयारी की है। सात जिलों में इंटरनेट बंद कर दिए हैं और दिल्ली की ओर जाने वाली सड़कों पर बैरिकेडिंग कर दी गई है। यहां तक कि सड़कें पर कीलें बिछाई गई हैं। साथ ही पेट्रोल पंप पर ट्रैक्टरों को 10 लीटर से ज्यादा डीजल नहीं देने की घोषणा की गई है। जगह जगह पुलिस तैनात की गई है। वहीं पंजाब की आप सरकार ने इस तरह की कोई पाबंदी नहीं लगाई है।

इससे पहले रविवार को किसान मजदूर संघर्ष कमेटी ने पंजाब में श्री अकाल तख्त साहिब पर माथा टेक कर दिल्ली की तरफ प्रस्थान किया। किसानों ने 13 फरवरी यानी मंगलवार को दिल्ली कूच का ऐलान किया है। उससे पहले हरियाणा और पंजाब के साथ लगती सीमा पर जबरदस्त सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं। पंजाब से लगती हरियाणा की सीमाएं पूरी तरह से सील कर दी गई हैं। पंजाब में किसी तरह की पाबंदी नहीं है लेकिन पुलिस पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

इस बीच सबकी नजर तीन केंद्रीय मंत्रियों की सोमवार को किसान संगठनों के साथ होने वाली बैठक पर टिकी हुई है। यह बैठक चंडीगढ़ में सेक्टर 26 स्थित महात्मा गांधी स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में होनी है। इस बैठक में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल और नित्यानंद राय शामिल होंगे। दूसरी ओर किसान संगठनों की तरफ से जगजीत सिंह डल्लेवाल, किसान मजदूर मोर्चा के सरवन सिंह पंधेर गुट शामिल होंगे। सोमवार की शाम तक बातचीत की स्थिति साफ होगी। उसके बाद किसान तय करेंगे कि दिल्ली की ओर कूच करना है या इंतजार करना है।

इस बातचीत से पहले रविवार को हरियाणा और पंजाब के शंभू बैरियर, खनौरी सहित अन्य सीमाओं को हरियाणा की तरफ से सील कर दिया गया है। पंजाब से दिल्ली की ओर जाने वाले किसानों को रोकने के लिए अंबाला के शंभू बार्डर और फतेहाबाद में बैरिकेड्स और अन्य इंतजाम किए गए है। हरियाणा के सात जिलों में इंटरनेट सेवाओं को बंद किया गया है। किसान नेता इससे नाराज हैं। उनका कहना है कि एक तरफ तो बातचीत होने जा रही है तो दूसरी तरफ हरियाणा में हालात क्यों बिगाड़ रहे है। पहले ही बैरिकेडिंग क्यों की जा रही है।

गौरतलब है कि पंजाब से हरियाणा के रास्ते दिल्ली पहुंचने की तैयारी कर रहे किसानों को रोकने के लिए अंबाला के शंभू बॉर्डर और फतेहाबाद में बैरिकेड्स और लोहे की कीलें लगाई गई हैं। हरियाणा के सात जिलों में रविवार सुबह छह बजे से मोबाइल इंटरनेट, डोंगल और थोक में एसएमएस सेवा बंद कर दिए गए हैं। अंबाला, हिसार, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद और पुलिस जिला डबवाली सहित सिरसा में यह  रोक रहेगी। यह आदेश 13 फरवरी की रात 12 बजे तक लागू रहेंगे। हरियाणा के सोनीपत, झज्जर, पंचकूला, अंबाला, कैथल, हिसार, सिरसा, फतेहाबाद और जींद सहित 12 जिलों में धारा 144 लागू की गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें