कोविड-19 के बीच तबादलों से नौकरशाही का मनोबल कमजोर: भाजपा नेता

भाजपा नेता प्रवीण दारेकर ने आरोप लगाया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान नगर निगम आयुक्तों और कलेक्टरों के बार-बार तथा अचानक तबादले महाराष्ट्र की नौकरशाही का मनोबल कमजोर कर रहे हैं।

स्नेहभोज के बहाने, प्यार से पहरेदारी

आखिरकार लंबे इतंज़ार के बाद राज्यसभा की तीन सीटों पर 19 तारीख को मतदान होना तय हो गया है। भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के लगभग सभी विधायक भोपाल में डेरा डाल चुके हैं और पार्टी के

कांग्रेस पर आक्रामक हो रही भाजपा सरकार

दरअसल राजनीतिक दलों का सरकार में आना जाना लगा रहता है और जो भी दल सरकार में रहता है उस दौरान कुछ ना कुछ ऐसी गलतियां हो जाती है जिस पर यदि विपक्षी दल सरकार में आने पर

अपने नेताओं से शर्मिंदा भाजपा!

कोरोना वायरस के संक्रमण में एक तरफ कुछ नेता अपने कामकाज से पार्टी का नाम ऊंचा कर रहे तो दूसरी ओर कुछ नेता पार्टी को शर्मिंदा कर रहे हैं।

मप्र की कांग्रेस सरकार अंतर्कलह से ग्रसित: भाजपा

भोपाल। हरियाणा के एक होटल में मध्यप्रदेश के सत्तापक्ष के विधायकों को भाजपा नेताओं द्वारा बंधक रखे जाने के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा ने साफ किया है कि मध्यप्रदेश में कमजोर बहुमत पर खड़ी मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का वह कोई प्रयास नहीं कर रही है बल्कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने ही अंतर्कलह से ग्रसित है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार सुबह को यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अपने अंतर्विरोधों, अंतर्कलह से ग्रसित है। आप लोग देख रहे होंगे कि किस प्रकार से सरकार में उनके अपने अंदर विद्रोह हैं। भारतीय जनता पार्टी का इस पूरे प्रकरण से कोई लेना देना नहीं है, ना ही भाजपा के इस तरह के कोई प्रयास हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्कलह का जवाब कमलनाथ जी, सिंधिया जी और दिग्विजय सिंह जी को देना चाहिए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ये पहले से ही ब्लैकमेल सरकार है। जब बनी थी तब जोड़-तोड़ के आधार पर बनी थी। इस प्रकार के घटनाक्रम में न भाजपा का कोई लेना देना है न हमारे किसी प्रकार के प्रयास हैं।

मोदी के लिट्टी-चोखा खाते ही भाजपा नेताओं में भी लगी होड़

दिल्ली में ‘हुनर हाट’ भले ही आज खत्म हो रहा है, लेकिन इसने अपने पीछे लिट्टी-चोखा पर सियासत जरूर शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 19 फरवरी को हुनर हाट में लिट्टी चोखा खाते

भाजपा की सभाओं में गूंज रहे ‘जनसंख्या नियंत्रण करो’ के नारे

दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की छोटी-बड़ी सभाओं में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग गूंज रही है।

नड्डा और शाह ने दिल्ली चुनावी तैयारियों का लिया जायजा

भाजपा अध्यक्ष पद छोड़ने के बावजूद गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में चुनाव की बागडोर संभाल रखी है। लिहाजा अमित शाह दिल्ली चुनाव में कोई कोर कसर छोड़ना नहीं चाहते।

भाजपा नेता ने ममता, राहुल, केजरीवाल को भेजी संविधान की प्रतियां

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे विपक्ष के नेताओं को भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय ने ‘भारतीय संविधान’ की प्रतियां भेजी है।

सीएए पर मचे बवाल को थामने आगे आया संघ

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर देश भर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच अब राष्ट्रीय स्वसयंसेवक संघ (आरएसएस) ने मोर्चा संभाल लिया है। संघ इस संदर्भ में अब भाजपा नेताओं को नया होमवर्क दे रहा है।

सीएए पर भाजपा नेताओं को दलितों के बीच जाने चाहिए: संघ

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) का मानना है कि नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) से सबसे ज्यादा लाभ पड़ोसी देशों में अत्याचार का शिकार होकर भारत आए दलितों को होगा।

और लोड करें