brain

  • मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाने के साथ स्पर्म काउंट भी कम कर सकता है मोटापा

    नई दिल्ली। एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि मोटापा (Obesity) मस्तिष्क को प्रभावित करने के साथ-साथ स्पर्म काउंट (Sperm Count) को भी कम कर सकता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया-रिवरसाइड के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में मानव मोटापे की नकल करने के लिए चूहों को उच्च वसा वाले आहार खिलाए। निष्कर्षों में पता चला है कि चूहों के मस्तिष्क में न्यूरॉन्स के बीच कनेक्शन कम थे और उन रिसेप्टर्स की संख्या भी कम थी जो आम तौर पर मस्तिष्क को सचेत करते हैं कि पर्याप्त ऊर्जा उपलब्ध है और खाना बंद कर देना चाहिए। स्कूल ऑफ मेडिसिन...

  • रात की खराब नींद के बावजूूद मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है 20 मिनट का वर्कआउट

    Brain :- एक शोध से यह‍ बात सामने आई है कि अगर आपने रात में अच्‍छी नींद नहीं ली है, तो केवल 20 मिनट का व्यायाम आपके मस्तिष्क को स्वस्थ रख सकता है। पोर्ट्समाउथ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किए गए अध्ययन से पता चला है कि नींद, ऑक्सीजन का स्तर और व्यायाम हमारी मानसिक कार्य करने की क्षमता को कैसे प्रभावित करते हैं। टीम ने पाया कि मध्यम तीव्रता वाले व्यायाम से सोचने की क्षमता में सुधार होता है, चाहे किसी व्यक्ति की नींद की स्थिति या ऑक्सीजन का स्तर कुछ भी हो।  यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ स्पोर्ट...

  • महिलाओं के मस्तिष्क को मातृत्‍व के लिए तैयार करते हैं गर्भावस्था के हार्मोन

    Pregnancy :- गर्भावस्था के दौरान केवल महिलाओं के शरीर में ही बदलाव नहीं होता है। चूहों पर किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि मातृत्व की तैयारी के लिए मस्तिष्क भी 'री-वायर्ड' हो जाता है। जानी-मानी विज्ञान पत्रिका 'साइंस' में प्रकाशित निष्कर्षों से पता चलता है कि एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन दोनों मस्तिष्क में न्यूरॉन्स की एक छोटी हिस्से पर संतान आने से पहले ही माता के व्यवहार को ऑन करने के लिए कार्य करते हैं।  इन अनुकूलन के परिणामस्वरूप बच्‍चों को मजबूत और अधिक चयनात्मक प्रतिक्रियाएँ मिलीं। यह सर्वविदित है कि जबकि मां बनने से पहले मादा चूहिया...

  • क्या खाने से दिमाग होगा तेज?

    दिमाग तेज होने का मतलब है दिमाग की तेज रफ्तार गतिविधियों का और तेजी से पूरा होना। और ये होगा ब्रेन में ब्लड सप्लाई बढ़ाने वाले फ्लेवेनॉयड संपन्न खान पान से।जर्नल ऑफ एग्रीकल्चरल एंड फूड केमिस्ट्री में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, जामुन यानी इंडियन ब्लैकबेरी खाने से न्यूरॉन्स की एक दूसरे से कम्युनीकेट करने की क्षमता सुधरती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सी़डेंट्स, फ्री-रेडिकल्स से लड़कर ब्रेन इन्फ्लेमेशन घटाते हैं, जिससे याददाश्त तेज, फाइन मोटर कंट्रोल यानी क्वार्डीनेशन इम्प्रूव और बढ़ती उम्र में डिमेन्शिया का रिस्क कम होता है। सभी अभिभावक चाहते हैं कि उनके बच्चे इंटेलीजेंट हों। और इस चाहत...