JDS

  • जेडीएस से भाजपा का तालमेल जारी!

    यह कमाल की बात है कि भारतीय जनता पार्टी जेडीएस के सांसद और हासन सीट से एनडीए के उम्मीदवार प्रज्ज्वल रेवन्ना के ऊपर लगे आरोपों की आलोचना कर रहे हैं, कई तरह की बातें कर रहे हैं लेकिन तालमेल खत्म नहीं कर रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि उनकी पार्टी महिलाओं पर अत्याचार करने वालों का साथ नहीं देती है। इसी तरह कर्नाटक के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र ने कहा कि अगर प्रज्ज्वल रेवन्ना के बारे में पहले से पता होता तो उनको गठबंधन की ओर से उम्मीदवार नहीं बनाया गया होता। अब उनकी...

  • सुमनलता अंबरीश क्या फिर निर्दलीय लड़ेंगी

    यह लाख टके का सवाल है कि कर्नाटक में इतने जतन से सजाया गया भाजपा का खेल कितना चल पाएगा? भाजपा ने एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस के साथ तालमेल किया और निर्दलीय सांसद सुमनलता अंबरीश को भी पार्टी में शामिल कर लिया। लेकिन मुश्किल यह थी कि देवगौड़ा परिवार हर हाल में मांड्या सीट पर चुनाव लड़ने के लिए अड़ा हुआ था। वह परिवार का पुराना गढ़ रहा है। जेडीएस हासन और मांड्या सीट नहीं छोड़ सकती थी। मजबूरी में भाजपा को मांड्या सीट देवगौड़ा की पार्टी के लिए छोड़नी पड़ी। गौरतलब है कि सुमनलता अंबरीश इसी सीट से...

  • चंडीगढ़ के बाद कर्नाटक में दूसरी जीत

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ (INDIA)  चंडीगढ़ के मेयर के चुनाव (Chandigarh Mayor Election) में पहली जीत मिली। हालांकि वह जीत बड़ी मशक्कत के बाद और सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद मिली। लेकिन यह मामूली बात नहीं है कि कांग्रेस (Congress) और आम आदमी पार्टी (AAP) ने सात साल के बाद चंडीगढ़ के मेयर का पद भाजपा से छीन लिया। यह जीत इसलिए अहम है क्योंकि विपक्ष से इसे छीनने के लिए भाजपा ने सारे हथकंडे अपनाए थे। स्पष्ट धांधली करके जीतने के बाद भाजपा नेताओं ने विपक्षी गठबंधन पर हमला किया था और कहा था कि गठबंधन एक...

  • जेडीएस को चार या पांच सीट

    कर्नाटक में भाजपा और जनता दल एस के बीच तालमेल हो गया है लेकिन सीटों का बंटवारा अभी बाकी है। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने जेडीएस की ओर से सीटों की बात करने का जिम्मा पूरी तरह से अपने बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी पर छोड़ा है। बताया जा रहा है कि एक या दो दिन में भाजपा के साथ सीट बंटवारे को लेकर चर्चा होगी। पहले खबर आई थी कि भाजपा की ओर से जेडीएस के लिए तीन या चार सीटें छोड़ी जाएंगी लेकिन जेडीएस पांच सीट से कम सीट पर सहमत नहीं है। वह अपने असर वाले...

  • क्या जेडीएस के विधायक अब सुरक्षित हैं?

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • अस्तित्व की चिंता में अकेले देवगौड़ा की नहीं

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • देवगौड़ा ने किया गठबंधन का ऐलान

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • कर्नाटक में भाजपा को नचाएगी जेडीएस

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • भाजपा क्या देगी जेडीएस को?

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • कर्नाटक में जेडीएस से तालमेल का विरोध

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • भाजपा क्या जेडीएस से तालमेल करेगी?

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • देवगौड़ा की पार्टी का क्या होगा?

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • कांग्रेस-जेडीएस में अंदरखाने तालमेल होगा!

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • डीकेएस बनाम देवगौड़ा

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • जेडीएस की राजनीति दिलचस्प होगी

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • कांग्रेस, जेडीएस पर शाह का हमला

    पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस ने भाजपा से तालमेल कर लिया है। इस तालमेल से पहले देवगौड़ा ने कहा था कि वे पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए भाजपा से तालमेल कर रहे हैं। तभी सवाल है कि क्या तालमेल के बाद अब जेडीएस का अस्तित्व सुरक्षित हो गया? असल में अभी ऐसा लग रहा है कि जेडीएस ने तालमेल इसलिए किया है ताकि अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़ कर दो-तीन सीटें पर जीत मिल जाए तो देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की राजनीति चलती रहे। लेकिन यह सिर्फ लोकसभा चुनाव में कुछ सीटें जीतने...

  • और लोड करें