• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

मोहन कुमार

सुशील मोदी की मंत्री बनने की बेचैनी

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जब इस बार राज्य सरकार में जगह नहीं मिली और पार्टी आलाकमान ने उनको राज्यसभा में भेजा तो वे इस तैयारी के साथ दिल्ली आए थे कि आते ही केंद्र में...

पूर्वोत्तर की चिंता में हिमंता को कमान

छह साल पहले कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए हिमंता बिस्वा सरमा को असम का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला भाजपा के लिए आसान नहीं था। भाजपा ने वैचारिक प्रतिबद्धता की कसौटी को किनारे करके सरमा को मुख्यमंत्री बनवाया।...

चुनाव आयोग के खिलाफ ममता ने दिया धरना

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव प्रचार करने पर 24 घंटे की पाबंदी लगाने के चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ मंगलवार को कोलकाता में महात्मा गांधी की मूर्ति के आगे धरना दिया। ममता बनर्जी दोपहर 12...

सामान्य से अच्छी बारिश के आसार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों से आंदोलित और परेशान किसानों के लिए अच्छी खबर है। इस साल मॉनसून समय पर आएगा और सामान्य से अच्छी बारिश होने के आसार भी हैं। मौसम की जानकारी देने...

अब ट्रिपल इंजन की सरकार का नारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डबल इंजन की सरकार का एक नारा दिया था। जिस राज्य में भाजपा की सरकार नहीं है वहां वे डबल इंजन की सरकार के जरिए विकास का वादा करते हैं और डबल इंजन की सरकार...

महा विकास अघाड़ी का मामला सुलझा

शरद पवार की क्या राजनीति है, इस पर कांग्रेस में इन दिनों बहुत मंथन चल रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी प्रचार में नहीं जा रही हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि उन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया है।...

कोरोना की बढ़ती चुनौती

कोरोना वायरस महामारी में नया पहलू जुड़ गया है। कोविड-19 वायरस के नए संस्करण (स्ट्रेन) दुनिया के लिए बड़ी चुनौती बन गए हैं। इनकी वजह से अमेरिका सहित कई देशों में कोरोना वायरस संक्रमण की अगली लहर आ चुकी...

सुप्रीम कोर्ट के सम्मान की धज्जियां!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को केरल में चुनाव प्रचार करते हुए केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन पर तीखा हमला किया और आरोप लगाया कि राज्य की वामपंथी सरकार धार्मिक स्थलों को अस्त-व्यस्त किया। उन्होंने सबरीमाला मंदिर के भक्तों...

कर्नाटक में नैतिकता के नए पैमाने

कर्नाटक की भाजपा सरकार के नेता, मंत्री नैतिकता के नए पैमाने गढ़ रहे हैं। हैरानी की बात है नैतिकता, पवित्रता, आचरण आदि की सबसे ज्यादा बात करने वाली पार्टी या उसके मातृ संगठन आरएसएस की ओर से इस बारे में पहल करके कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। यह तब हो रहा है, जब भाजपा के संगठन महामंत्री बीएल संतोष कर्नाटक के ही हैं। ध्यान रहे राज्य की भाजपा सरकार के एक मंत्री रमेश जारकिहोली सेक्स सीडी के मामले में फंसे तो उनको इस्तीफा देना पड़ा है। वह सीडी आने के बाद छह मंत्रियों ने अदालत में जाकर अपने बारे में ऐसी किसी सीडी पर रोक लगाने की मांग की और अदालत ने रोक भी लगा दी। अब संभावित सीडी पर रोक लगवाने वाले एक मंत्री के सुधाकर ने कहा है कि कर्नाटक विधानसभा के सदस्यों में कोई दूध से धुला नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी 225 विधायकों की जांच होनी चाहिए, जिससे पता चले कि उनके दूसरी महिलाओं से संबंध हैं या नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि सब मर्यादा पुरुषोत्तम बन रहे हैं, जांच हो तो हकीकत का पता चले। उन्होंने विपक्ष के नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया और एचडी कुमारस्वामी के साथ साथ पूर्व स्पीकर का भी नाम लिया और सवालिया लहजे में कहा कि क्या ये सब लोग पाक-साफ हैं? सोचें, भाजपा का एक मंत्री सभी विधायकों के बदचलन होने की बात करके खुद की संभावित बदचलनी को सही ठहराने का प्रयास कर रहा है!

अमेरिकाः बंदूकबाजी कैसे रुके ?

अमेरिका यों तो अपने आप को दुनिया का सबसे अधिक सभ्य और प्रगतिशील राष्ट्र कहता है लेकिन यदि आप उसके पिछले 300-400 साल के इतिहास पर नजर डालें तो आपको समझ में आ जाएगा कि वहां इतनी अधिक हिंसा...

Latest News

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम...