• पीएम को भी अब चाहिए सहानुभूति!

    चुनाव में कई बार बहुत दिलचस्प चीजें देखने को मिलती हैं। इस समय दो बड़ी पार्टियों के नेता जेल में बंद हैं। आम आदमी पार्टी के संस्थापक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता व राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जेल में बंद हैं। केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल और हेमंत की पत्नी कल्पना सोरेन दोनों लोगों के बीच जा रहे हैं और सहानुभूति हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों का राजनीतिक दांव यह है कि उनके पति को ऐन चुनाव से पहले गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया गया ताकि वे...

  • चुनावी बॉन्ड पर क्यों आक्रामक?

    राजनीतिक चंदे के लिए नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लाई गई चुनावी बॉन्ड की योजना को सुप्रीम कोर्ट ने जब अवैध घोषित किया और उस पर रोक लगाई तब से भारतीय जनता पार्टी सदमे में है और बैकफुट पर भी है। पार्टी के नेताओं को समझ में नहीं आया कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कैसे आलोचना करें और चुनावी बॉन्ड की योजना का कैसे बचाव करें। इसका नतीजा यह हुआ कि विपक्ष को इसे भ्रष्टाचार बताने का मौका मिल गया। सभी विपक्षी पार्टियों ने चुनाव में इसे मुद्दा बनाया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी का तो जाति गणना और आरक्षण के...

  • केंद्रीय सचिवों में क्या बड़ा बदलाव होगा?

    भारत सरकार के आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के सचिव मनोज जोशी को अचानक हटा दिया गया। लोकसभा चुनाव से पहले अकेले एक सचिव को हटाया गया है। तभी यह सवाल उठ रहा है कि क्या केंद्र सरकार में सचिवों के स्तर पर और बदलाव होंगे या यथास्थिति रहेगी? एक अकेले सचिव के तबादले से सवाल भी उठे हैं। मनोज जोशी को आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से हटा कर ग्रामीण विकास मंत्रालय के भू संपदा विभाग में भेज दिया गया है। यह भी सवाल उठ रहा है कि क्या यह किसी तरह की पनिशमेंट है? असल में...

  • मोदी की फोटो वाले बैग का 15 करोड़ का टेंडर

    दो साल पहले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के समय यह देखने को मिला था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो वाले थैले बड़ी संख्या मे खरीदे गए थे और उसमें लाभार्थियों को राशन बांटे गए थे। लोकसभा चुनाव से पहले फिर एक बार ऐसा ही देखने को मिल रहा है। अलग अलग राज्यों में राशन बांटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरों वाले थैले खरीदे जा रहे हैं। pm modi photo bags ध्यान रहे अलग अलग योजना का लाभार्थी वर्ग भाजपा का सबसे बड़ा समर्थक वर्ग है। पांच किलो मुफ्त अनाज की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण...

  • मोदी का बिहार दौरा क्यों रद्द हुआ?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 जनवरी को बिहार जाने वाले थे। महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण के बेतिया से उनको बिहार में लोकसभा चुनाव के अभियान का आगाज करना था। कई सरकारी कार्यक्रम भी थे। रेलवे और गैस पाइप लाइन सहित कोई साढ़े छह हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास उनको करना था। इसके बाद बेतिया के रमना मैदान में उनकी सभा होनी थी। वहां से प्रधानमंत्री को झारखंड के धनबाद जाना था और वहां से झारखंड में लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत करनी थी। लेकिन पहले धनबाद का दौरा रद्द हुआ और फिर बेतिया का कार्यक्रम भी...

  • सात दिन का अनुष्ठान और यजमान मोदी

    अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान सात दिन तक चलेगा। इस सात दिन के अनुष्ठान के लिए अभी से तैयारी शुरू हो गई है। 16 जनवरी से शुरू हो रहे सात दिन के अनुष्ठान से पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या का दौरा करने की योजना है। वे 30 दिसंबर को नए हवाईअड्डे का उद्घाटन करेंगे और 15 किलोमीटर लंबा रोड शो करेंगे। प्रधानमंत्री 16 जनवरी से राम मंदिर कार्यक्रम के यजमान के तौर पर अनुष्ठान में शामिल होंगे। पहले दिन 16 जनवरी को यजमान यानी प्रधानमंत्री मोदी सरयू में स्नान...

  • प्रधानमंत्री मोदी के सिनेमाई डायलॉग्स

    हिंदी पट्टी के तीन राज्यों में भाजपा की जीत के बाद प्रधानमंत्री का सोशल मीडिया अकाउंट पूरी तरह से बदला हुआ दिख रहा है तो खुद प्रधानमंत्री के भाषण और देह भंगिमा भी बदली हुई है। पिछले कुछ समय से ऐसा देखने को मिल रहा है कि उनके भाषणों में या उनको लेकर चल रहे भाजपा के प्रचार अभियान में सिनेमाई डायलॉग्स की तर्ज पर डायलॉग बढ़ गए हैं। अमिताभ बच्चन की एक फिल्म के मशहूर डायलॉग की तर्ज पर पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने एक कार्यक्रम में कहा- बाकी सबकी उम्मीदें जहां खत्म हो जाती हैं वहां से मेरी...

  • स्वामी को रूड़ी ने दिया जवाब

    भाजपा के पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रह्मण्यम स्वामी पिछले कुछ समय से केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर बहुत हमलावर हैं। वे चीन के मामले में, कूटनीति के  मामले में और आर्थिक नीतियों के मामले में सरकार पर हमला करते हैं। लेकिन भाजपा की ओर से कोई उनको जवाब नहीं देता है। यहां तक की आईटी सेल की ओर से भी किसी बात का जवाब नहीं दिया जाता है और न कोई उनको ट्रोल करता है। लेकिन इस बार भाजपा के सांसद राजीव प्रताप रूड़ी ने उनको जवाब दिया है। स्वामी ने लड़ाकू विमान तेजस में...

  • मोदी क्या मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्या अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे? यह लाख टके का सवाल है, जिसका जवाब सिर्फ मोदी को मालूम है। लेकिन केंद्र में मंत्री बनने की आस लगाए भाजपा और सहयोगी पार्टियों के कई नेता उम्मीद कर रहे हैं कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। पहले कहा जा रहा था कि तीन दिसंबर को नतीजे आने और 14 दिसंबर को मलमास शुरू होने के बीच किसी दिन विस्तार हो सकता है। हालांकि चार दिसंबर से संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत होनी है। इसलिए सत्र के बीच मंत्रिमंडल विस्तार की संभावना नहीं...

  • झारखंड में मोदी की क्या योजना है?

    झारखंड को लेकर भाजपा की राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। अब तक भाजपा की योजना के तहत सिर्फ यह दिखाई दे रहा था कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को चौतरफा घेरा जा रहा है। केंद्रीय एजेंसियां उनके करीबियों पर कार्रवाई कर रही है और उनके व उनके परिवार के लोगों पर शिकंजा कस सकता है। पिछले दो साल से ज्यादा समय से रोज भाजपा के नेता हेमंत सरकार गिर जाने और मुख्यमंत्री के जेल जाने का नैरेटिव बनाए हुए थे। इस दौरान राजनीतिक गतिविधियां पूरी तरह से ठप्प थीं। अब अचानक राजनीति तेज हो गई है और हेमंत सरकार के...

  • शांति निकेतन में आचार्य नरेंद्र मोदी!

    महात्मा गांधी से जुड़ी जगहों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी बड़ी तस्वीरें और नाम लगाने के बाद अब गुरुदेव रबिंद्रनाथ टैगोर की बारी है। गुरुदेव के बनाए विश्व भारती विश्वविद्यालय में एक नाम पट्टिका लगी है, जिस पर आचार्य के रूप में नरेंद्र मोदी का नाम लिखा है। नाम पट्टिका में एक तरफ लिखा है आचार्य हैं मोदी तो दूसरी ओर उप आचार्य हैं विश्वविद्यालय के कुलपति बिद्युत चक्रवर्ती। ध्यान रहे कोरोना के समय प्रधानमंत्री मोदी ने बाल और दाढ़ी बढ़ाई थी तब भी कहा जा रहा था कि वे गुरुदेव का लुक बना रहे हैं ताकि 2021 के...

  • जाति गणना को ट्विस्ट देने की कोशिश

    बिहार में जाति गणना के आंकड़े सार्वजनिक होने के बाद से भाजपा और उसकी सहयोगी पार्टियों के नेता परेशान हैं। उनको इसकी काट खोजनी है। तभी बिहार में भाजपा के नेता किसी तरह से इसका श्रेय लेने में जुटे हैं तो दूसरी ओर इसमें कमी भी निकाल रहे हैं। सुशील मोदी ने कहा कि जाति गणना का फैसला जिस समय हुआ उस समय भाजपा सरकार में शामिल थी और उसने इसकी मंजूरी दी थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बुलाई सर्वदलीय बैठक में शामिल हुए भाजपा नेता हरि सहनी ने कहा कि कई जातियों की उपजातियों की अलग गिनती हुई है,...

  • प्रधानमंत्री माइंड गेम खेल रहे हैं

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी पार्टियों के साथ साथ देश के मतदाताओं के साथ भी माइंड गेम खेल रहे हैं। वे बार बार यह बता रहे हैं कि अगले साल के लोकसभा चुनाव का नतीजा पहले से तय है। विपक्षी पार्टियां कुछ भी कर लें वे भाजपा और मोदी को नहीं हरा पाएंगी। प्रधानमंत्री ने यह बात सबसे पहले स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से कही थी। उन्होंने पूरे आत्मविश्वास के साथ कहा था कि वे अगले साल भी लाल किले से झंडा फहराएंगे। उन्होंने एक बार भी यह नहीं कहा कि उनके दूसरे कार्यकाल का आखिरी मौका है,...

  • समान नागरिक संहिता पर क्या हो रहा है?

    क्या केंद्र सरकार जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई कमेटी की सिफारिशों के आधार पर देश में समान नागरिक कानून लागू करेगी? इस मामले की क्रोनोलॉजी देख कर ऐसा लग रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 जून को भोपाल में एक कार्यक्रम में समान नागरिक संहिता की वकालत की, जिसके तेजी से घटनाक्रम शुरू हुआ। एक तरफ उत्तराखंड सरकार द्वारा इस मसले पर बनाई गई समिति के सदस्य विधि आयोग से मिले तो दूसरी ओर विधि आयोग आम लोगों से इस पर राय मांगी और खुद प्रधानमंत्री मोदी ने कह दिया था कि एक घर दो कानून से नहीं चल सकता...

  • व्हाट्सऐप चैनल पर मोदी, राहुल, केजरीवाल

    सोशल मीडिया का कोई प्लेटफॉर्म ऐसा नहीं है, जहां देश के बड़े और लोकप्रिय नेता सक्रिय नहीं हैं। कोई भी नया प्लेटफॉर्म आते ही नेता उस पर अपना अकाउंट बना लेते हैं और लाखों लोग उसे फॉलो भी करने लगते हैं। फेसबुक से लेकर ट्विटर यानी एक्स और इंस्टाग्राम पर सभी बड़े नेताओं के अकाउंट हैं और लाखों-करोड़ों फॉलोवर हैं। अब दो दिन के अंतराल में देश के तीन बड़े नेताओं ने व्हाट्सऐप का चैनल ज्वाइन किया है। पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना व्हाट्सऐप चैनल शुरू किया। इसके तुरंत बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी के...

  • क्या मोदी को मिलेगा श्रेय?

    महिला आरक्षण बिल, जिसे नारी शक्ति वंदन अधिनियम के तौर पर पेश किया गया है उसका श्रेय क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिल पाएगा? इसे लेकर दो राय है। भाजपा के ही नेता मान रहे हैं कि अगल अगले साल के लोकसभा चुनाव में इसे लागू कर दिया जाता तब तो प्रधानमंत्री मोदी को इसका श्रेय मिल जाता। लेकिन अगर यह 2029 के लोकसभा चुनाव तक टला रहता है तो उस समय तक श्रेय लेने का समय निकल जाएगा। उनका सवालिया लहजे में यह कहा था कि अभी तत्काल इस कानून का श्रेय कैसे किसी को मिल सकता है, जबकि...

  • कनाडा मानों भारत का नया पाकिस्तान!

    भारत के लिए ऐसा लग रहा है कि कनाडा नया पाकिस्तान बन रहा है। कनाडा के साथ उसी तरह तनाव बढ़ रहा है, जैसे किसी जमाने में पाकिस्तान के साथ बढ़ा था। हालांकि पाकिस्तान पड़ोसी है और कनाडा व भारत के बीच 10 हजार किलोमीटर से ज्यादा की दूरी है। दोनों की सीमा भले नहीं लगती है लेकिन विवाद उसी तरह से बढ़ रहा है। कनाडा ने भारत सरकार पर आरोप लगाया है कि उसने एक सिख नेता की हत्या कराई। ट्रुडो ने संसद में कहा कि कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में भारत सरकार के एजेंटों ने सिख नेता हरदीप...

  • रहस्य और रोमांच से भरा संसद सत्र!

    ऐसा लगता है कि नरेंद्र मोदी की सरकार को रहस्य और रोमांच बहुत पसंद है। तभी सरकार अपने फैसले को, अपने एजेंडे को आखिरी समय तक रहस्य बना कर रखती है और एकदम से सबको चौंका देती है। सरकार का यह आचरण उसके अपने कामकाज में दिखता ही है संसद सत्र में भी दिखता है। अन्यथा कोई कारण नहीं था कि सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाए और उसका एजेंडा इतना गोपनीय रखे की किसी को उसकी जानकारी न हो। विपक्ष की ओर से बार बार सवाल उठाए जाने के बाद सरकार ने विशेष सत्र का एक एजेंडा बताया है...

  • जी-20 का प्रचार चलता रहेगा

    जी-20 शिखर सम्मेलन का प्रचार तुरंत थमने वाला नहीं है। संसद के विशेष सत्र और उसके बाद पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भी इसे मुद्दा बनाया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस बड़े आयोजन का अधिकतम प्रचार करने और अधिकतम लाभ लेने की योजना पर काम कर रहे हैं। तभी शिखर सम्मेलन खत्म होने के बाद से हर दिन कोई न कोई कार्यक्रम हो रहा है, जो इससे जुड़ा हुआ है। जैसे सम्मेलन के अगले दिन प्रधानमंत्री मोदी भारत मंडपम गए, जहां क्राफ्ट का मेला लगा हुआ है। उन्होंने विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के साथ सुषमा स्वराज भवन में...

  • विशेष सत्र का असली एजेंडा क्या?

    संसद के विशेष सत्र का एक एजेंडा बुधवार की शाम को लोकसभा की ओर से एक सूचना के तौर पर जारी की गई। इसमें बताया गया कि सामान्य कामकाज यानी दस्तावेज आदि सदन के पटल पर रखे जाने के अलावा संसदीय प्रणाली की 75 साल की यात्रा, उपलब्धियों आदि के बारे में चर्चा होगी। इसमें कहा गया कि संविधान सभा से शुरू करके इसकी उपलब्धियों और इससे मिली सीख के बारे में चर्चा होगी। इसके अलावा चार सामान्य बिल पास कराए जाएंगे। इनमें से दो बिल- एडवोकेट संशोधन बिल और सावधि प्रकाशनों का पंजीकरण और प्रेस बिल पहले राज्यसभा से...

और लोड करें