Lord Vishnu

  • पाप का नाश करने वाली है पापमोचनी एकादशी

    पौराणिक ग्रन्थों के अनुसार चैत्र कृष्ण पक्ष की एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। मनुष्य के समस्त पापों के नाश और सुख- समृद्धि की प्राप्ति हेतु पापमोचनी एकादशी व्रत किये जाने की प्राचीन परिपाटी भारत में प्रचलित है। पापमोचनी एकादशी का अर्थ है पाप को नष्ट करने वाली एकादशी। इस दिन निंदित कर्म तथा मिथ्या भाषण सर्वथा वर्जित हैं। लोक मान्यतानुसार चैत्र कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि का व्रत समस्त पापनाशक और जीवन में सुख-समृद्धि प्रदायक है। 17 मार्च 2023 को पापमोचिनी एकादशी संसार के सभी मनुष्य पापकर्म के फल से डरते हैं। लेकिन इन्द्रिय के वशीभूत होकर कभी...