औरंगज़ेब,जिन्ना व ओवैसी से क्या जीतेगी भाजपा?

प्रादेशिकी- बीजेपी ने उत्तरप्रदेश के चुनाव में औरंगज़ेब के साथ बाबर जैसे मुग़ल शासकों को घसीट लिया है।

सपा की साख बिगाड़ने का फायदा ओवैसी को

कांग्रेस पार्टी अपनी राजनीतिक नासमझी में उत्तर प्रदेश का चुनाव खराब कर रही है।

Uttar Pradesh : वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण ने ओवैसी के घेरते हुए मुस्लिम समाज को बता दिया आतंकी गिरोह…

ओवैसी चाहे तो 10-15 शादियां कर लें और उनसे कई बच्चे पैदा कर लें वे शहादत के काम आएंगे. जितेंद्र नारायण त्यागी ने…

Uttar Pradesh : असदुद्दीन ओवैसी की जनसभा स्थगित, पार्टी का विरोध…

AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी की मेरठ में शनिवार को होने वाली जनसभा प्रशासनिक अनुमति न मिलने…

AIMIM नेता ने दोस्त के साथ महिला का ‘हलाला’ कराने की कोशिश की, दर्ज हुई FIR…

पुलिस ने महिला की शिकायत पर पूर्व पति पर छेड़खानी अपराधिक साजिश का मामला दर्ज किया यहां बता दें कि आरोपी रियाजुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM से जुड़ा है…

चूड़ी बेचने वाले के बाद यहां भिखारी की पिटाई, कहा- ‘तू पाकिस्तान जा, वहां तुझे भीख मिलेगी’ (Watch Video)

भिखारी की पिटाई का वीडियो बना लिया जो अब सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो में साफ तौर पर यह सुना जा सकता है कि कुछ लोग भिखारी को पाकिस्तान में जाकर भीख मांगने की नसीहत देते दिख रहे हैं.

Bengal election 2021 : ओवैसी की बारात छोड़कर दुल्हा हुआ फरार !

KolKata : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 (Bengal election)  देश भर में चर्चा का विषय बना हुआ है. चुनावों की घोषणा के पहले ओवैसी (owaisi)  की पार्टी  AIMIM को भी एक मजबूत पक्ष के रूप में देखा जा रहा था. लेकिन  मौजूदा हाल में बंगाल का यह रण BJP और TMC के बीच ही दिखाई देता है. ताजा जानकारी के अनुसार असादुदीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के राज्य प्रभारी ने ही पाला बदल दिया है. AIMIM के पश्चिम बंगाल प्रभारी जमीर उल हसन ने पार्टी छोड़कर ममता दीदी का साथ देने का फैसला लिया है. इस खबर के फैलने के बाद से लोगों ने सोशल मीडिया में जमकर ओवैसी की क्लास लगाई. सोशल मीडिया (SOCIAL MEDIA) पर ए यूजर ने यहां तक लिख दिया कि बंगाल में ओवैसी की बारात का घोड़ा ही बारात छोड़कर भाग गया है. पार्टी बदलने के बाद हसन ने नंदीग्राम सीट पर सीएम ममता बनर्जी (MAMTA BANERJEE ) का समर्थन करने का फैसला लिया. TMC में शामिल होते ही उन्होंने भाजपा पर कड़ा हमला किया और TMC  के पुराने सहयोगी सुरेंद्र अधिकारी को मीर जाफर बता दिया. इसे भी पढ़ें- रांची में पति के अवैध संबंध से परेशान होकर निशानी मिटाने के लिए बेटी को बोरी… Continue reading Bengal election 2021 : ओवैसी की बारात छोड़कर दुल्हा हुआ फरार !

शिवपाल और ओवैसी की मुलाकात, यूपी में नए समीकरण के संकेत

उत्तर प्रदेश में भले ही विधानसभा चुनाव अगले साल होने हैं। लेकिन रणनीति अभी से तैयार हो रही है। सपा, बसपा के अलावा मिशन 2022 के लिए छोटे दलों ने भी अपनी खिचड़ी पकानी शुरू कर दी है।

ओवैसी को मुख्य विपक्ष कौन बना रहा है?

ऐसा लग रहा है कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया एमआईएम देश में मुख्य विपक्षी पार्टी बन रही है। अगर मुख्य विपक्षी नहीं तो कम से कम भाजपा की सबसे बड़ी विरोधी पार्टी के तौर पर उभर रही है

शाह के निशाने पर केसीआर और ओवैसी

एक दिसंबर को होने वाले ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी उतरे।

ओवैसी, अंसारी पहले समझे तो हिंदुत्व को !

Owaisi, Ansari understand first : ठंड में कोरोना के बढ़ते प्रसार और उसकी चिंताओं के बीच पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और असदुद्दीन ओवैसी …

असम नहीं जाएंगे ओवैसी

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम ने बिहार विधानसभा चुनाव में कमाल का प्रदर्शन किया। पिछले ही साल पार्टी ने उपचुनाव में एक विधानसभा सीट जीत कर खाता खोला था और इस साल चुनाव में पांच सीटें जीत लीं।

झारखंड: लोजपा 37 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने आज कहा कि झारखंड में हो रहे विधानसभा के चुनाव में उनकी पार्टी 37 सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ने को तैयार है।

झारखंड में विपक्ष का हुआ गठजोड़

रांची। झारखंड में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के खिलाफ झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राजद ने गठबंधन बनाया हैं। तीनों दलों ने शुक्रवार को सीटों के बंटवारे की घोषणा की जिसके अनुसार झामुमो 43, कांग्रेस 31 और राजद सिर्फ सात सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और राज्य के कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने आज यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में इस महागठबंधन की घोषणा की। दोनों नेताओं ने सीटों के बंटवारे की घोषणा करते हुए बताया कि तीनों पार्टियों में महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ने की सहमति बन गयी है। यह पूछे जाने पर कि रांची में होते हुए भी राजद के नेता और लालू के बेटे तेजस्वी यादव संवाददाता सम्मेलन में क्यों नहीं आये, दोनों नेताओं ने कहा कि राजद उनके महागठबंधन में शामिल है और उनके साथ सिर्फ कुछ और सीटों पर बातचीत रह गयी है। महागठबंधन में झारखंड विकास मोर्चा और वाम दल नहीं शामिल हुए हैं। वे अपने दम पर चुनाव लड़ेंगे। झारखंड में 30 नवंबर को प्रारंभ होकर 20 दिसंबर तक कुल पांच चरणों में 81 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होना है। मतगणना और उसके बाद परिणाम की घोषणा 23 दिसंबर को होगी।

झारखंड: महागठबंधन की सीटों का ऐलान, हेमंत सोरेन सीएम उम्मीदवार

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी महागठबंधन में सीटों का बंटवारा हो गया है। राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा 43 और कांग्रेस 31 सीटों पर चुनाव लड़ेगी तथा राष्ट्रीय जनता दल को सात सीटें दी गई हैं। झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह ने यह जानकारी दी। कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 30 नवंबर से पांच चरण में शुरू हो रहे विधानसभा चुनाव में झामुमो 43, कांग्रेस 31 और राजद सात सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करेगा । इसी तरह प्रथम चरण में 13 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में छह सीट झामुमो, चार सीट कांग्रेस और तीन सीट राजद के खाते में गई हैं। श्री सिंह ने कहा कि यह विधानसभा चुनाव झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन के नेतृत्व में लड़ा जाएगा और महागठबंधन की ओर से श्री सोरेन ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के घटक दलों के बीच विधानसभा की किसी भी सीट पर दोस्ताना संघर्ष नहीं होगा और जो दल ऐसा करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि देवघर, गोड्डा, कोडरमा, चतरा, बरकट्ठा, छतरपुर और हुसैनाबाद सीट राजद के हिस्से में आयी… Continue reading झारखंड: महागठबंधन की सीटों का ऐलान, हेमंत सोरेन सीएम उम्मीदवार

और लोड करें