धर्म के लिए परिश्रम करने की जरूरत है : डॉ. भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने कहा है कि ‘केसरी’ का उद्देश्य धर्म के मार्ग की स्थापना करना है, विजय मिलना या न मिलना मायने नहीं रखता है।

सिंधिया की संगठन और संघ से बढ़ती नजदीकियां

कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की संगठन के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी

संघ परिवार: कल और आज

सीताराम गोयल ने पाया था, ‘‘कि आरएसएस और बीजेएस (भारतीय जनसंघ) के बड़े-बड़े नेता अपना लगभग सारा समय और ऊर्जा यह प्रमाणित करने में खर्च करते थे कि वे हिन्दू संप्रदायवादी नहीं, बल्कि सच्चे सेक्यूलर हैं

गोविंदाचार्य को नीति आयोग में लाना चाहिए : सिंह

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने आज कहा कि वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वदेशी आंदोलन के समर्थक रहे हैं और ‘स्वदेशी’ के लिए कार्य करने वाले के एन गोविंदाचार्य से उनकी काफी अच्छी मित्रता भी है।

भागवत रविवार को कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत कोविड-19 संकट के मद्देनजर मौजूदा स्थिति पर रविवार को अपने कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन संबोधित करेंगे। संघ ने यह जानकारी दी।

आरक्षण पर उठा नया विवाद

आरक्षण के सवाल पर एक नया सियासी विवाद खड़ा होता दिखता है। कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल इसको लेकर पहले ही सरकार पर निशाना साध चुके हैं। तेजस्वी यादव इस मुद्दे पर सड़क पर उतरने का एलान कर चुके हैं। कहा जा सकता है कि अब जबकि बिहार विधान सभा के चुनाव की बिसात बिछने वाली है, उन्हें इससे बेहतर मुद्दा नहीं मिल सकता था। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा कि सरकारी पदों पर पदोन्नति में आरक्षण को एक मौलिक अधिकार के रूप नहीं मांगा सकता। जस्टिस एल. नागेश्वर राव और हेमंत गुप्ता की खंडपीठ ने पिछले हफ्ते कहा कि राज्य सरकारें प्रमोशन में आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं हैं। यहां तक कि अदालतें ऐसे मामलो में आरक्षण प्रदान करने के लिए राज्यों को निर्देश जारी नहीं कर सकती हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने कहा- ‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि राज्य सरकार आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं है। पदोन्नति में आरक्षण का दावा करने के लिए किसी व्यक्ति के पास कोई मौलिक अधिकार नहीं है। अदालत द्वारा राज्य सरकार को आरक्षण प्रदान करने का निर्देश देने के संबंध में कोई आदेश जारी नहीं किया जा सकता है।’ यह निर्णय उत्तराखंड के लोक… Continue reading आरक्षण पर उठा नया विवाद

आरक्षण मसले पर संसद में हंगामा

नई दिल्ली। प्रमोशन में आरक्षण को लेकर शुक्रवार को आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सोमवार को संसद में जम कर हंगामा हुआ। विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह आरक्षण खत्म करने का प्रयास कर रही है। दूसरी ओऱ सरकार की तरफ से कहा गया है कि यह फैसला असल में उत्तराखंड की पिछली कांग्रेस सरकार के फैसले पर आई है। सरकार ने कहा कि 2012 में उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार ने ही प्रमोशन में आरक्षण देना बंद किया था, जिसके बाद यह मामला अदालत में पहुंचा था। सरकार के इस बयान के बाद कांग्रेस ने सदन से वाकआउट किया। सरकार के एससी, एसटी और ओबीसी विरोधी होने के विपक्षी पार्टियों के आरोप पर सरकार ने सोमवार को साफ किया कि वह एससी, एसटी के लिए आरक्षण को प्रतिबद्ध है। लोकसभा में इस मुद्दे पर अपने बयान में सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने कहा- केंद्र सरकार इस मुद्दे पर पक्षकार नहीं है और इस फैसले को लेकर उच्च स्तर पर विचार किया जा रहा है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि प्रमोशन में आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं है और राज्य सरकारें आरक्षण देने के लिए बाध्य… Continue reading आरक्षण मसले पर संसद में हंगामा

आरक्षण भाजपा, आरएसएस की विचारधारा के खिलाफ: राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को भाजपा व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर पदोन्नति में आरक्षण को लेकर जोरदार हमला किया। राहुल गांधी ने यह हमला सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के बाद किया, जिसमें कोर्ट ने कहा कि पदोन्नति में आरक्षण का दावा करना मौलिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ऐसा नहीं होने देगी और मोदी सरकार देश के सभी संस्थानों पर हमला कर रही है। उन्होंने कहा कि आरक्षण भाजपा और आरएसएस को पीड़ा पहुंचा रहा है और वे विभिन्न माध्यमों से व्यवस्था को खत्म करना चाहते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा, आरक्षण आरएसएस व भाजपा को पीड़ा दे रहा है। वे इसे खत्म करना चाहते हैं। हर रोज जब वे जागते हैं तो यह उन्हें परेशान करता है। चाहे जिस भी कल्पना में आरएसएस/भाजपा जीते है, हम इसे होने नहीं देंगे। उन्होंने कहा, मुद्दा यह है कि आरएसएस और भाजपा दलितों, जनजातियों व ओबीसी के आरक्षण के विचार के साथ नहीं जी सकते। यह उन्हें परेशान करता है और उन्होंने इसे मिटाने की कोशिश की है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने शीर्ष अदालत के फैसले के खिलाफ मुद्दा उठाया। चौधरी ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर… Continue reading आरक्षण भाजपा, आरएसएस की विचारधारा के खिलाफ: राहुल गांधी

परमेश्वरन के निधन पर मोदी का शोक

प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने पद्मविभूषण से अलंकृत राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ नेता पी परमेश्वरन के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

देश बदलने के लिए समाज को भी बदलना होगा- भागवत

गुना। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने शनिवार को कहा कि देश में बदलाव लाने के लिए समाज में भी बदलाव लाना आवश्यक है। भागवत ने यहां तीन दिवसीय युवा संकल्प शिविर में युवाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हम कुछ हासिल करना चाहते हैं तो हमें उसके लिए पुरुषार्थ भी करना होता है। इसी तरह देश में बदलाव लाने के लिए समाज में भी बदलाव लाना होगा। उन्होंने कहा कि आज के दौर में बगैर कुछ किये हासिल करने की लोगों की गलत आदत बन गयी है। यह ठीक नहीं है। सभी को समाज और देश में बदलाव लाने के लिए अपना अपना योगदान भी देना चाहिए। भागवत ने कहा कि आज हर व्यक्ति सामने आकर नेता बनने का प्रयास करता है, यह ठीक नहीं है। कुछ लोग कभी सामने नहीं आते, लेकिन वह नींव के पत्थर का काम करते हुए देश के हित में अपना जीवन लगा देते हैं। उनका नाम भी कोई नहीं जानता लेकिन उनके प्रयासों के कारण देश का नाम और ख्याति लगातार बढ़ रही है। संघ प्रमुख ने कहा कि आज हमें उन लोगों की पद्धति का अनुसरण करने का प्रयास करना चाहिए। हमारा व्यक्तित्व भी उन्हीं की तरह होना चाहिए।… Continue reading देश बदलने के लिए समाज को भी बदलना होगा- भागवत

जरूरी दो बच्चों का कानून: भागवत

मुरादाबाद। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने जनसंख्या नियंत्रण कानून की जरूरत बताई है। उन्होंने कहा है कि आरएसएस का अगला एजेंडा जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर देश भर में आंदोलन करने का है। उन्होंने कहा कि संघ हमेशा से दो बच्चों के समर्थन में रहे हैं। हालांकि, इस बारे में कानून बनाने का अंतिम फैसला केंद्र सरकार को करना है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार कानून बनाए तो संघ उसका समर्थन करेगा। संघ के एजेंडे को लेकर मुरादाबाद में पांच दिन एक कार्यक्रम चल रहा है, जिसमें भागवत ने गुरुवार को यह बात कही। उन्होंने कहा- सरकार को ऐसे कदम उठाने चाहिए, जिससे जनसंख्या पर लगाम लग सके। संघ प्रमुख ने संशोधित नागरिकता कानून का भी समर्थन किया। देश भर में नागरिकता संशोधन कानून पर जारी प्रदर्शन पर उन्होंने कहा- यह देश के हित में है, मगर कुछ लोग इसे लेकर विरोध कर रहे थे। उन्होंने कहा- अनुच्छेद 370 हटाने के बाद देश भर में उत्साह और आत्मविश्वास का माहौल था। इसके बाद नागरिकता कानून आया और फिर प्रदर्शन शुरू हो गए। जिन लोगों को इसे लेकर थोड़ा भी संशय है तो उन्हें इसकी हकीकत के बारे में बताया जाना चाहिए। उन्होंने दो टूक अंदाज में कहा- इस मामले में कदम पीछे… Continue reading जरूरी दो बच्चों का कानून: भागवत

भारत शांति के रास्ते तभी चल सकेगा, जब ताकतवर होगा : भागवत

मुरादाबाद (उत्तर प्रदेश)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि देश में हर जाति-धर्म का व्यक्ति हमारा अपना है और संघ सबको हिंदू समाज का अंग मानता है। उन्होंने कहा कि दुनिया में भारत को मजूबती के साथ खड़ा कराना संघ का यही लक्ष्य है। संघ के पश्चिम क्षेत्र के प्रचारकों व कार्यकर्ताओं से संवाद के लिए यहां चार दिवसीय प्रवास पर आए भागवत ने तीसरे दिन यहां एमआईटी सभागार में शुक्रवार को कहा कि भारत शांति के रास्ते पर तभी चल सकेगा, जब वह दुनिया में ताकतवर होगा। इसलिए देश को समर्थवान बनाना होगा। उन्होंने कहा रूस महाशक्ति बना, अमेरिका लगभग महाशक्ति है और चीन इस ओर बढ़ रहा है। ये महाशक्तियां क्या करती हैं..क्या ये दूसरों की जमीन नहीं हड़पतीं?, ये मानवाधिकारों का उल्लंघन नहीं करती? मगर इन्हें कोई दोष नहीं देता है, क्योंकि ये महाशक्तियां हैं। ‘समरथ को नहिं दोष गुसाईं’ (समर्थवान के दोष को नहीं देखना चाहिए) दुनिया ऐसे ही चलती है। भागवत ने आगे कहा स्वामी विवेकानंद कहा करते थे कि दुर्बलता ही पाप है, इसलिए निर्भय हो और शक्ति संपन्न बनों, तभी लोग अच्छी बाते मानते हैं। हम तो भलाई करते ही रहे हैं। स्वतंत्र होने के बाद भी… Continue reading भारत शांति के रास्ते तभी चल सकेगा, जब ताकतवर होगा : भागवत

जनसंख्या नियंत्रण कानून देश की जरूरत : भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन राव भागवत ने जनसंख्या नियंत्रण कानून की वकालत करते हुये कहा कि संघ के एजेंडे में इस विषय को शामिल किया जा चुका है

आरएसएस ने फर्जी कंटेंट को लेकर शिकायत दर्ज कराई

लखनऊ। सोशल मीडिया पर फर्जी कंटेंट को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के दो पदाधिकारियों ने लखनऊ के हजरतगंज और गोमती नगर पुलिस थानों में अज्ञात लोगों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कराई है। स्वयंसेवकों ने सोशल मीडिया पर ‘नया भारतीय संविधान’ शीर्षक वाली 16 पन्नों की एक पोस्ट को लेकर पुलिस में यह शिकायत की। आरएसएस के नेता ‘नगर कार्रवाई’ तुलाराम नरेश ने गोमती नगर और जिला संघ चालक लालता प्रसाद ने हजरतगंज पुलिस थाने में अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई। उन्होंने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि सोशल मीडिया पोस्ट में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की तस्वीर का प्रयोग कर संगठन और इसके नेताओं की छवि को खराब करने का प्रयत्न किया जा रहा है। इसमें आगे कहा गया है कि इस पोस्ट का कंटेंट समाज को तोड़ने और विभाजन पैदा करने वाला है। लखनऊ पुलिस का साइबर सेल इस पोस्ट के कंटेंट को लिखने और पोस्ट करने वालों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

संघ महिलाओं और गांवों में बनाएगा पैठ

इंदौर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत का छह दिन का इंदौर प्रवास खास मकसद को लेकर था, उन्होंने इस प्रवास के दौरान अखिल भारतीय स्तर से यहां पहुंचे पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को गांव में ज्यादा से ज्यादा सक्रिय होने का संदेश दिया। इसकी शुरुआत नागरिकता संशोधन कानून के पक्ष में माहौल बनाकर की जाएगी, साथ ही दलितों और महिलाओं के बीच पैठ बनाने पर भी संघ ने रणनीति बनाई। संघ प्रमुख मोहन भागवत 2 जनवरी को इंदौर पहुंचे थे। उन्होंने अपने इस प्रवास के दौरान तीन दिन तक जहां देश के विभिन्न हिस्सों से आए संघ के पदाधिकारी व प्रतिनिधियों से चर्चा की, वहीं अनुषांगिक संगठनों से जुड़े लोगों से संवाद किया। इसके अलावा उन्होंने विभिन्न सामाजिक संगठनों से चर्चा की। संघ के सूत्रों का कहना है कि संघ प्रमुख के इस प्रवास के दौरान मुख्य रूप से सीएए को लेकर देशभर में उपजे भ्रम पर चर्चा हुई और इस भ्रम को कैसे खत्म किया जाए, इस पर विचार विमर्श किया गया। यह भी पढ़ें:- आरएसएस की पांच दिन की बैठक शुरू तय किया गया है कि संघ अपने स्तर पर बौद्धिक कार्यक्रमों का आयोजन कर भ्रम को मिटाने का काम करेगा। साथ ही यह बताया जाएगा… Continue reading संघ महिलाओं और गांवों में बनाएगा पैठ

और लोड करें