गाँधी-गोडसे … पर इतनी गर्मी क्यों चढ़ती है?

प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को 'देशभक्त' कहा, तो उन पर हमलों की बौछार हो गई।…

पदगति को प्राप्त हो जाना!

मुंबई की एक विदुषी ने लिखा है कि उन के सामने गत तीन महीनों में पाँच…

भारत में शिक्षा-क्रांति की आवश्यकता : दलाई लामा

हल्की सर्दी में फाऊंटेन लॉन, तीन ओर बाग की हरियाली, प्रातः की धूप, पक्षियों की चहचहाहट।…

खलीफत आंदोलन की परिणती थी देश विभाजन

खलीफत-समर्थन से शुरू हुई अवसरवादी राजनीति की ही परिणति 1947 ई. का देश-विभाजन था। इस की…

असहयोग आंदोलन था खलीफत के लिए!

गाँधी-वाङमय को उलटें तो एक से एक आश्चर्यजनक तथ्य उभरते हैं। संपूर्ण गाँधी वाङमय के खण्ड…

‘पुराने जमाने’ की खलीफत को गांधी का समर्थन

वस्तुतः जिस तरह 1919 से 1924 ई. के बीच गाँधीजी ने खलीफत, इस्लाम, तुर्क-ऑटोमन साम्राज्य, तुर्की…

‘खलीफत-गांधी एक्सप्रेस’ की शताब्दी पर मौन क्यों? -1

दक्षिण अफ्रीका से आने के बाद भारत में गाँधी जी ने पहला राजनीतिक अभियान 1919 ई.…

दक्षिण कोरिया ऐसा सुंदर कैसे बना!

कोरिया और भारत को स्वतंत्रता लगभग एक समय मिली। संयोगवश दोनों का स्वतंत्रता दिवस भी एक…