12 साल के बच्चों को कल से लगेगी वैक्सीन

कोरोना वायरस की महामारी का असर कम होने के बीच केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ाने का ऐलान किया है। अब 12 साल की उम्र के बच्चों को भी वैक्सीन लगेगी।

कोरोना के एक और टीके की मंजूरी

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, डीसीजीआई ने बायोलॉजिकल ई की वैक्‍सीन कोर्बेवैक्स को देश में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है।

मध्यप्रदेश में 11 करोड़ वैक्सीन डोज लगाने का बना कीर्तिमान

आधिकारिक जानकारी के अनुसा श्री चौहान ने कहा कि कोरोना नियंत्रण के लिये प्रदेश में चलाये गये टीकाकरण महाअभियानों में जन-भागीदारी से ही यह उपलब्धि अर्जित की गई है।

वैक्सीन अनिवार्य नहीं फिर भी जबरदस्ती

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहा है कि वैक्सीन अनिवार्य नहीं है। यानी किसी को कोरोना रोकने की वैक्सीन लगाने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है।

12 से 15 साल के बच्चों को लगेगी वैक्सीन

जल्दी ही 12 से 15 साल के बच्चों को कोरोनारोधी टीका लगना शुरू हो जाएगा। सरकार ने संकेत दिया है कि मार्च में इसकी शुरुआत हो सकती है।

इस युग में भी है ‘श्रवण कुमार’ बाप को कंधे में बैठाकर 6 घंटे वैक्सीन लगवाने के लिए लेकर चलता रहा बेटा….

इन दिनों सोशल मीडिया में ऐसे ही एक ब्राजील के श्रवण कुमार खूब शेयर किए जा रहे हैं. बताया गया है कि ब्राजील के अमेजन….

एक करोड़ किशोरों को लगी वैक्सीन

देश में किशोरों के लिए शुरू हुए टीकाकरण अभियान के तहत तीन दिन में एक करोड़ से ज्यादा बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है।

COVID-19 बूस्टर खुराक वही वैक्सीन होगी जो पहले दी गई है – केंद्र

भारत सरकार ने अभी तक भारत में टीकों के मिश्रण और मिलान पर कोई निर्णय नहीं लिया है।

किशोरों को रिकार्ड वैक्सीन लगी

देश में किशोर उम्र के बच्चों को वैक्सीन लगाने का काम सोमवार को शुरू हो गया। 15 से 18 साल के बच्चों में वैक्सीनेशन को लेकर खासा उत्साह दिखा और पहले ही दिन 40 लाख के करीब बच्चों को वैक्सीन लगाई गई।

15-18 आयु वर्ग के लिए आज से शुरु हो रहा कोरोना का टीकाकरण, जानें कैसे करवायें वैक्सीनेशन

लाभार्थियों को आधे घंटे तक प्रतीक्षा करने की आवश्यकता होती है और टीकाकरण (एईएफआई) के बाद प्रतिकूल घटना के लिए निगरानी की जाएगी।

किशोरों की वैक्सीन पर राज्यों को निर्देश

किशोर उम्र के बच्चों को कोरोना की वैक्सीन लगाए जाने के बारे में केंद्र सरकार ने राज्यों को अलग से दिशा-निर्देश भेजे हैं।

वायरस और वैक्सीन का दुष्चक्र

भारत में भी अंततः किशोरों को वैक्सीन लगाने का फैसला हुआ और प्री-कॉशन डोज के रूप में बूस्टर डोज लगाने का भी ऐलान हो गया।

चुनावी राज्यों में तेज होगा वैक्सीनेशन

देश की वित्तीय राजधानी मुंबई में कोरोना विस्फोट होता दिख रहा है। मुंबई में गुरुवार को एक दिन में छह सौ से ज्यादा केस आए, जिसके बाद चिंता बढ़ी है।

बच्चों की भारतीय वैक्सीन को मंजूरी

कोरोना के खिलाफ जंग में भारत के लिए बहुत अच्छी खबर है। बच्चों की भारतीय वैक्सीन कोवोवैक्स को विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ ने इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है।

दिमाग पर हावी वैक्सीन

वैक्सीन का सबसे चर्चित शब्द रहना असल में दो अलग-अलग कहानियों को पेश करता है। एक विज्ञान की कहानी है, जो बताती है कि कोरोना महामारी फैलने के बाद किस शानदार तेजी से वैक्सीन विकसित हुई।

और लोड करें