ताजा पोस्ट सुर्खिया
  • नमाज की तरह ही है योगः योगी
  • रूस में भूकंप के झटके
  • ट्रंप ने रद्द की ओबामा की जलवायु परिवर्तन नीति
  • पाक-अफगान तनाव से आईएस को फायदा: अमेरिका
  • योगी आज करेंगे सीएम आवास में प्रवेश
  • बदायूं : टैंकर-कार में भिड़ंत, पांच मरे
  • घाटी में केयू, आईयूएसटी, सीयूके की परीक्षाएं स्थगित
  • घाटी में सुरक्षा कारणों से रेल सेवा निलंबित
  • ऑस्ट्रेलिया में चक्रवाती तूफान, हजारों बेघर
  • बोइंग विमान में लगी आग, कोई हताहत नहीं
  • जॉर्डन में शरणार्थियों की हरसंभव मदद की जरूरत: गुटेरेस
  • बांग्लादेश: नौका पलटी, 4 मरे
  • व्हाइट हाउस के पास संदिग्ध पैकेट के साथ पकड़ा गया एक व्यक्ति
  • मिस्र के राष्ट्रपति जाएंगे अमेरिका दौरे पर
  • ट्रम्प जर्मनी में होने वाले जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेंगे

गपशप कॉलम

image-3

इस जन्म तो भगवा राज!

यह वाक्य विपक्ष के एक सांसद का है। मतलब हताशा- निराशा में वह गैर-भगवा सियासी संभावनाएं सोच तक नहीं पा रहा है। वह नरेंद्र मोदी के बाद योगी आदित्यनाथ के दिल्ली में राज को बूझ रहा है। हां, योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद जो विमर्श बना है, मीडिया और पढ़ें....

image-2

योगी छा गए, छाए रहेंगे!

राजनीति और वक्त के गर्भ से कभी भी कोई कैसे अचानक उभर आता है इसका प्रमाण योगी आदित्यनाथ है। अपने को समझ नहीं आ रहा है कि योगी आदित्यनाथ के फिनोमीना की पूर्व की किस शख्सियत से तुलना की जाए? वीपी सिंह, एनटी रामाराव, एमजी रामचंद्रन जैसी कुछ तुलनाएं बनती और पढ़ें....

shah-krishna

कांग्रेस के दलबदलुओं को भगवा प्रसाद!

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक बहुत बारीक दांव चला। जहां भी सरकार बनी उन सबमें जरूरत न होने के बावजूद कांग्रेस से, बसपा से या समाजवादी पार्टी से आए नेताओं को मंत्री पद दिलवाया। यह मामूली बात नहीं है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड दोनों में भाजपा की छप्पर फाड़ और पढ़ें....

prashant-kishore

पीके की चलेगी या राजू की?

कांग्रेस पार्टी की राजनीति चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के हिसाब से चलेगी या पूर्व आईएएस अधिकारी के राजू के हिसाब से चलेगी? यह लाख टके का सवाल है। कांग्रेस के कई नेता इस दुविधा में हैं कि इनमें से किस की समझदारी पर राहुल भरोसा करेंगे। हालांकि कई मामलों में और पढ़ें....

akhilesh-mulayam

मुलायम परिवार में झगड़े के आसार!

समाजवादी पार्टी और मुलायम सिंह के परिवार में बताया जा रहा है कि तूफान से पहले की शांति है। विधानसभा चुनाव से पहले चार-पांच महीने तक मुलायम सिंह के परिवार में जिस तरह का झगड़ा हुआ था, उसे फिर से दोहराया जा सकता है। लेकिन इस बार झगड़ा असली होगा और पढ़ें....

modi-1

नेतृत्व और नैरेटिव का बल!

सोचें, भारत की संसद, अपर हाऊस में विपक्ष के हल्ले के बीच कभी प्रधानमंत्री को लेकर ऐस डायलॉग सुनाई दिया कि देखो, देखो भारत का शेर आया है! भारत माता की जय और भारत के शेर के संसदीय नैरेटिव का मतलब बहुत है। सो 2017 का मार्च महीना भारत राष्ट्र-राज्य और पढ़ें....

amit-shah

नेता मूर्छित, राजनीति कोमा में!

हां, यही आज सांसदों-नेताओं, दिल्ली व देश के प्रभुवर्ग, एलिट, मुख्यमंत्रियों और राजनीति की दशा-दिशा का प्रतिनिधी वाक्य है। सब यह सोचते हुए सदमे में है कि नरेंद्र मोदी-अमित शाह की इतनी बड़ी जीत कैसे हो गई? जो सोचा नहीं था वह हो गया और अब क्या होगा? 11 मार्च और पढ़ें....

Modi-Shah-1

इंतजार करें और देखें !

बार-बार लोग पूछते हैं कि अब क्या? एक बुजुर्ग सुधी नेता से मैंने पूछा कि आज के मुकाम की आप आजाद भारत के किस मोड़ से तुलना करते हैं तो उनका जवाब था अभी इंतजार करे। किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे। बात समझ में आती है। इसलिए कि लोगों में और पढ़ें....

EVM

ईवीएम का विवाद कहां पहुंचेगा?

इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन, ईवीएम का विवाद अभी नहीं खत्म होने वाला है। अब लगभग सारी विपक्षी पार्टियां इसकी विश्वसनीयता पर सवाल उठा रही हैं। बसपा प्रमुख मायावती ने इसकी शुरुआत की थी और अरविंद केजरीवाल ने इसे आगे बढ़ाया। लेकिन अब इसमें कांग्रेस, राजद और तृणमूल कांग्रेस भी शामिल हो और पढ़ें....

MCD-Election

दिल्ली में तीनों पार्टियां लगाएंगी जोर!

दिल्ली में नगर निगम का चुनाव बहुत दिलचस्प हो गया है। इससे पहले नगर निगम के जितने भी चुनाव हुए हैं वे कांग्रेस और भाजपा के बीच हुए हैं। नगर निगम का आखिरी चुनाव 2012 में हुआ था और उसके बाद आम आदमी पार्टी अस्तित्व में आई। उसने 2013 और और पढ़ें....

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd