nayaindia Market Rise Fourth Consecutive Day Sensex rises 376 Point Nifty Crosses 22000 बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी, सेंसेक्स 376 अंक चढ़ा, निफ्टी 22,000 के पार
कारोबार

बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी, सेंसेक्स 376 अंक चढ़ा, निफ्टी 22,000 के पार

ByNI Desk,
Share

Sensex :- घरेलू शेयर बाजारों में कुछ प्रमुख शेयरों में लिवाली के दम पर शुक्रवार को लगातार चौथे दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 376 अंक लाभ में रहा। एनएसई निफ्टी भी 22,000 के स्तर को पार करने में सफल रहा। विश्लेषकों के मुताबिक, मजबूत वैश्विक संकेतों के बीच लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी), इन्फोसिस और महिंद्रा एंड महिंद्रा (एमएंडएम) के शेयरों में खरीदारी आने से निवेशक धारणा को समर्थन मिला। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स 376.26 अंक यानी 0.52 प्रतिशत चढ़कर 72,426.64 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 72,545.33 अंक के ऊपरी और 72,218.10 अंक के निचले स्तर पर भी गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का मानक सूचकांक निफ्टी भी 129.95 अंक यानी 0.59 प्रतिशत बढ़कर 22,040.70 अंक पर बंद हुआ। एलकेपी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ तकनीकी विश्लेषक रूपक डे ने कहा, “बड़ी कंपनियों के शेयरों में लिवाली आने से निफ्टी को मजबूती मिली और यह साप्ताहिक आधार पर अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स समूह में शामिल विप्रो ने सर्वाधिक 4.79 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की जबकि एमएंडएम 3.96 प्रतिशत बढ़कर बंद हुआ। इसके अलावा एलएंडटी, टाटा मोटर्स, मारुति, इन्फोसिस, नेस्ले इंडिया और इंडसइंड बैंक के शेयर भी बढ़त लेने में सफल रहे।दूसरी तरफ पावरग्रिड, एसबीआई, रिलायंस, एनटीपीसी और एक्सिस बैंक  के शेयरों में गिरावट रही। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, “सकारात्मक वैश्विक संकेतों से भारतीय बाजार ने अपना सुधार जारी रखा। व्यापार घाटा कम होने के आंकड़े और जिंसों के दाम गिरने से निवेशक पूंजीगत उत्पाद, धातु और औद्योगिक शेयरों की तरफ आकर्षित हुए। बीएसई स्मालकैप सूचकांक 0.68 प्रतिशत चढ़ गया जबकि मिडकैप सूचकांक ने 0.78 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की। क्षेत्रवार सूचकांकों के मामले में वाहन खंड ने 2.17 प्रतिशत और रियल्टी खंड ने 1.53 प्रतिशत की बढ़त हासिल की। इसके अलावा पूंजीगत उत्पाद खंड और स्वास्थ्य देखभाल खंड में भी तेजी रही। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के प्रमुख (खुदरा शोध) सिद्धार्थ खेमका ने कहा, “भारतीय बाजारों ने उतार-चढ़ाव के बावजूद जुझारूपन दिखाया।

उम्मीद है कि कारोबारी धारणा आगे और मजबूत होगी क्योंकि चुनावों से पहले तेजी का एक दौर आने की संभावना काफी ज्यादा है। एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्की, हांगकांग का हैंग सेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी तेजी के साथ बंद हुए। चीन के वित्तीय बाजार चंद्र नववर्ष की छुट्टियों के कारण बंद हैं। अमेरिकी बाजार बृहस्पतिवार को बढ़त के साथ बंद हुए थे। वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.83 प्रतिशत की गिरावट के साथ 82.17 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) बृहस्पतिवार को पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल थे। उन्होंने 3,064.15 करोड़ रुपये के शेयरों की शुद्ध बिकवाली की। पिछले कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 227.55 अंक चढ़कर 72,050.38 अंक और निफ्टी 70.70 अंक बढ़कर 21,910.75 अंक पर बंद हुआ था। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें