nayaindia Nitish Kumar परिवारवाद पर नीतीश का निशाना
बिहार

परिवारवाद पर नीतीश का निशाना

ByNI Desk,
Share

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाइन पर चलते हुए परिवारवाद को निशाना बनाया है। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री रहे दिवंगत कर्पूरी ठाकुर की सौवीं जयंती के मौके पर पटना में अपनी पार्टी जनता दल यू की ओर से आयोजित कार्यक्रम में परोक्ष रूप से लालू प्रसाद के परिवार की ओर इशारा करते हुए कहा कि कर्पूरी ठाकुर ने कभी परिवारवाद नहीं किया लेकिन कुछ लोग सिर्फ अपने परिवार को ही आगे बढ़ाते हैं। नीतीश ने यह भी कहा कि कर्पूरी से प्रेरणा लेकर उन्होंने भी परिवारवाद नहीं किया। गौरतलब है कि लालू प्रसाद की पार्टी सरकार में शामिल है और उसी की मदद से नीतीश मुख्यमंत्री हैं।

बहरहाल, पिछले कुछ दिनों से नीतीश कुमार के वापस एनडीए में जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। बुधवार को पटना में अपनी पार्टी की सभा में नीतीश ने भाजपा पर निशाना नहीं साधा और न केंद्र सरकार पर हमला किया। उन्होंने कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने के लिए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी को बधाई दी और उनको धन्यवाद दिया। एक दिन पहले मंगलवार को जब भारत रत्न की घोषणा हुई उसके बाद नीतीश ने दो ट्विट किए, जिसमें बाद वाले ट्विट में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। मंगलवार को नीतीश कुमार राज्यपाल से मिलने भी गए थे।

उसके बाद बुधवार को जननायक कर्पूरी ठाकुर की सौवीं जयंती पर भाजपा, राजद और जेडीयू ने अलग-अलग कार्यक्रम किया। पटना के वेटरनरी ग्राउंड पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने परिवारवाद पर हमला बोला। उन्होंने कहा- आजकल तो लोग अपने परिवार को ही आगे बढ़ाते हैं, लेकिन कर्पूरी जी ने कभी नहीं बढ़ाया। जननायक से सीख कर हमने भी कभी अपने परिवार को आगे नहीं बढ़ाया। कर्पूरी जी के जाने के बाद हमने उनके बेटे रामनाथ ठाकुर को आगे बढ़ाया। कौन क्या बोलता है, बोलता रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा- आज प्रधानमंत्री जी ने रामनाथ ठाकुर जी को फोन किया, लेकिन हमको नहीं किया। तब भी प्रेस के माध्यम से हम उन्हें बधाई देते हैं। अब खुद वे क्रेडिट न लें। सीएम नीतीश कुमार ने कर्पूरी ठाकुर के बेटे रामनाथ ठाकुर को मंच पर आगे बुलाया और कहा कि इन्हें भी धन्यवाद दीजिए। इसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने उनकी एक बात मान ली है और अब दूसरी बातें भी मान लेनी चाहिए। गौरतलब है कि बिहार को विशेष राज्य दर्जा देने की मांग करते रहे हैं और बुधवार को उन्होंने अति पिछड़ी जातियों को देश भर में आरक्षण देने की मांग भी की।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें