Naya India

नए संसद भवन के उद्घाटन को लेकर बिहार में सियासत तेज

पटना। संसद भवन (Parliament House) का उद्घाटन (Inauguration) दिल्ली में होना है, लेकिन बिहार में सियासत गर्म है। इस बीच, लोजपा (रामविलास) के प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने संसद भवन के उद्घाटन का स्वागत किया है। दिल्ली में रविवार यानी 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन होने जा रहा है। उद्घाटन समारोह का विपक्षी दलों ने वहिष्कार की घोषणा की है। विपक्षी पार्टियां इस समारोह में राष्ट्रपति को आमंत्रित नहीं किए जाने को लेकर सवाल उठा रहे हैं। इधर, चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर उद्घाटन का स्वागत किया है। चिराग ने पत्र में संसद को लोकतंत्र की पवित्र संस्था बताते हुए लिखा है कि इस भवन में उन नीतियों पर फैसला होता है, जो सीधे जनता से जुड़ी होती है। भारत और भारतीयों के बेहतर भविष्य को निर्धारित करने में भारतीय संसद (Indian Parliament) की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

ये भी पढ़ें- http://अभिषेक बनर्जी के काफिले पर हमले के आरोप में चार गिरफ्तार 

पत्र में आगे लिखा गया है कि ऐसे में 19 विपक्षी दलों द्वारा नये संसद भवन के उद्घाटन के विरोध के फैसले की मैं और मेरी पार्टी घोर निंदा करती है। उन्होंने कहा कि ऐसी महान संस्था के प्रति विपक्षी दलों द्वारा यह अनादर व अपमान लोकतंत्र की मूल आत्मा और मर्यादा पर कुठाराघात है। उन्होंने यह भी लिखा है कि पिछले नौ सालों से इन विपक्षी दलों ने बार-बार संसदीय प्रक्रियाओं-नियमों की अवमानना की है, सत्रों को बाधित किया है। उन्होंने इन विपक्षी दलों को निशाने पर लेते हुए आगे लिखा कि हमारे देश की वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) के प्रति इनका दिखाया गया अनादर राजनीतिक मर्यादा के निम्नस्तर पर पहुंच गया, उनकी उम्मीदवारी का घोर विरोध (Strong Opposition) न केवल उनका अपमान था, बल्कि हमारे देश की अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों का सीधा अपमान हुआ। दो पेज के इस पत्र में चिराग ने संसद भवन के उद्घाटन समारोह के लिए पीएम को बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी है। (आईएएनएस)

Exit mobile version