nayaindia Mohalla Clinic मोहल्ला क्लीनिक की होगी सीबीआई जांच
दिल्ली

मोहल्ला क्लीनिक की होगी सीबीआई जांच

Share

नई दिल्ली। शराब घोटाले और नकली दवा के बाद अब दिल्ली सरकार से जुड़ा एक और मामला सीबीआई जांच के लिए प्रस्तावित कर दिया गया है। दिल्ली का उप राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से चलाए जा रहे मोहल्ला क्लीनिक में मरीजों के टेस्ट से जुड़ी गड़बड़ियों के आरोपों की सीबीआई जांच का आदेश दे दिया है। राजनिवास की ओर से गुरुवार को यह जानकारी दी गई।

इससे पहले स्वास्थ्य विभाग की जांच में पता चला कि मोहल्ला क्लीनिक में ऐसे मरीजों के लैब टेस्ट कराए जा रहे थे जो वास्तव में थे ही नहीं। बताया जा रहा है कि ऐसा प्राइवेट लैब को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा था। गौरतलब है कि पिछले महीने ही राज्यपाल ने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में नकली दवाएं होने के आरोप पर मुख्य सचिव नरेश कुमार को जांच का निर्देश दिया था। 23 दिसंबर को लिखे पत्र में उन्होंने मामले की जांच सीबीआई से कराने को कहा था।

बताया जा रहा कि कई मोहल्ला क्लीनिक में हजारों मरीजों के बारे में पता चला है, जो वास्तव में नहीं है, लेकिन उनके टेस्ट के नाम पर निजी लैब्स को फायदा पहुंचाया गया। डॉक्टरों के बिना क्लीनिक आए बायोमीट्रिक अटेंडेस लगाने और उनकी गैरमौजूदगी में टेस्ट व दवाएं लिखे जाने का भी पता चला है। यह खबर सामने आने के बाद दो लैब सर्विस प्रोवाइडर्स से दिल्ली के सात मोहल्ला क्लिनिक का जुलाई, 2023 से सितंबर, 2023 के बीच लैब टेस्टिंग डाटा का सैंपल लेकर जांच की गई। एक अधिकारी ने बताया कि डाटा की जांच से पता चला है कि इन सात मोहल्ला क्लिनिक में 11 हजार से ज्यादा रिकॉर्ड ऐसे पाए गए, जिनमें पेशेंट का मोबाइल नंबर जीरो लिखा गया। आठ हजार मामलों में मोबाइल नंबर नहीं लिखा गया और तीन हजार से ज्यादा मामले ऐसे हैं, जिनमें एक ही नंबर डाला गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें