nayaindia Up Board Exam हाईस्कूल में 89.55 और इंटर में 82.60 प्रतिशत परीक्षार्थी पास
Trending

हाईस्कूल में 89.55 और इंटर में 82.60 प्रतिशत परीक्षार्थी पास

ByNI Desk,
Share
Up Board Exam

लखनऊ/प्रयागराज। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने शनिवार को 10वीं और 12वीं के परिणाम घोषित कर दिए। हाईस्कूल में 89.55 प्रतिशत परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए तो इंटर में 82.60 प्रतिशत परीक्षार्थी पास हुए। इस बार हाईस्कूल (High School) और इंटर की परीक्षाओं में सीतापुर के परीक्षार्थियों ने प्रदेश में टॉप किया है। हाईस्कूल में सीतापुर की प्राची निगम ने 98.50 प्रतिशत अंकों के साथ प्रदेश में टॉप किया है, जबकि फतेहपुर की दीपिका सोनकर (Deepika Sonkar) (98.33 प्रतिशत) दूसरे और सीतापुर की ही नव्या सिंह (Navya Singh) (98 प्रतिशत) तीसरे स्थान पर रहीं। Up Board Exam

इंटर में सीतापुर के शुभम वर्मा (Shubham Verma) ने 97.80 प्रतिशत के साथ पहला स्थान हासिल किया है, जबकि बागपत के विशु चौधरी (97.60 प्रतिशत) दूसरे और अमरोहा की काजल सिंह (97.60 प्रतिशत) तीसरे स्थान पर रहीं। हाईस्कूल में कुल पास परीक्षार्थियों में 12,38,422 बालक और 12,23,604 बालिकाएं शामिल हैं। बालकों का 86.05 और बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 93.40 है।

परीक्षार्थियों में बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत बालकों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 7.35 अधिक है। इंटर में कुल उत्तीर्ण परीक्षार्थियों में 10,43,289 बालक तथा 9,82,778 बालिकाएं हैं। बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 77.78 तथा बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 88.42 है। पूरे परीक्षार्थियों में बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत बालकों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 10.64 अधिक है।

शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) डॉ. महेंद्र देव (Mahendra Dev) और माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिब्यकान्त शुक्ल (Dibyakant Shukla) ने परीक्षाफल घोषित करते हुए बताया कि वर्ष 2024 की बोर्ड परीक्षा के साथ माध्यमिक शिक्षा परिषद ने नए कीर्तिमान भी स्थापित किए हैं। इस वर्ष यूपी बोर्ड ने पहली बार रिकॉर्ड 12 कार्य दिवसों में परीक्षा संपन्न कराई है और साथ ही रिकार्ड 12 कार्य दिवसों में ही उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य सकुशल पूरा कराकर बोर्ड परीक्षा का परिणाम 100 वर्षों के इतिहास में साल 2023 के बाद दूसरी बार सबसे पहले जारी किया है।

उन्होंने बताया कि हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं 22 फरवरी से 9 मार्च के बीच कुल 8,265 परीक्षा केंद्रों पर संपन्न हुई थी। वहीं, हाईस्कूल एवं इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 16 से 30 मार्च के बीच प्रदेश के विभिन्न जिलों में निर्धारित कुल 259 मूल्यांकन केंद्रों पर मात्र 12 कार्य दिवसों में संपन्न हुआ। हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 29,36,353 संस्थागत और 11,982 व्यक्त्तिगत समेत कुल 29,47,335 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए।

इनमें 27,38,999 संस्थागत तथा 10,365 व्यक्तिगत यानी कुल 27,49,384 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। सम्मिलित परीक्षार्थियों में से 14,39,243 बालक तथा 13,10,121 बालिकाएं (Girls) शामिल रहीं। इनमें 24,55,041 संस्थागत तथा 6.985 व्यक्तिगत समेत कुल 24,62,026 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित हुए। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 89.63 तथा व्यक्तिगत का उत्तीर्ण प्रतिशत 67.39 है। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 22.24 अधिक है।

इंटर में 24,25,426 संस्थागत और 15,25,581 व्यक्तिगत समेत कुल 25,78,007 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। 23,16,910 संस्थागत तथा 1,35,920 व्यक्तिगत समेत कुल 24,52,830 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। सम्मिलित परीक्षार्थियों में 13,41,356 बालक तथा 11,11.474 बालिकाएं रहीं। वहीं, 19,08,647 संस्थागत तथा 1,17,420 व्यक्तिगत समेत कुल 20,26,067 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित हुए।

संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 82.38 तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 86.39 रहा। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के उत्तीर्ण प्रतिशत से 4.01 कम है। इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 52,295 परीक्षकों द्वारा संपन्न किया गया। वर्ष 2023 की तुलना में इंटर के कुल परीक्षार्थियों की संख्या में 1,90,173 की कमी हुई है।

यह भी पढ़ें:

नीतीश ने लालू यादव के परिवारवाद को लेकर कसा तंज

भाजपा के गोदाम में देश के सब भ्रष्टाचारी: अखिलेश यादव

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें