nayaindia iran attack on israel ईरान का इजरायल पर हमला, मिसाइलों और ड्रोन से अटेक
Trending

ईरान का इजरायल पर हमला, मिसाइलों और ड्रोन से अटेक

ByNI Desk,
Share

नई दिल्ली। ईरान और इजरायल के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। शनिवार रात को ईरान ने इजराइल पर हमला बोल दिया है। पूरे इजराइल में अफरा—तफरी का माहौल है। पूरे इजराइल में हवाई हमले की चेतावनी जारी कर दी है। इजराइल ने सभी विमान सेवाओं पर रोक लगा दी है। इजराइल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने कहा है कि इस हमले का जवाब देने के लिए हम पूरी तरह तैयार है। इस हमले के बाद अमेरिका ने इजरायल का समर्थन किया है और कहा है कि वह इजराइल की पूरी मदद करेगा।

गौरतलब है कि एक दिन पहले ही भारत ने अपने नागरिकों को ईरान और इजराइल जाने से रोका और अब ईरान ने भारत आ रहा एक मालवाहक जहाज कब्जा कर लिया है। यह जहाज इजराइल के एक कारोबारी का है, जो भारत आ रहा था। जहाज पर 17 भारतीय नागरिक भी मौजूद हैं। इजराइल और ईरान में बढ़ रहे तनाव के बीच पिछले कुछ दिनों से इस बात की चर्चा हो रही है कि दोनों देशों में युद्ध छिड़ सकता है। इसे लेकर भारत सहित पांच देशों ने शुक्रवार को अपने नागरिकों के लिए यात्रा परामर्श जारी किया था। अमेरिकी अखबार ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ ने गुरुवार को कहा था कि दो दिन में युद्ध छिड़ सकता है।

इस दावे के दूसरे ही दिन ओमान की खाड़ी से होर्मुज पास होते हुए भारत आ रहे एक मालवाहक जहाज पर ईरान की सेना ने कब्जा कर लिया है। बताया जा रहा है कि जहाज पर 17 भारतीय नागरिक मौजूद है। ये भारतीय नागरिक चालक दल का हिस्सा हैं या नहीं यह पता नहीं चल पाया है क्योंकि पहले कहा गया था कि जहाज का चालक दल फिलीपींस का है। बहरहाल, मालवाहक जहाज कार्गो शिप लंदन स्थित एक कंपनी का है, जिसके मालिक एक इजराइली अरबपति कारोबारी हैं।

जहाज पर ईरानी सेना के कब्जा करने के बाद खबर आई थी कि जहाज का 20 सदस्यीय चालक दल फिलीपींस का है। बाद में बताया गया है कि जहाज पर 17 भारतीय नागरिक भी हैं। घटना के बाद इजराइली सेना के प्रवक्ता डेनियार हगारी ने कहा- हम किसी भी तरह के हमलों पर चुप नहीं बैठेंगे। इसका जवाब दिया जाएगा। भारत की ओर से भी कूटनीतिक चैनल के जरिए अपने नागरिकों को छुड़ाने का प्रयास चल रहा है।

असल में एक अप्रैल को इजराइल ने सीरिया में ईरानी दूतावास के पास हवाई हमला किया था। इसमें ईरान के दो शीर्ष सैन्य कमांडर सहित 13 लोग मारे गए थे। इसके बाद ईरान ने बदला लेने के लिए इजराइल पर हमला करने की धमकी दी थी। बहरहाल, सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि भारत सरकार ने 17 भारतीय नागरिकों के जहाज पर होने की बात मानी है और उनको छुड़ाने के लिए प्रयास किए जाने की बात कही है। भारत कूटनीतिक चैनल के जरिए ईरान के संपर्क में बताया जा रहा है।

गौरतलब है कि ईरान ने जिस होर्मुज पास से भारत आ रहे जहाज पर कब्जा किया है वहां से दुनिया का 20 फीसदी तेल गुजरता है। पिछल साल इजराइल और हमास के जंग छिड़ने के बाद से ही यह पूरा क्षेत्र अशांत हो गया है और ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी ने पिछले साल ही दावा किया था कि ईरान ने होर्मुज पास में कई सौ बैलिस्टिक और क्रूज मिसाइलें तैनात की हैं। अमेरिका ने भी इस क्षेत्र में अपनी सैन्य तैनाती बढ़ाई है क्योंकि ईरान, हमास, हूती आदि की ओर से अमेरिकी ठिकानों पर हमले की चेतावनी काफी समय से दी जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें