विमान में बम की अफवाह से हड़कंप

विमान ने ईरान के तेहरान से उड़ान भरी थी और चीन के ग्वांगझू जा रहा था। देर शाम विमान ग्वांगझू में उतरा।

इतिहास था सुनहरा और वर्तमान व भविष्य है काला

ईरान में आज महिलाएं आजादी की मांग को लेकर सड़कों पर उतरी हुई है। इसका दुनिया में जबरदस्त हल्ला है, कवरेज है।

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन तेज, 31 की मौत

ईरान में हिजाब के खिलाफ चल रहा प्रदर्शन तेज हो गया है। अब तक इसमें 31 लोगों के मारे जाने की खबर है।

ईरान में हिजाब पर कोहराम

मुस्लिम औरतें हिजाब पहने या नहीं, इस मुद्दे को लेकर ईरान में जबर्दस्त कोहराम मचा हुआ है। जगह-जगह हिजाब के विरूद्ध प्रदर्शन हो रहे हैं।

ईरान के विदेश मंत्री ने कहा- हम नहीं होते तो मक्का भी आतंकियों के कब्जे में होता…

विदेश मंत्री ने कहा कि अगर ईरान और कुद्द्ज फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी नहीं होते तो आज इस्लाम के सबसे पवित्र स्थल मक्का…

ईरान का कहना पश्चिम की ओर से कोई रचनात्मक प्रस्ताव परमाणु वार्ता पर नहीं मिला

ईरान का कहना है कि 2015 के परमाणु समझौते को पुनर्जीवित करने के लिए चल रही वार्ता में पश्चिम से कोई ‘रचनात्मक और दूरंदेशी’ प्रस्ताव नहीं मिला है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने गुरुवार को यूरोपीय संघ के विदे

SCO में बोले PM Modi, कहा- कट्टरटा बड़ी चुनौती , उदाहरण अफगानिस्तान में देखने को मिला…

अफगानिस्तान के हाल में हुए घटनाक्रम ने इस बात को साफ कर दिया है कि कट्टरता किस तरह नुकसान पहुंचा सकती है….

खूब लड़ी अफगानिस्तान की ‘मर्दानी’ : पहली महिला गवर्नर को तालिबानियों ने पकड़ा, आखिरी वक्त तक बंदूक…

बता दें कि अफगानिस्तान की ‘मर्दानी’ कहीं जा रहीं मेयर सलीमा मजारी को भी तालिबानियों ने पकड़ लिया है.  सलीमा अफगानिस्तान की पहली महिला गवर्नर हैं जिन्होंने काफी समय से तालिबानियों के खिलाफ अपनी आवाज बु

कट्टरपंथी रईसी बने ईरान के राष्ट्रपति

तेहरान। ईरान में शुक्रवार को हुए राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे शनिवार को आए। कट्‌टरपंथी माने जाने वाले 60 साल के इब्राहिम रईसी चुनाव जीत गए हैं। रईसी इस समय ईरान की सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस हैं। रईसी के अलावा चुनाव मैदान में उतरे उम्मीदवारों ने उन्हें जीत की बधाई दी है। इब्राहिम रईसी को ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्लाह अली खुमैनी का समर्थन हासिल है। चुनाव से पहले खुमैनी ने कहा था- अब हम पूर्व को प्राथमिकता देंगे। जबकि पारंपरिक तौर पर ईरान की विदेश नीति न पूर्व और न पश्चिम की रही है। ईरान में 1988 में पांच हजार राजनीतिक कैदियों को सामूहिक फांसी दी गई थी। माना जाता है कि इस सामूहिक फांसी में रईसी की भूमिका रही थी। हालांकि, रईसी इस मामले में बयान देने से बचते रहे हैं। अमेरिका ने भी इस मामले में रईसी की निंदा की थी। बहरहाल, शुक्रवार को हुए मतदान में शाम पांच बजे तक 23 फीसदी यानी 1.4 करोड़ लोगों ने वोट किया था। ईरान के राष्ट्रपति चुनाव में इस बार चार उम्मीदवार मैदान में थे। चुनाव से पहले खुमैनी के नेतृत्व वाले गार्जियन कौंसिल ने सैकड़ों नेताओं को चुनाव लड़ने से अयोग्य करार दे दिया था। ये नेता मौजूदा… Continue reading कट्टरपंथी रईसी बने ईरान के राष्ट्रपति

ईरान में चीन की चुनौती

ईरान के साथ चीन ने इतना बड़ा सौदा कर लिया है, जिसकी भारत कल्पना भी नहीं कर सकता। 400 बिलियन डॉलर चीन खर्च करेगा, ईरान में ! काहे के लिए ? सामरिक सहयोग के लिए।

मायूसी अमेरिका को क्यों?

बाइडेन प्रशासन ईरान पर सारी शर्तें थोपना चाहता है। तो इस पर ईरान की प्रतिक्रिया कैसे अनुचित मानी जाएगी। बाइडेन प्रशासन अगर ट्रंप के दौर के तनावों को घटना चाहता है, तो उसे भी सकारात्मक रुख अपनाना चाहिए।

इस्लामी देश और भारत

प्रमुख अरब देशों के साथ भारत के संबंध जितने घनिष्ट आजकल हो रहे हैं, उतने वे पहले कभी नहीं हुए।

ईरान में 2 सप्ताह के लिए लॉकडाउन

ईरान में ताजा कोरोनोवायरस मामलों और मौतों की संख्या में रिकॉर्ड वृद्धि के कारण, देश में शनिवार से दो सप्ताह के लिए लॉकडाउन लग रहा है।

ईरान बना सकता है अमेरिका पर हमले की योजना: ट्रम्प

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आशंका जतायी है कि ईरान अमेरिकी ड्रोन हमले में अपनी सेना के मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए अमेरिका में हत्या या अन्य हमलों की योजना बना सकता है

चुनाव से पहले डरा अमेरिका

अमेरिका में 2016 के चुनाव में रूसी दखल इतना चर्चित हुआ कि उसकी जांच हुई। जांच रिपोर्ट से इस बात की पुष्टि हुई कि रूस ने चुनाव नतीजों को प्रभावित किया। अब एक बार फिर वैसी ही आशंकाएं घर गई हैं।

और लोड करें