nayaindia Rahul Gandhi मणिपुर से राहुल की यात्रा शुरू
Trending

मणिपुर से राहुल की यात्रा शुरू

ByNI Desk,
Share

इम्फाल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को मणिपुर से भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू की। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने हरी झंडी दिखा कर राहुल गांधी की यात्रा को रवाना किया। इस मौके पर राहुल ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी व आरएसएस पर हमला किया। उन्होंने मणिपुर में आठ महीने से चल रही हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री यहां के लोगों के आंसू पोंछने नहीं आए। गौरतलब है कि हिंसा शुरू होने के बाद राहुल भी गांधी मणिपुर के दौरे पर गए थे और पीड़ितों से मुलाकात की थी।

बहरहाल, राहुल गांधी ने अपनी यात्रा शुरू करते हुए कहा कि देश भारी अन्याय का सामना कर रहा है, इसलिए भारत जोड़ो न्याय यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने यात्रा का मकसद बताते हुए कहा कि एक ऐसे भविष्य का नजरिया पेश करना है, जो सद्भावना, समान भागीदारी वाला और भाईचारे से भरा हो। राहुल ने कहा- 2004 से राजनीति में हूं। पहली बार हिंदुस्तान के एक प्रदेश गया, जहां पूरी व्यवस्था ध्वस्त हो गई है, जिसे आप मणिपुर कहते थे, वो अब रहा ही नहीं।  उन्होंने कहा- देश के प्रधानमंत्री आज तक यहां लोगों के आंसू पोंछने, हाथ पकड़ने नहीं आए। शायद भाजपा, आरएसएस के लिए मणिपुर देश का हिस्सा नहीं है।

मणिपुर की राजधानी इम्फाल से करीब 345 किलोमीटर दूर थौबल से यात्रा शुरू करने से पहले एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा- सवाल उठा था कि यात्रा शुरू कहां से होनी चाहिए? मैंने साफ कहा कि यह यात्रा मणिपुर से ही शुरू होनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि मणिपुर में जो हुआ, वो भाजपा, आरएसएस की नफरत की राजनीति का प्रतीक है। राहुल ने कहा कि देश में एकाधिकार कायम किया जा रहा है और बड़े पैमाने पर कारोबार बंद हो गए हैं। भयंकर बेरोजगारी है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा- भारत भारी अन्याय का सामना कर रहा है और इसलिए यह यात्रा जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी पर तंज करते हुए उन्होंने कहा- हम अपने मन की बात नहीं बताना चाहते, हम आपके मन की बात सुनना चाहते हैं।

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी केंद्र सरकार और भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- देश में तानाशाही रवैया चल रहा है। बीजेपी लोकतंत्र खत्म कर रही है। खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मणिपुर वोट मांगने आए थे, लेकिन राज्य के लोग जब हिंसा के कारण मुश्किल में आए, तो वे नजर नहीं आए। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी ने न्याय यात्रा के जरिए ऊंची उड़ान का हौसला बनाया है। राहुल गांधी चार सिद्धांतों न्याय, स्वतन्त्रता, समता और बंधुता के लिए लड़ रहे हैं।

गौरतलब है कि राहुल गांधी की इस यात्रा का समापन 20 मार्च को मुंबई में होगा। इस दौरान वे 15 राज्यों के 110 जिलों से गुजरेंगे। यात्रा के दौरान राहुल हर दिन दो सभाओं को संबोधित करेंगे। इसके अलावा, वे हर दिन समाज के विभिन्न वर्गों के 20 से 25 लोगों से मिलेंगे और सामाजिक संगठनों के सदस्यों साथ भी बातचीत करेंगे। अगले 11 दिनों के दौरान यात्रा पूर्वोत्तर के पांच राज्यों से होकर गुजरेगी। राहुल गांधी 23 जनवरी को घोषणापत्र के सिलसिले में गुवाहाटी में लोगों से जनसंवाद करेंगे।

युद्ध स्मारक पर गए राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू करने से पहले खोंगजोम युद्ध स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की। उनके साथ कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और कई अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे। इस बारे में बताते हुए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि 1891 के आंग्ल-मणिपुर युद्ध में मणिपुर के लोगों के बलिदान के प्रतीक खोंगजोम युद्ध स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर राहुल गांधी भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं। यह स्मारक 1891 के आंग्ल-मणिपुर युद्ध के शहीदों के सम्मान में बनवाया गया था।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें