भारत छोड़ रही विदेशी मोटर कंपनियां?

एक और विदेशी ऑटोमोबाइल कंपनी ने भारत छोड़ने का ऐलान कर दिया। अमेरिका की फोर्ड कंपनी ने कहा है कि वह अपने दोनों प्लांट बंद करेगी और सिर्फ आयातित गाड़ियां ही बेचेगी।

Online food delivery : Order में देरी के बाद बढ़ा विवाद, फिर delivery boy ने गोली मारकर कर दी हत्या

नोएडा में एक डिलीवरी बॉय ने अपने रेस्टुरेंट के मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी. हत्या के बाद आरोपी डिलीवरी ब्वॉय मौके से फरार हो गया. जानकारी के अनुसार डिलीवरी ब्वॉय रेस्टोरेंट के बाहर ऑर्डर…

अनंत होती भारत दुर्दशा

कभी पीएमआई में गिरावट की खबरें बड़ी चिंता पैदा करती थीं। लेकिन जैसाकि कहा जाता है कि अगर और भी लकीर आ जाए, तो पुरानी कोई भी लकीर छोटी हो जाती है। तो अब ऐसी खबरों से झटका नहीं लग, क्योंकि देश के माली हालात उससे बहुत ज्यादा खराब हो चुके हैं, जिसका संकेत ऐसे इंडेक्स देते हैँ। PMI Index India : भारत के सेवा क्षेत्र का इंडेक्स पीएमआई यानी सर्विसेज परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स जून में सिकुड़ते हुए 41-2 प्रतिशत पर पहुंच गया। मई में यह 46.4 प्रतिशत पर था। गौरतलब है कि इस इंडेक्स के 50 के नीचे रहने का मतलब होता है कि संबंधित क्षेत्र में माइनस ग्रोथ हुआ। कभी ऐसे सिकुड़न या पीएमआई में वृद्धि के बावजूद गिरावट की खबरें बड़ी चिंता पैदा करती थीं। लेकिन जैसाकि कहा जाता है कि अगर और भी लकीर आ जाए, तो पुरानी कोई भी लकीर छोटी हो जाती है। मंत्रीजी का रुतबा.. रेलमंत्री ने आते ही इंजीनियर से कहा कि आप मुझे सर नहीं बॉस बोलोगे तो अब ऐसी खबरें ना तो चर्चित होती हैं और ना उनसे झटका लगता है, क्योंकि देश के माली हालात उससे बहुत ज्यादा खराब हो चुके हैं, जिसका संकेत ऐसे इंडेक्स देते हैँ। मसलन,… Continue reading अनंत होती भारत दुर्दशा

ऐसा क्या हुआ कि उत्तरी कोरिया के लोग कब्र में से मांस निकालकर खाने लगे..

उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन एक बार फिर चर्चाओं में बने हुए है। कोरोना काल में दुनिया के सभी देशों की इकॉनॉमी प्रभावित हुई है। लेकिन यह कहा जा सकता है कि सबसे ज्यादा उत्तरी कोरिया की हुई है। किम जोंग उन व्यापार के लिए किसी देश पर निर्भर नहीं रहता है। किम जोंग उन का अधिकतर व्यापार चीन से होता है। कोरोना संक्रमण के भय से कोरियाई शासक ने अपनी सीमा को लॉक कर दिया था जिस कारण चीन से भी व्यापार संभव नहीं हो सका। इस कारण उत्तरी कोरिया का बिजनेस पूरी तरह से ठप हो गया। खबर सुनने को मिल रही है कि किम जोंग के देश में खाने-पीने की सामग्री कम हो रही है इस कारण तानाशाह मे अपनी जनता को चेतावनी दी है। खाद्य सामग्री के दाम आसमान छूने की खबर मिल रही है। इससे पहले भी उत्तर कोरिया में भुखमरी ( north corea starvation ) की स्थित आई थी। तब कई जगहों से कोरियाई लोगों के इंसानी मांस खाने की खबरें भी आई थीं। उत्तर कोरिया के हालात ऐसे है वहां के शासक किम जोंग उन ने खुद देश में आए खाने के सामान पर संकट की बात की थी।  इस बारे… Continue reading ऐसा क्या हुआ कि उत्तरी कोरिया के लोग कब्र में से मांस निकालकर खाने लगे..

Gautam Adani News: शेयरों पर लगातार हो रहे नुकसान के बाद अब गौतम अडानी नहीं रहे एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस

नई दिल्ली | अभी हाल में ही गौतम अडानी को एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस का खिताब मिला था. लेकिन गौतम अडानी इस किताब पर ज्यादा दिन तक नहीं रह सके. 3 दिनों में अदानी ग्रुप ने 70 हजार करोड रुपए गवा दिए हैं. इन सब के पीछे का कारण शेयर बाजार में हो रही इनके शेयरों की पिटाई ही है. शेयर बाजार में लगातार हो रही गिरावट के कारण गौतम अडानी के नेटवर्थ में करीब 9.4 अरब डॉलर (भारतीय रुपए में 70000 करोड़) की गिरावट दर्ज की गई है. Bloomberg billionaires index के अनुसार अब एक बार फिर से चीन के कारोबारी जॉन्ंग शानशान एशिया के रईसों के लिस्ट में दूसरे स्थान पर आ गए हैं. हालांकि अभी भी मुकेश अंबानी इस लिस्ट में टॉप पर हैं. क्यों धराशाई हुए अडानी बता दे कि सत्ता की शुरू से ही अदानी ग्रुप के शेयरों की जबरदस्त पिटाई हो रही है. हालात को देखते हुए अदानी पावर और अडानी टोटल गैस के शेयरों में भी 5% का लोअर सर्किट लगाना पड़ गया. इसके साथ ही सोमवार को यह खबर मिली थी कि एनएसडीएल ने तीन विदेशी फंडों के अकाउंट पर रोक लगा दी. बता दें कि इन तीनों विदेशी कंपनियों… Continue reading Gautam Adani News: शेयरों पर लगातार हो रहे नुकसान के बाद अब गौतम अडानी नहीं रहे एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस

भारत-चीन का कारोबार डेढ़ गुना बढ़ा

चीन ने भारत की जमीन कब्जाई हुई है, पूर्वी लद्दाख के कई इलाकों में अपनी सेना तैनात किए हुए बैठा है, पिछले साल जून में गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए और चीन को सबक सिखाने के लिए भारत सरकार ने उसके एक सौ से ज्यादा मोबाइल ऐप बंद कर दिए।लेकिन हकीकत यह है कि भारत और चीन के बीच इस साल के पहले पांच महीने में दोतरफा कारोबार डेढ़ गुना से ज्यादा हो गया। चीन की ओर से पेश किए गए आंकड़ों के मुताबिक पहले पांच महीने में कारोबार 70 फीसदी बढ़ा है लेकिन भारत सरकार के आंकड़ों के मुताबिक इसमें 55 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। यह भी पढ़ें: मौत का आंकड़ा कितना होगा? सोचें, कहां तो देश के महाप्रतापी प्रधानमंत्री द्वारा चीन को सबक सीखा देने की खबरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं और कहां दोतरफा कारोबार जोर-शोर से चल रहा है। चीन के आंकड़ों के मुताबिक इस साल के पहले पांच महीने में दोनों देशों के बीच 48 अरब डॉलर का कारोबार हुआ है। भारत के आंकड़ों के मुताबिक दोतरफा कारोबार करीब 45 अरब डॉलर का है। अगर भारत के आंकड़ों पर ही यकीन… Continue reading भारत-चीन का कारोबार डेढ़ गुना बढ़ा

मोदी सरकार ला रही है आदर्श किराया कानून (Modal tenancy Act), जानें किसे होगा फायदा  ?

नई दिल्ली |   देशभर में शायद ही ऐसी कोई ऐसी जगह हो जहां मकान मालिक और किराएदार के बीच झंझट नहीं होता हो. अब मोदी सरकार एक नया आदर्श किराया कानून (Modal tenancy Act) लागू करने के तैयारी कर रही है. प्रधानमंत्री मोदी के अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस मसौदे को मंजूरी भी दे दी गई है. ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि अब यह आदर्श किराया कानून जल्द ही देशभर में लागू हो जाएगा. जानकारों की माने तो जल्द ही देश में वर्तमान किरायेदार कानून में संशोधन होने वाला है और इसे कानून बनाकर देशभर में लागू किया जा सकता है. तो आइए जानते हैं कि क्या है या आदर्श किराया कानून और इसकी जरूरत क्यों आन पड़ी… ऐसे समझें आदर्श किराया कानून को आंकड़ों की मानें तो देश भर में 5 से 8% कोर्ट में चल रहे कि मकान मालिक और किरायेदारों के बीच के होते हैं. देश भर में ऐसे ही जजों की कमी के कारण कई मामले लंबित हैं ऐसे में केंद्र सरकार ने आदर्श किराया कानून लाकर मकान मालिकों और किरायेदारों के बीच के मतभेद को कम करने का एक प्रयास किया है. इस बाबत केंद्र सरकार की ओर… Continue reading मोदी सरकार ला रही है आदर्श किराया कानून (Modal tenancy Act), जानें किसे होगा फायदा ?

Bollywood News : अभिनेता अर्जुन कपूर ने कहा, एक अभिनेता का करियर अकेले हिट और मिस का फैसला नहीं करता

Bollywood अभिनेता अर्जुन कपूर (Arjun Kapoor) इस बात से सहमत हैं कि Bollywood में एक अभिनेता का करियर हिट और मिस से परिभाषित होता है

Samsung छोटी कंपनियों के साथ करेगा रॉयल्टी-मुक्त तकनीक साझा

सियोल | सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स (Samsung Electronics) छोटी स्थानीय कंपनियों को अपनी रॉयल्टी मुक्त तकनीकों (Royalty Free Techniques) का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने की अनुमति देगा। इसकी जानकारी आज वहां के उद्योग मंत्रालय (Industry Ministry) ने दी। अब 213 मोबाइल और 68 सेमीकंडक्टर पेटेंट, व्यापार, उद्योग मंत्रालय (Industry Ministry) और ऊर्जा सहित रॉयल्टी (Royalty) का भुगतान किए बिना छोटी-छोटी फर्में सैमसंग (Samsung) के 505 मामलों को भुनाने में सक्षम होंगी। इसे भी पढ़ें – Covid-19 : फिल्म उद्योग के कामगारों की वित्तीय मदद करेंगे आदित्य चोपड़ा मंत्रालय ने कहा, कॉग्लोमेरेट्स से छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों के लिए प्रौद्योगिकियों के हस्तांतरण को ‘कोविड महामारी द्वारा उत्पन्न कठिनाइयों को दूर करने में मदद मिलेगी। योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, 2013 से, दक्षिण कोरिया एक कार्यक्रम संचालित कर रहा है जो छोटी कंपनियों के साथ प्रौद्योगिकियों को साझा करने के लिए बड़ी कंपनियों को प्रेरित करता है। इस वर्ष की शुरूआत में, एसके ग्रुप, जिसमें नंबर 2 चिपमेकर एसके हाइनिक इंक शामिल हैं, ने कार्यक्रम के तहत 53 छोटे व्यवसायों के साथ 75 विभिन्न तकनीकों को भी साझा किया। दक्षिण कोरिया ने पॉस्को और कोरिया हाइड्रो एंड न्यूक्लियर पावर कंपनी सहित अन्य उद्योग नेताओं को दूसरे छमाही में छोटे व्यवसायों… Continue reading Samsung छोटी कंपनियों के साथ करेगा रॉयल्टी-मुक्त तकनीक साझा

Gold prize : सोना खरीदने की देश में मची होड़, मार्च में आयात बढ़कर 160 टन पहुंचा

New Delhi. कोरोना महामारी के दौर में लगातार सोना चांदी के दाम में गिरावट आ रही है. इस संबंध में  रत्न एवं आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (GJEPC) ने कहा है कि शुल्क कम कर 7.5 प्रतिशत कर दी गई है. इसके साथ ही बहुमूल्य धातु की कीमत में कमी तथा निर्यात बाजारों की मांग बढ़ने से मार्च में सोने का आयात बढ़कर 160 टन हो गया. स्पष्ट है कि लोग दाम के कम होने के कारण  महामारी के बाद भी आभूषणों में खर्च कर रहे हैं. बता दें कि  2019-20 के दौरान मार्च में सोने का आयात 28.09 टन हुआ था. GJEPC के आंकड़ों के अनुसार अभी साल के खत्म होने में काफी समय शेष है ऐसे में यह मात्र और भी ज्यादा बढ़ सकती है. कीमतों में कमी आने से बढ़ी मांग GJEPC ने कहा कि सोने के आयात में वृद्धि मुख्य रूप से लॉकडाऊन में ढील, भारत में शादी विवाह के मौसम, व्यापार और उपभोक्ताओं की सोच में आए हुए बदलाव के कारण हुई है. लोग अब ज्यादा से ज्यादा सोना खरीदकर रखना चाह रहे हैं . इसके पीछे का कारण स्पष्ट है. लोगों में अब कोरोना को लेकर डर समा गया है. इसलिए लोग अपने बुरे समय… Continue reading Gold prize : सोना खरीदने की देश में मची होड़, मार्च में आयात बढ़कर 160 टन पहुंचा

खाद्य पदार्थों की कीमतों में उछाल, खुदरा महंगाई बढ़कर हुई 5.52 फीसदी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (NSO) द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मार्च महीने में खुदरा महंगाई बढ़कर 5.52 फीसदी हो गई है। मुख्य रूप से खाद्य पदार्थों की कीमतों में बढ़ोत्तरी के चलते खुदरा महंगाई में तेजी आई है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित खुदरा महंगाई फरवरी में 5.03 फीसदी पर रही थी। यह भी पढ़ें:-  कोरोना से जंग में भारत को मिला एक और हथियार, इस वैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी यह भी पढ़ें:- ड्रेस को लेकर निशाने पर प्रियंका चोपड़ा, ट्रोलर्स ने कहा- लगता है कुछ पहनना भूल गई एक्ट्रेस आंकड़ों के अनुसार, खाद्य पदार्थों में मार्च महीने में कीमतों में वृद्धि की दर बढ़कर 4.94 फीसदी हो गई। इससे पहले के महीने में यह 3.87 फीसदी थी। फ्यूल और लाइट कैटेगरी में महंगाई मार्च महीने में 4.50 फीसदी पर रही। यह फरवरी महीने में 3.53 फीसदी पर रही थी। यह भी पढ़ें:- Rajasthan: RU नहीं करेगा छात्रों को प्रमोट, यूजी और पीजी के टाइमटेबल जारी यह भी पढ़ें:- महाराष्ट्र में 10वीं-12वीं की परीक्षाएं स्थगित होने के बाद राजस्थान सरकार का भी बड़ा फैसला, इन कक्षाओं के विद्यार्थी होंगे प्रमोट आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में भारतीय रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी से… Continue reading खाद्य पदार्थों की कीमतों में उछाल, खुदरा महंगाई बढ़कर हुई 5.52 फीसदी

ब्याज दरें अगली तिमाही में घटेंगी!

छोटी बचतों पर ब्याज दरों का एक लघु ड्रामा पिछले दिनों हुआ। 31 मार्च को खबर आई कि एक अप्रैल से सारी छोटी बचतों पर ब्याज दर घटाए जाएंगे। ब्याज दरों में 0.7 से लेकर 1.1 फीसदी तक कटौती का ऐलान किया गया। लेकिन अगले दिन यानी एक अप्रैल को पांच राज्यों, खास कर पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण का मतदान शुरू होने से पहले ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्विट करके कहा कि ब्याज दरों में बदलाव नहीं होगा। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि ब्याज दरों में कमी का फैसला गलती से हो गया था। उनको यह बताना चाहिए था कि यह गलती किसने की थी और उसके लिए उसके खिलाफ क्या कार्रवाई हुई। जाहिर है, यह नहीं बताया जाना था क्योंकि यह संयोग नहीं, बल्कि प्रयोग था। मशहूर कहानीकार एंटन चेखव ने लिखा है कि अगर नाटक के पहले दृश्य में दिवार पर लटकी बंदूक दिखती है तो वह चलेगी जरूर, अन्यथा वह टंगी नहीं होती। यही बात सरकार के ब्याज वाले ड्रामे में कही जा रही है। एक बार ब्याज दरें घटाने के बारे में सोच लिया गया है तो वह फैसला जरूर लागू होगा। अगर वित्त मंत्री की बात मानें तो इसका… Continue reading ब्याज दरें अगली तिमाही में घटेंगी!

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बाद शेयर बाजार मामूली बढ़त के साथ बंद

मुंबई। वैश्विक स्तर पर अधिकतर मुख्य सूचकांकों में रही बढ़ोतरी के साथ ही घरेलू स्तर पर Stock market के Sensex और Nifty में मामूली बढ़त दर्ज की गई जबकि पिछले कारोबारी दिवस पर Stock market में जोरदार गिरावट हुई थी। BSE का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक Sensex 42 अंक की बढ़त लेकर 49,201.39 अंक पर बंद हुआ और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का Nifty 46 अंकों की वृद्धि के साथ 14,683.50 अंक पर पंहुच गया। इस दौरान दिग्गज, मझोली तथा छोटी कंपनियों में हुई लिवाली से BSE का मिडकैप 201.97 अंक यानी 01 प्रतिशत की उछाल लेकर 20,485.83 अंक पर तथा स्मॉलकैप भी 175.11 अंक यानी 0.84 प्रतिशत की बढ़त के साथ 21,020.10 अंक पर पहुँच गया। इस दौरान हेल्थ केयर समूह की कंपनियों में सबसे अधिक 355.02 अंकों अर्थात 1.65 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि बैंकिंग क्षेत्र की कंपनियों में 187.20 अंक की गिरावट दर्ज की गई। इसे भी पढ़ें – HP ने भारत में छात्रों के लिए मीडियाटेक प्रोसेसर के साथ किफायती क्रोमबुक 11ए लॉन्च किया, जानें क्या है कीमत BSE में आज कुल 3071 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1664 कंपनियों के शेयर हरे निशान में और 1217 कंपनियों के शेयर लाल निशान में बंद हुये… Continue reading उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बाद शेयर बाजार मामूली बढ़त के साथ बंद

फैसला वापसी का राज़

इस सिलसिले में इस बात का उल्लेख जरूर किया जाना चाहिए कि बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती कोई एकबारगी लिया गया फैसला नहीं था। यह नीतिगत ट्रेंड है, जो वर्षों से जारी है। इस नीति का असर यह हुआ है कि बैंकों या डाक घर की बचत योजनाओं में पैसा रखना अब घाटे का सौदा हो गया है।

ब्याज दर पर पलटी सरकार

चुनाव के चलते छोटी बचतों पर ब्याज दर घटाने का आदेश 24 घंटे में वापिस। कहा गलती में हुआ आदेश।

और लोड करें