सूर्य ग्रहण: क्या आज भारत में दिखाई देगा 2021 का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें सूर्य ग्रहण कब और कैसे देख सकते है..

एकमात्र स्थान जहां यह पूर्ण सूर्य ग्रहण देखा जा सकता है, वह अंटार्कटिका है।

शनिवार को पृथ्वी से टकरा सकती है महत्वपूर्ण सौर चमक, जीपीएस सिग्नल को बाधित कर सकता है: नासा

हालांकि विकिरण भड़कना मनुष्यों को नुकसान पहुंचाने के लिए पृथ्वी के वायुमंडल से नहीं गुजर सकता है, लेकिन यह वास्तव में तीव्र भड़कना उस परत में वातावरण को परेशान कर सकता है जहां जीपीएस और संचार संकेत या

आइये जानते है पृथ्वी के इन स्थानों के बारे में जहां पर नहीं होता सूर्यास्त? जानें यहां की जलवायु और जिंदगी के बारें में..

हम दिन और रात की धारणा से पूरी तरह से सहज हैं। हालाँकि ये स्थान बाहरी हैं क्योंकि उन्हें प्रतिदिन 20-24 घंटे धूप मिलती है।

विशाल उल्कापिंड तेजी से आ रहा Earth की ओर, वैज्ञानिकों ने माना- टकराया तो धरती का विनाश निश्चित!

नई दिल्ली | Huge Meteorite : दुनिया में दो सालों से कोरोना महामारी रूकने का नाम नहीं ले रही और लोगों को लगातार शिकार बना रही है, वहीं इसी बीच एक और मुसीबत की खबर सामने आने लगी है। अब नासा के वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि बेहद बड़ा उल्कापिंड (Huge Meteorite) पृथ्वी की तरफ बढ़ रहा है जो पृथ्वी के लिए खतरा उत्पन्न कर सकता है। पृथ्वी की ओर बढ़ रहे इस खतरे को वैज्ञानिकों ने 23 जून को देखा था, जिसके बाद से हड़कंप मचा हुआ है। ये इतना बड़ा है कि शुरुआत में इसे एक ग्रह के तौर पर देखा गया, लेकिन स्टडी और रिसर्च में ये ग्रह नहीं बल्कि एक उल्कापिंड निकला। ये भी पढ़ें:- Ujjain: कालों के काल ‘Mahakal’ के आज से खुले दर्शन, श्रद्धालुओं को रखना होगा इन बातों का ध्यान पृथ्वी से टकराता है तो पृथ्वी की तबाही निश्चित! एस्ट्रोनॉमर्स भी इस 62 मीटर बड़े उल्कापिंड को स्पेस से पृथ्वी की ओर आते देख शॉक्ड हैं। एस्ट्रोनॉमर्स ने बताया कि 23 जनवरी 2031 को ये पृथ्वी के सबसे नजदीक होगा। ऐसे में इस उल्कापिंड को स्टडी करने के लिए अभी उनके पास 10 साल का समय है। वैज्ञानिकों का मानना है कि ये… Continue reading विशाल उल्कापिंड तेजी से आ रहा Earth की ओर, वैज्ञानिकों ने माना- टकराया तो धरती का विनाश निश्चित!

गंगा दशहरा 2021 : जानें कब है गंगा दशहरा, शुभ मुहुर्त और मां गंगा के पृथ्वी पर अवतरित होने की कहानी

hridwar| हिंदु धर्म में हर त्यौंहार का अपना अलग महत्व है। हर त्यौहार को बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाता है। लेकिन गंगा दशहरा का अपने आप में एक विशेष महत्व है। पूरे देश में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ यह पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष गंगा दशहरा 20 जून को है।हर साल ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथी को गंगा दशहरा मनाया जाता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ऋषि भागीरथी की कड़ी तपस्याओं के बाद मां गंगा धरती पर आने के लिए राजी हुई थी। इस दिन मां गंगा धरती पर अवतरित हुई थी। उसी समय से गंगा दशहरा के नाम से यह पर्व ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथी को मनाया जाता है। गंगा के पानी में स्नान करने से सबी पापों की मुक्ति हो जाती है। और गंगा दशहरे पर तो मां गंगा का विशेष प्रसाद मिलता है। मान्यता है कि गंगा दशहरे के दिन गंगा नदी के पवित्र जल में स्नान करने या डुबकी लगाने से मनुष्य के सभी पापों का नाश हो जाता है और सभी मनोंकामनाए भी पूर्ण होती है। इस दिन दान करने की मान्यता है। अपनी श्रद्धानुसार दान करने से पापों से मुक्ति मिलने के साथ-साथ उसे… Continue reading गंगा दशहरा 2021 : जानें कब है गंगा दशहरा, शुभ मुहुर्त और मां गंगा के पृथ्वी पर अवतरित होने की कहानी

दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता

दुनिया के आयरमैन के नाम से मशहूर एलोन मस्क हमेशा से ही स्पेस से जुड़े कार्यों में रूचि दिखाते आए है। इसी क्षेत्र में उन्होने कई ऐसे काम भी किये है। इस बार एलोन मस्क ने एक दिलचस्प ट्विट किया है। स्पेसएक्स और टेस्ला के मालिक एलोन मस्क हमेशा से ही मंगल पर जाने की रूचि रखते है।एलन मस्क ने कहा है कि अगर उस समय स्पेसशिप होते आज डायनासोर पृथ्वी पर घूम रहे होते। बताया जाता है कि 6.6 करोड़ साल पहले पृथ्वी से एक क्षुद्रग्रह टकराया था। यह टकराव 10 अरब आणविक बमों के बराबर शक्तिशाली था इसकी वजह से पृथ्वी पर ऐसे बदलाव आए की डायनासोर सहित दुनिया के दो तिहाई जीवों को नाश हो गया। साल 2019 में इस विनाशकारी टकराव और उसके प्रभावों पर एक शोध किया गया था। वैज्ञानिकों ने मैक्सिको के युकाटैन प्रायद्वीप में हुए इस टकराव में बिखरे सैंकड़ों पत्थरों का अध्ययन किया। उनका मानना है कि इस टकराव से दुनिया भर में सुनामी, और जंगलों में आग जैसी घटनाएं हुई और पृथ्वी के वायुमंडल में विशाल मात्रा में सल्फर छा गया था और लंबे समय तक पृथ्वी पर सूर्य की किरणें नहीं पहुंच सकी थीं। इसे भी पढ़ें World Menstrual Hygiene Day… Continue reading दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता

चैत्र नवरात्र 2021: मां दुर्गा की छठी शक्ति देवी कात्यायनी क्यों कहलायी महिषासुरमर्दिनी

नवरात्रि में छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। इनकी उपासना और आराधना से भक्तों को बड़ी आसानी से अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। उसके रोग, शोक, संताप और भय नष्ट हो जाते हैं। जन्मों के समस्त पाप भी नष्ट हो जाते हैं।  इनकी उपासना और आराधना से भक्तों को बड़ी आसानी से अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। उसके रोग, शोक, संताप और भय नष्ट हो जाते हैं। जन्मों के समस्त पाप भी नष्ट हो जाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि इस देवी की उपासना करने से परम पद की प्राप्ति होती है। इसे भी पढ़ें गुजरातः माता सती का ऐसा अनोखा मंदिर जहां श्रद्धालु तो आते है लेकिन मुर्ति नहीं देख पाते…. मां का स्वरूप मां कात्यायनी अद्भुत रूप वाली हैं। नवरात्र के छठे दिन साधक का मन आज्ञा चक्र में स्थित रहता है। योग साधना में आज्ञा चक्र का खास महत्व होता है। जातक का मन आज्ञा चक्र में स्थित होने के कारण देवी कात्यायनी के आसानी से दर्शन मिलते हैं। मां कात्यायनी का रूप भव्य तथा प्रभावशाली होता है। उनका रूप सोने की तरह चमकीला है। देवी कात्यायनी की चार भुजाएं हैं। दायीं… Continue reading चैत्र नवरात्र 2021: मां दुर्गा की छठी शक्ति देवी कात्यायनी क्यों कहलायी महिषासुरमर्दिनी

Life On Mars : मार्स पर जीवन संभव! Design studios ने शेयर की बनने जा रहे घरों की तस्वीरें 

Nasa लगातार मंगल ग्रह पर रिसर्च कर रहा है. मंगल ग्रह पर बस्ती बसने को लेकर लगातार प्लानिंग चल रही है. NASA का दावा है कि मंगल पर जीवन संभव है और नासा ने ऐसा कर दिखाया है. डिजाइन स्टूडियों ने मंगल पर बनने जा रहे घरों की तस्वीर शेयर कर यह जानकारी दी है. नासा अपने महत्वकांशी प्रोजेक्ट  ‘मिशन मंगल’ (MISSION MANGAL) के लिए लाल ग्रह पर अपने रोवर भी उतार चुका है, जो मंगल पर जीवन के प्रमाण ढूंढेगा. मंगल के लाल ग्रह पर घर बनाए जाएंगे. करीब ढ़ाई लाख लोगो की आबादी मंगल पर निवास करेगी. इस बात का खुलासा अमेरिकी आर्किटेक्चर स्टूडियो ABIBOO ने मार्स पर बस्ती बसाने के लिए अपनी खास डिजाइन की पेशकश कर किय  है. कार्बन डाईऑक्साइड और पानी के इस्तेमाल से बनाए जा सकेंगे घर अमेरिकी आर्किटेक्चर स्टूडियो ABIBOO ने मार्स पर बस्ती बसाने के लिए अपनी खास डिजाइन की पेशकश की है. इस बात की जानकारी अमेरिकी कंपनी ने तस्वीरें शेयर कर दी है. अमेरिकी कंपनी ABIBOO का कहना है कि मार्स पर मौजूद कार्बन डाईऑक्साइड(CO2) और पानी (H2O) के इस्तेमाल से वहां घर बनाए जा सकते हैं. कंपनी का कहना है कि मार्स पर वर्टिकल रूप से घर होंगे ताकि… Continue reading Life On Mars : मार्स पर जीवन संभव! Design studios ने शेयर की बनने जा रहे घरों की तस्वीरें 

पेड़ लगाना पृथ्वी को बचाने का अभियान: शिवराज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि पेड़ लगाना पृथ्वी को बचाने का अभियान है। यह अत्यंत पुनीत कार्य है। इस पवित्र सामाजिक अभियान को सफल बनाने के लिए वे निकल पड़े हैं,

जैव विविधता बचाने की मोदी की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लोगों से विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पृथ्वी की जैव विविधता को संरक्षित करने का आग्रह करते हुए कहा कि हमें वनस्पति और जीवों को

धरती की सुरक्षा से संबंधित अभियान में शामिल हुईं भूमि, ईशा

नए साल के जश्न में जहां बॉलीवुड के अधिकतर सितारें अपने परिजनों व दोस्तों के साथ छुट्टियां मनाने में व्यस्त हैं, वहीं कुछ ऐसे भी सितारें हैं, जिन्होंने अपना ये वक्त कुदरत को सौंपा है।

अंतरिक्ष में पहुंचीं शराब की 12 बोतलें

शराब की 12 बोतलें अंतरिक्ष स्टेशन में पहुंचाई गई है। यह शराब अंतरिक्ष यात्रियों के लिए नहीं है बल्कि एक प्रयोग के तौर पर भेजी गई है।

हिमयुग ने ऐसे बदल दी थी पृथ्वी की तस्वीर

करीब 60 करोड़ साल पहले वैश्विक हिमयुग ने धरती के स्वरूप को आश्चर्यजनक तरीके से बदल दिया था

और लोड करें