सिख व जाटों की नाराजगी और संघ

उत्तर प्रदेश के जाट किसान और पंजाब व हरियाणा के जाट, सिख किसानों की नाराजगी को लेकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ में चिंता है।

किसानों ने छह घंटे तक रोकी रेल सेवा

केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे संयुक्त किसान मोर्चे ने सोमवार को छह घंटे तक कई जगह रेल सेवा को बाधित किया।

27 सितंबर को ‘Bharat Bandh’ को मिला कई संगठनों का समर्थन, तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने की घोषणा

27 सितंबर को आहूत ’भारत बंद’ को अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (एआईबीओसी) ने अपना समर्थन देने की घोषणा की है।

सिंघु बॉर्डर खुलवाने के लिए चर्चा

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में पिछले करीब 10 महीने से आंदोलन कर रहे किसानों से दिल्ली की सीमा पर सिंघु बॉर्डर का एक हिस्सा खाली कराने के लिए हरियाणा सरकार ने बातचीत शुरू कर दी है।

महापंचायत में किसानों ने भरी हुंकार

केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे लाखों किसानों ने रविवार को किसान महापंचायत में हुंकार भरी।

राहुल गांधी ने जंतर-मंतर पर किया कृषि कानूनों का विरोध, कहा- काले कानूनों को रद्द करे सरकार

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि उनकी पार्टी और अन्य विपक्षी दल संसद में किसानों के मुद्दे पर चर्चा नहीं चाहते बल्कि सरकार से किसान विरोधी कृषि संबंधी तीनों कानूनों को खत्म करने की मांग कर रहे हैं। गांधी ने शुक्रवार को विपक्षी दलों के साथ यहां जंतर-मंतर पर आयोजित ‘किसान संसद’ में हिस्सा लेने के बाद पत्रकारों के सवाल पर कहा कि विपक्ष को अब किसानों के मुद्दे पर चर्चा नहीं चाहिए।

किसानों ने रोका भाजपा का कार्यक्रम

farmer protest yamunanagar : चंडीगढ़। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने हरियाणा में भाजपा और उसकी सरकार का विरोध तेज कर दिया है। हरियाणा में किसानों ने दो जगहों पर भाजपा को कार्यक्रम करने से रोक दिया। हरियाणा के दो जिलों में शनिवार को कुछ कार्यक्रमों में शामिल होने पहुंचे भाजपा नेताओं के विरोध से नाराज किसान पुलिस से भिड़ गए। गौरतलब है कि किसान पिछले सात महीने से लगातार केंद्रीय कानूनों का विरोध कर रहे हैं। शनिवार को किसानों और भाजपा नेताओं के टकराव की खबरें हरियाणा के यमुनानगर और हिसार जिलों से मिलीं है। राज्य के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा शनिवार को यमुनानगर में पार्टी की एक बैठक को संबोधित करने वाले थे, जहां किसानों से पुलिस की झड़प हो गई। किसानों ने पहले भाजपा और जननायक जनता पार्टी के नेताओं को जिले में किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम को संबोधित करने की अनुमति नहीं देने की अपील की थी। किसानों की धमकी के बाद कार्यक्रम स्थल पर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। हालांकि, किसान ट्रैक्टर पर पहुंचे और बैरिकेड्स को तोड़ दिया। हिसार में भी किसानों ने इसी तरह कार्यक्रम को बाधित किया। वहां प्रदेश भाजपा अध्यक्ष… Continue reading किसानों ने रोका भाजपा का कार्यक्रम

महंगाई के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन

farmers protest against inflation : चंडीगढ़/नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सात महीने से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे किसानों ने गुरुवार को महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दामों में बढ़ोतरी और दूसरी चीजों की बढ़ती कीमतों के खिलाफ दिल्ली की सीमा से लेकर पंजाब और हरियाणा में कई जगह किसानों ने प्रदर्शन किया। किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने इस प्रदर्शन का ऐलान किया था। संयुक्त किसान मोर्चा की अपील पर किसानों ने सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक प्रदर्शन का किया। प्रदर्शनकारियों ने अपने ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ियों को सड़क के किनारे खड़ा कर दिया और पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कई जगहों पर विरोध के लिए किसान एलपीजी के खाली सिलिंडर भी लेकर पहुंचे थे। कुछ जगहों पर किसान बैलगाड़ी और ऊंटगाड़ी से आंदोलन में पहुंचे। आंदोलनकारी किसानों ने 12 बजे कुछ मिनटों के लिए अपनी गाड़ियों के हॉर्न बजाए और कहा कि यह सरकार को नींद से जगाने के लिए किया गया है। पंजाब और हरियाणा में कई जगह प्रदर्शन कर रहे किसानों ने जरूरी वस्तुओं की… Continue reading महंगाई के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन

संसद सत्र के दौरान किसान करेंगे प्रदर्शन

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों के विरोध में सात महीने से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे किसानों ने संसद सत्र के दौरान प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने रविवार को दिल्ली और हरियाणा की सीमा पर बैठक की। इस बैठक में फैसला किया गया कि संसद के मॉनसून सत्र के दौरान आंदोलनकारी संसद भवन पर प्रदर्शन करेंगे। इसके अलावा 19 जुलाई से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र से दो दिन पहले 17 जुलाई को सभी विपक्षी दलों के सांसदों को चेतावनी पत्र देकर संसद में चुप्पी तोड़ने या कुर्सी छोड़ने की मांग की जाएगी। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया जाता और न्यूनतम समर्थन मूल्य, एमएसपी पर कानून बनाने की बात नहीं होती, तब तक विपक्षी सांसद संसद न चलने दें। यह भी कहा गया कि 22 जुलाई से लगातार बार्डर से आंदोलनकारी संसद मार्ग पर जाकर प्रदर्शन करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने बताया कि इसी तरह आठ जुलाई को देश भर में पेट्रोल, डीजल व गैस की बढ़ती कीमतों के खिलाफ हाईवे के किनारे 10 से 12 बजे तक गाड़ियों, गैस सिलेंडर के… Continue reading संसद सत्र के दौरान किसान करेंगे प्रदर्शन

किसान इमरजेंसी का विरोध क्यों कर रहे हैं?

केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में करीब सात महीने से आंदोलन कर रहे किसान 26 जून को इमरजेंसी की बरसी के मौके पर देश भर में विरोध प्रदर्शन करेंगे। कांग्रेस पार्टी के नेता इससे परेशान हुए हैं। उनको लग रहा है कि उन्होंने किसानों के आंदोलन का समर्थन किया और अब किसान कांग्रेस को ही शर्मिंदा करने का काम कर रहे हैं। सवाल है कि किसान क्यों ऐसा कर रहे हैं? क्या संयुक्त किसान मोर्चा में राकेश टिकैत, गुरनाम सिंह चढूनी और योगेंद्र यादव के बीच सब कुछ ठीक नहीं है और उनके आपसी विवाद की वजह से ऐसा हो रहा है? या केंद्र सरकार किसानों से बातचीत की पहल करने जा रही है और सरकार के साथ किसी किस्म की सहमति बनी है, जिसके बाद किसान कांग्रेस को शर्मिंदा करने वाला काम कर रहे हैं? यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने अपना नुकसान किया देर-सबेर इसका पता चल जाएगा कि किसान क्यों ऐसा कर रहे हैं लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अगर किसानों की मंशा कांग्रेस को शर्मिंदा करने की है तो उन्होंने जून के पहले हफ्ते में ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर प्रदर्शन क्यों नहीं किया? ध्यान रहे आंदोलन कर रहे किसानों में ज्यादातर पंजाब और हरियाणा… Continue reading किसान इमरजेंसी का विरोध क्यों कर रहे हैं?

इमरजेंसी विरोधी दिवस मनाएंगे किसान नेता

चंडीगढ़। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ करीब सात महीने से आंदोलन कर रहे किसानों ने 26 जून को इमरजेंसी विरोधी दिवस मनाने का ऐलान किया है। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चे की इस घोषणा से कांग्रेस पार्टी के नेता खासे खफा और निराश हुए हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी ने किसानों के इस आंदोलन का जम कर समर्थन किया है। भाजपा भी आरोप लगाती रही है कि आंदोलन कांग्रेस का खड़ा किया हुआ है। पर अब किसानों ने कांग्रेस के खिलाफ ही प्रदर्शन की योजना बनाई है। किसान आंदोलन को कांग्रेस का समर्थन होने के बावजूद संयुक्त किसान मोर्चा ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को तानाशाह शासक बताते हुए 26 जून को इमरजेंसी की बरसी पर पूरे देश में प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। हालांकि इसको किसान आंदोलन के नेताओं की आपसी खींचतान का नतीजा भी बताया जा रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि किसानों ने अपने आंदोलन को अराजनीतिक दिखाने के लिए यह पैंतरा चला है। इस बीच यह भी खबर है कि सरकार किसानों से बातचीत करके आंदोलन खत्म कराने का रास्ता निकालना चाहती है। बहरहाल, किसानों के इस ऐलान का हरियाणा के कांग्रेस नेताओं ने… Continue reading इमरजेंसी विरोधी दिवस मनाएंगे किसान नेता

Kisan Andolan: हरियाणा में किसान मोर्चे का प्रदर्शन

चंडीगढ़। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में छह महीने से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को हरियाणा में प्रदर्शन किया। किसान नेता राकेश टिकैत और गुरनाम सिंह चढूनी के नेतृत्व में हजारों किसानों ने हरियाणा के टोहाना में मार्च किया। गौरतलब है कि राज्य की भाजपा सरकार की सहयोगी जननायक जनता पार्टी के विधायक देवेंद्र बबली के साथ किसानो की झड़प हुई थी और तीन किसानों को गिरफ्तार किया गया। उसके विरोध में किसानों ने मार्च निकाला। बताया जाता है कि देवेंद्र बबली ने टोहाना में विरोध प्रदर्शन करने वाले किसानों के प्रति अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। हरियाणा में प्रदर्शनकारी किसानों ने बुधवार को कहा था कि यदि जननायक जनता पार्टी के विधायक देवेंद्र सिंह बबली फतेहाबाद के टोहाना में एक प्रदर्शन के दौरान कथित रूप से उन्हें गालियां देने को लेकर छह जून तक माफी नहीं मांगते हैं तो वे राज्य में सभी थानों का घेराव करेंगे। दूसरी ओर बबली ने किसानों के आरोपों से इनकार किया है और उलटे किसानों के एक समूह पर उनकी हत्या का प्रयास करने का आरोप लगाया है। गौरतलब है कि मंगलवार को टोहाना में हुई झड़प के सिलसिले में प्रदर्शनकारियों के… Continue reading Kisan Andolan: हरियाणा में किसान मोर्चे का प्रदर्शन

राहुल को अमेरिका से उम्मीद!

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत में आजादी व लोकतंत्र खतरे में होने और संस्थाओं पर हमले को लेकर अमेरिका की चुप्पी पर सवाल उठाया और उससे उम्मीद भी जताई। विजन ऑन डेमोक्रेसी को लेकर एक ऑनलाइन चर्चा के दौरान अपने विचार साझा करते हुए राहुल कहा कि भारत में जो कुछ हो रहा है, उस पर अमेरिका ने चुप्पी साध रखी है। राहुल ने कहा- मैं इस बात में विश्वास करता हूं कि अमेरिका एक अर्थपूर्ण विचार है। भारत में अमेरिका के राजदूत रहे निकोलस बर्न्स के राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक ऑनलाइन बातचीत में हिस्सा लिया। बर्न्स फिलहाल हार्वर्ड केनेडी स्कूल के प्रोफेसर हैं। बर्न्स की बातचीत का विषय चीन और रूस की ओर से पेश किए जा रहे कठोर विचारों के खिलाफ लोकतंत्र के विचार था। इसी मसले पर बर्न्स से राहुल गांधी ने कहा- भारत में जो कुछ भी हो रहा है, उस पर यूएस की सत्ता से कुछ भी सुनने को नहीं मिलता है। उन्होंने आगे कहा- अगर आप लोकतंत्र की भागीदारी की बात कर रहे हैं तो जो देश में हो रहा है, उस पर आपके क्या विचार हैं? मैं इस बात में विश्वास करता हूं कि अमेरिका एक… Continue reading राहुल को अमेरिका से उम्मीद!

किसान आंदोलन, महंगाई पर राज्यसभा में आज भी हंगामे की संभावना

राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे, मूल्य वृद्धि, किसानों के विरोध और अन्य मुद्दों पर चर्चा कराने की मांग के मद्देनजर हंगामा हो सकता है।

किसान आंदोलनः 100 दिन बाद

आंदोलनकारी किसानों के दिल्ली में डेरा डाले 100 से ज्यादा हो गए हैं। लेकिन गतिरोध जहां का तहां है। कई विश्लेषकों का आरंभ से अनुमान था कि इस आंदोलन का गतिरोध खत्म नहीं होगा।

और लोड करें