kishori-yojna
Rajasthan में 24 घंटे के दौरान सामने आए 942 नए मामले, अब Vaccine विवाद ने पकड़ा तूल

जयपुर । राजस्थान में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर (COVID-19 Second Wave) अब पूरी तरह से कमजोर पड़ चुकी है। यहां नए मामलों में गिरावट के साथ ही कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या भी घटी है। लेकिन राज्य के नेताओं में कोरोना संक्रमण और वैक्सीन (Corona Vaccine) को लेकर लगातार आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है। सत्ता पक्ष केन्द्र पर आरोप लगा रहा है तो विपक्ष राज्य सरकार को निषाना बना रहा है। अब तो वैक्सीन विवाद राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) तक पहुंच गया है। इन सब के बीच राजस्थान में शनिवार को 24 घंटे के दौरान 942 नए मामले सामने आए हैं। इसी दौरान राज्य में कोरोना से 32 लोगों की मौत दर्ज हुई है। बता दें कि राज्य में शुक्रवार को नए मामलों की संख्या 1006 थी। ये भी पढ़ें:- Corona की दूसरी लहर के तांड़व में देश के 646 डॉक्टरों ने संक्रमण से गंवाई जान, इन राज्यों में हुई मौतें राज्य में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 9,45,442 हो गई है, वहीं कुल मौतों की संख्या 8631 हो गई है। राज्य में अभी 21550 एक्टिव मामले है। राज्य में सर्वाधिक 170 नए मामले राजधानी जयपुर में मिले हैं, जबकि 24 घंटे में यहां 7 मौत… Continue reading Rajasthan में 24 घंटे के दौरान सामने आए 942 नए मामले, अब Vaccine विवाद ने पकड़ा तूल

मिश्र एवं गहलोत ने मोदी को जन्म दिन की दी बधाई

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।

गहलोत सरकार संकट से बाहर?

राजस्थान में विधानसभा का सत्र नजदीक आने से पहले ही राज्य में चल रही सियासी उथलपुथल खत्म होती दिख रही है।

भाजपा अध्यक्ष का पायलट पर निशाना

कांग्रेस का अंदरूनी विवाद सुलझने के हालात बनते ही भारतीय जनता पार्टी ने राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से पल्ला झाड़ लिया है।

कांग्रेस की विधानसभा सत्र की रणनीति बनी

कांग्रेस पार्टी ने 14 अगस्त से होने वाले विधानसभा सत्र को लेकर अपनी रणनीति पर रविवार को चर्चा की। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत रविवार को जैसलमेर पहुंचे, जहां कांग्रेस पार्टी के विधायक रूके हुए हैं। उन्होंने कांग्रेस विधायकों के साथ सत्र की रणनीति पर चर्चा की।

खरीद फरोख्त मामले से राजद्रोह धारा हटी

राजस्थान में चल रही सियासी उथलपुथल के बीच एक बड़े घटनाक्रम में राज्य सरकार ने विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिशों से जुड़े मामले को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, एसीबी को ट्रांसफर कर दिया है।

पायलट समर्थकों से मैसेज नहीं है!

क्या राजस्थान कांग्रेस में सुलह सफाई का कोई प्रयास हो रहा है? राज्य सरकार ने सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों को भेजे गए नोटिस में से राजद्रोह की धारा हटा दी है और मामले को भी एसओजी से लेकर एसीबी में भेज दिया है।

पटरी पर लौटता राजस्थान ?

राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की राजनीति शायद फिर पटरी पर लौट सकती है। खास तौर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ताज़ा बयान से ऐसी संभावना बन रही है।

जैसलमेर गए कांग्रेस के विधायक

राजस्थान में पिछले 22 दिन से चल रहे सियासी घमासान में शुक्रवार को नया मोड़ आ गया। एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायकों से जयपुर के होटल में ही रहने को कहा था लेकिन शुक्रवार को अचानक विधायकों को विशेष विमान से जैसलमेर भेज दिया गया। कांग्रेस के 95 विधायकों को शुक्रवार को तीन विशेष विमानों से जयपुर से जैसलमेर भेजा गया।

भाजपा की है यह साजिश: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के ऊपर राज्य सरकार गिराने की साजिश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह भी कहा है कि कांग्रेस के कुछ विधायकों को बंधक बना कर हरियाणा के मानेसर में रखा गया है।

खरीद-बिक्री के नए रेट आए: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने भाजपा और कांग्रेस से बागी हुए सचिन पायलट खेमे पर तंज करते हुए कहा है कि अब खरीद-बिक्री के नए रेट आ गए हैं।

राजभवन में विधायकों की परेड करा सकते हैं गहलोत

राजस्थान में व्हिप उल्लंघन के मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय के यथास्थिति बनाने के आदेश के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजभवन में राज्यपाल कलराज मिश्र के सामने विधायकों की परेड करा सकते हैं।

गहलोत जरूरत पड़ने पर राष्ट्रपति के पास जाने को तैयार

राजस्थान में विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने को लेकर राज्यपाल कलराज मिश्र के साथ टकराव होने के अगले दिन राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

राजस्थान में सत्र बुलाने पर टकराव

राजस्थान में चल रही सियासी उठापटक ने उस समय दिलचस्प मोड़ ले लिया जब विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का अनुरोध लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

सत्र बुलाने के आश्वासन के बाद कांग्रेस विधायकों का धरना समाप्त

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कुछ महत्वपूर्ण बिंंदुओं पर जानकारी मिलने के बाद कांग्रेस विधायकों को विधानसभा का सत्र बुलाने का आश्वासन दिया

और लोड करें