चिराग ने की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

नई दिल्ली। अपने चाचा पशुपति पारस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने के बाद अब चिराग पासवान ने अपनी ताकत दिखाई है। पारस के साथ पार्टी के छह में पांच सांसद हैं तो चिराग ने बताया है कि उनकी बुलाई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 90 फीसदी सदस्य शामिल हुए और साथ ही 12 राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों ने भी हिस्सा लिया। गौरतलब है कि लोक जनशक्ति पार्टी के पांच सांसदों ने पशुपति पारस के नेतृत्व में अलग गुट बना लिया है और चिराग पासवान को पार्टी से निकाल दिया है। दूसरी ओर चिराग ने भी पशुपति पारस और दूसरे सांसदों को पार्टी से निकाल दिया है। इस टकराव के बीच लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर कब्जे के लिए चाचा-भतीजा के बीच चल रही वर्चस्व की जंग और तेज हो गई है। इसे लेकर राजधानी दिल्ली के 12, जनपथ स्थित अपने आस पर चिराग पासवान ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग की। पार्टी की तरफ से दावा किया गया है कि इसमें बिहार सहित 12 राज्यों के अध्यक्षों के साथ ही 90 फीसदी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य शामिल हुए। सभी ने अपना समर्थन चिराग को दिया है। बैठक में मौजूद कार्यकारिणी के सदस्यों ने पार्टी से निलंबित किए गए पशुपति… Continue reading चिराग ने की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

पारस बने लोजपा के नए अध्यक्ष

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को पार्टी से निकालने के दो दिन बाद पशुपति कुमार पारस पार्टी के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। इससे पहले पारस को पार्टी संसदीय दल का नेता भी चुना गया था और लोकसभा स्पीकर ने भी उनको मान्यता दे दी थी। इसके बाद गुरुवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पारस को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। गुरुवार शाम लोजपा कार्यालय में इसकी औपचारिक घोषणा हुई। हालांकि चिराग पासवान अब भी खुद को लोजपा का अध्यक्ष मान रहे हैं और उन्होंने एक दिन पहले ही पारस और चार अन्य सांसदों को पार्ट से निकाला था। अपने चाचा पशुपति पारस के अध्यक्ष चुने जाने की खबरों के बाद पारस ने कहा कि लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में 75 सदस्य हैं, जिनमें से नौ लोग ही उनके चुनाव के समय मौजूद थे। बहरहाल, पार्टी की कमान संभालते ही पशुपति पारस ने चिराग पासवान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भतीजा तानाशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा। यह प्रजातंत्र है, कोई आजीवन अध्यक्ष नहीं रह सकता। दलित सेना के अध्यक्ष पद पर रहने के सवाल पर पारस ने कहा कि दलित सेना अलग संस्था है। उन्होंने कहा- जिस दिन मंत्री पद लूंगा,… Continue reading पारस बने लोजपा के नए अध्यक्ष

बिहार से बनेंगे सबसे ज्यादा मंत्री!

पता नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार में विस्तार कब करेंगे, लेकिन जब भी करेंगे तो संभव है कि बिहार से सबसे ज्यादा मंत्री बनेंगे। भाजपा और उसकी सहयोगी पार्टियों से जुड़े जानकार नेताओं ने कैबिनेट विस्तार की नई तारीख बताई है। कहा जा रहा है कि 24 या 25 जून को कैबिनेट विस्तार होगा और उसी हिसाब से बिहार के नेता शपथ लेने की तैयारी कर रहे हैं। हालांकि अभी कुछ भी तय नहीं है। यह भी पढ़ें: लोजपा का नेता कौन- चिराग या पारस? जनता दल यू को सरकार में जगह मिलेगी या नहीं और  मिलेगी तो कितने मंत्रियों का कोटा तय होगा यह तय नहीं है पर जदयू से तीन नेता तैयारी में हैं। इसी तरह भाजपा से कम से कम दो और चिराग पासवान से अलग होकर बने लोजपा गुट से एक नेता मंत्री पद की शपथ लेने की तैयारी कर रहे हैं। यह भी पढ़ें: सपा का तालमेल छोटी पार्टियों के साथ नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यू ने 30 मई 2019 को भी तीन मंत्री पद की मांग की थी और अब भी कहा जा रहा है कि जदयू की मांग तीन मंत्री पद की है। अगर इस पर सहमति बनती है तो… Continue reading बिहार से बनेंगे सबसे ज्यादा मंत्री!

लोजपा का नेता कौन- चिराग या पारस?

बिहार में अब रामविलास पासवान की विरासत की जंग शुरू हो गई है। रामविलास की बनाई लोक जनशक्ति पार्टी का नेता कौन होगा? पार्टी मुख्यालय और उसके फंड को कौन नियंत्रित करेगा? और सबसे बड़ी बात यह है कि बिहार का पांच फीसदी दुसाध वोट किसके साथ जाएगा? अभी पहले दौर की राजनीति देखें तो ऐसा लग रहा है कि पशुपति पारस ने अपने भतीजे चिराग पासवान को पटखनी दे दी है क्योंकि उनके साथ पांच सांसद हैं और पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर अभी उनका नियंत्रण है। चूंकि लोजपा के पास एक भी एमएलए या एमएलसी नहीं है। उसकी कुल पूंजी छह सांसदों की थी, जिसमें से पांच पशुपति पारस के साथ चले गए हैं। इसके अलावा एक बड़ी पूंजी पांच फीसदी पासवान वोट की है। इसके साथ कुछ सवर्ण भी रामविलास पासवान के साथ हमेशा जुड़े रहे थे। यह भी पढ़ें: बिहार से बनेंगे सबसे ज्यादा मंत्री! अब असली लड़ाई उस वोट बैंक की है। बिहार में या देश के दूसरे हिस्सों में भी प्रादेशिक पार्टियों के राजनीतिक उत्तराधिकार की बात आती है तो आमतौर पर वह सुप्रीम नेता के बेटे-बेटी को ही ट्रासंफर होती है। इस लिहाज से रामविलास पासवान के उत्तराधिकारी उनके बेटे चिराग पासवान ही… Continue reading लोजपा का नेता कौन- चिराग या पारस?

चिराग ने स्पीकर को लिखी चिट्ठी

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति पारस को लोकसभा में पार्टी के नेता के तौर पर मान्यता देने का विरोध करते हुए लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी लिखी है। चिराग ने स्पीकर ओम बिड़ला को लिखी चिट्ठी में कहा है कि पशुपति पारस को नेता की मान्यता देना पार्टी के संविधान के विरूध है। पासवान ने स्पीकर को यह भी सूचित किया कि उनकी अध्यक्षता में पार्टी ने पारस सहित उन पांच सांसदों को लोजपा से निष्कासित कर दिया है जो उनके खिलाफ एकजुट हुए हैं। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से अनुरोध किया कि वह अपने फैसले पर फिर से विचार करें और सदन में उन्हें लोजपा के नेता के तौर पर मान्यता देने का नया परिपत्र जारी करें। बिहार की जमुई सीट से लोकसभा सदस्य चिराग पासवान ने कहा- लोजपा के संविधान के अनुच्छेद 26 के तहत केंद्रीय संसदीय बोर्ड को यह अधिकार है कि वह यह फैसला करे कि लोकसभा में पार्टी का नेता कौन होगा। ऐसे में पशुपति कुमार पारस को लोकसभा में लोजपा का नेता घोषित करने का फैसला हमारी पार्टी के संविधान के प्रावधान के विपरीत है। गौरतलब है कि पिछले दिनों लोजपा के छह सांसदों में से पांच ने… Continue reading चिराग ने स्पीकर को लिखी चिट्ठी

पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं…

पटना | बिहार चुनाव के दौरान खुद को पीएम मोेदी का हनुमान बताने वाले चिराग पासवान आज विषम परिस्थितियों में हैं. उनके इस स्थिति में पहुंचने के कारण तो वो खुद हैं लेकिन एक ऐसा समय भी था जब पीएम मोदी हमेशा से चिराग को प्रमोट करते हुए नजर आते थे. लेकिन आज अपने हनुमान पर ना तो पीएम मोदी को ही दया आ रही है और ना ही भाजपा के अन्य नेताओं और  प्रवक्ताओं से इस बारे में पूछने पर उनका जवाब ये आ रहा है कि ये उनका आंतरिक मामला है और इस विषय में हमारा कुछ भी कहना सही नहीं है. लेकिन क्या सच में तस्वीर वहीं है जो दिखाई जा रही है या फिर इस तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की है. इसमें कोइ शक नहीं है कि आज चिराग अकेले पड़ गये हैं.   ऐसा पहली बार तो नहीं हुआ. बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान भी चिराग अकेले थे और सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ अकेले ही खड़े हो गये थे. लेकिन माना जाता रहा है कि कहीं ना कहीं नीतीश कुमार को कंट्रोल में रखने के लिए भाजपा ने चिराग का इस्तेमाल किया था और अब जब काम निकल गया तो चिराग को पहचानने से… Continue reading पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं…

पारस और चिराग ने एक दूसरे को निकाला

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी यानी लोजपा में मचे घमासान के दूसरे दोनों खेमों ने एक दूसरे के ऊपर कार्रवाई की। संसदीय दल के नए नेता चुने गए पशुपति पारस ने अपने भतीजे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को अध्यक्ष पद से हटा दिया। इसके थोड़ी देर बाद चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति पारस सहित पार्टी से बगावत करने वाले पांच सांसदों को पार्टी से निकाल दिया। इसके लिए दोनों ने अलग अलग राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की। गौरतलब है कि सोमवार को पारस और चार अन्य सांसदों ने अलग गुट बना कर पारस को नेता चुन लिया था और लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी दी थी, जिसे स्पीकर ने मान्यता दे दी। इसके एक दिन बाद मंगलवार को पारस ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, जिसमें चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया। पारस गुट ने पूर्व सांसद सूरजभान सिंह को लोजपा का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। अब पांच दिन के अंदर राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा। फिलहाल, सूरजभान सिंह की अध्यक्षता में बैठक होगी। एक-दो दिन में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की फिर बैठक हो सकती है। दूसरी ओर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराह पासवान मे कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक की, जिसमें पार्टी के… Continue reading पारस और चिराग ने एक दूसरे को निकाला

Breaking News: लोजपा में फूट के बाद पहली बार चिराग ने दी प्रतिक्रिया, पार्टी को बताया मां जैसा…

पटना | लोजपा के टूटने के बाद से अकेले पड़े चिराग पासवान की पहली प्रतिक्रिया सामने आई है. बिहार के जमुई से सांसद चिराग पासवान अपने पिता की बनाई हुई अपनी पार्टी में ही अकेले पड़ गए हैं. लोजपा में पड़ी फूट के बाद पहली बार चिराग ने ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. चिराग ने लिखा है कि पापा की बनाई इस पार्टी और अपने परिवार को साथ रखने के लिए मैंने हर संभव प्रयास किया लेकिन मैं सफल रहा हूं. उसके आगे चिराग लिखते हैं कि पार्टी मां के समान है और मां के साथ धोखा नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा कि पार्टी में आस्था रखने वाले लोगों का मैं धन्यवाद देता हूं. pic.twitter.com/VAvFMbGgWw — युवा बिहारी चिराग पासवान (@iChiragPaswan) June 15, 2021 आगे की प्लानिंग पर कुछ नहीं बोले चिराग पार्टी की फूट के बाद पहली प्रतिक्रिया में चिराग पासवान ने आगे की प्लानिंग के बारे में कुछ भी नहीं कहा. ऐसे में एक बार फिर से सियासी अटकलें लगनी चाहिए हो गई है. कुछ लोगों का मानना है कि अभी भी चिराग पासवान ही पार्टी के चेहरे हैं. जानकारों का मानना है कि देश भर में रामविलास पासवान के उत्तराधिकारी के रूप में आज भी चिराग… Continue reading Breaking News: लोजपा में फूट के बाद पहली बार चिराग ने दी प्रतिक्रिया, पार्टी को बताया मां जैसा…

Chirag Paswan News : तो क्या अब ‘चिराग ‘ से ‘लालटेन’ जलाने की तैयारी …

पटना |  बिहार में चिराग पासवान के लिए अचानक से सारा गणित बदल गया है. चिराग पासवान ने शायद ही कभी सोचा था कि पिता से विरासत में मिली पार्टी और ताकत उनसे इतनी आसानी से छिनी जा सकती है. लेकिन सच तो ये है कि ये सबकुछ हो गया है. बिहार के साथ ही देशभर में युवा नेता की छवि बनाने वाले चिराग अब सियासी तूफान से लड़ रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच लोजपा में पड़ी इस बड़ी फूट के बाद अब चिराग को लालटेन का साये तले जलते रहने की पेशकश की गई है. जानकारी के अनुसार लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल की ओर से चिराग पासवान को ऑफर दिया गया है. लालू यादव की पार्टी की ओर से कहा गया है कि चिराग पासवान घबाराएं नहीं और हमारे साथ आ जाएं. क्या है आरजेडी का ऑफर सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार आरजेडी ने चिराग पासवान को खुला ऑफर दिया है. लालू यादव की पार्टी की ओर से कहा गया है कि अभी भी चिराग को ज्यादा परेशान नहीं होना चाहिए. चिराग को कहा गया है कि उन्हें हमारे साथ आ जाना चाहिए और एनडीए के छल और प्रपंच का सही तरीके से… Continue reading Chirag Paswan News : तो क्या अब ‘चिराग ‘ से ‘लालटेन’ जलाने की तैयारी …

Bihar में  ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’, Chirag Paswan का साथ छोड़, बगावत पर उतरे चाचा सहित 5 सांसद

नई दिल्ली | देश में कोरोना संक्रमण क्या कम हुआ कई राज्यों में ‘राजनीति का खेला’ शुरू हो गया। राजस्थान, पंजाब, यूपी और अब बिहार में भी राजनीतिक उथल-पुथल जोरों पर है। बिहार में तो ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’ चालू हो गया है। चिराग पासवान (Chirag Paswan) की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में कई नेताओं ने मोर्चा खोलते हुए पार्टी से बगावत कर दी है। LJP के पांच सांसदों ने पार्टी से अलग होने का फैसला कर लिया है। लोजपा के छह में से 5 लोकसभा सांसदों ने चिराग पासवान को हटाकर हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से उनके चाचा और सांसद पशुपति पारस (Pashupati Paras) को संसदीय दल का नेता चुना है। सुत्रों के अनुसार, ये सभी चिराग पासवान के कामकाज से खुश नहीं थे और पार्टी को अपने तरीके से चलाने से नाराज थे। खबर तो ये भी है कि ये पांचों सांसद जेडीयू (JDU) में शामिल हो सकते हैं। Patna: डाॅक्टरों ने किया कमाल, मैराथन ऑपरेशन कर मरीज के ब्रेन से क्रिकेट बाॅल से भी बड़ा Black Fungus निकाला बाहर अब किसे मिलेगी मान्यता लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) को संसदीय दल का नया नेता चुने जाने के संबंध में पत्र भी सौंप दिया गया है। अगर… Continue reading Bihar में  ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’, Chirag Paswan का साथ छोड़, बगावत पर उतरे चाचा सहित 5 सांसद

Bihar: चिराग पासवान ने PM मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखा पत्र, कोरोना मरीजों के लिए रखी ये मांग

पटना | कोरोना को लेकर लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अलग-अलग पत्र लिखकर अपने संसदीय क्षेत्र जमुई के कोरोना मरीजों के लिए अलग-अलग मांग रखी है। चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि केंद्र सरकार की घोषणा के मुताबिक पूरे देश में 551 नए ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen plant) लगाए जा रहे हैं। बिहार में 15 जिलों में भी नए ऑक्सीजन के प्लांट (Oxygen plant) लगाए जाएंगे। इसे भी पढ़ें – IPL 2021 : कोरोना काल में भी IPL कराने पर अड़े, BCCI ने खिलाड़ियों के प्रति चिंता जता कर कहा कि IPL खत्म होने के बाद खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को सुरक्षित घर वापसी कराएगा उन्होंने पत्र में कहा है कि जमुई में भी ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी की शिकायत आ रही है। पासवान ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि जमुई के कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी के कारण मृत्यु ना हो इस कारण वहां भी ऑक्सीजन का प्लांट (Oxygen plant) स्थापित किया जाएं। इधर, जमुई सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) को भी पत्र लिखकर तत्काल… Continue reading Bihar: चिराग पासवान ने PM मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिखा पत्र, कोरोना मरीजों के लिए रखी ये मांग

Bihar : BJP छोडकर चिराग पासवान की पार्टी LJP में गए नेताओं की होगी ‘घरवापसी’!

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Elections 2020) में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) से अलग होकर चुनाव लड़ने वाली लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) इन दिनों संकट के दौर से गुजर रही है।

चिराग विलय कर सकते हैं भाजपा में!

चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी के बिहार के इकलौते विधायक ने पार्टी विधायक दल का विलय जनता दल यू में कर दिया है। गौरतलब है कि चिराग पासवान ने भाजपा के परोक्ष समर्थन से पिछले विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोला था और जदयू के कोटे वाली सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। उन्होंने चुनाव में दावा किया था कि चुनाव बाद उनके समर्थन से भाजपा की सरकार बनेगी। वे असल में भाजपा की सरकार बनवाने के लिए चुनाव लड़ रहे थे। उनकी वजह से जदयू को तीन दर्जन सीटों पर नुकसान हुआ लेकिन खुद उनकी पार्टी सिर्फ एक सीट जीत पाई वह भी दो सौ वोट से भी कम अंतर से। अब उनके इकलौते विधायक राजकुमार सिंह जदयू में चले गए हैं। सो, अब चर्चा शुरू हो गई है कि चिराग पासवान अपने पिता की बनाई पार्टी का विलय भाजपा में कर सकते हैं। उनके पास फिलहाल इसके अलावा कोई चारा नहीं दिख रहा है क्योंकि नीतीश कुमार जितने नाराज हैं, उसे देखते हुए लग नहीं रहा है कि चिराग पासवान की पार्टी को एनडीए में एंट्री मिलेगी। अगर भाजपा उनको केंद्र में मंत्री बनाने की भी सोचती है तो नीतीश उसका विरोध… Continue reading चिराग विलय कर सकते हैं भाजपा में!

चिराग पासवान की मुश्किलें बढ़ेंगी

ऐसा लग रहा है कि लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान ने अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मार ली है। उन्होंने पिछले साल बिहार विधानसभा के चुनाव में बड़ा दांव खेला था।

केंद्र में राजग का हिस्सा है लोजपा, आगे भी रहेगी : चिराग

बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होकर इस बार का विधान सभा चुनाव लड़ चुकी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने फिर दावा किया कि केंद्र में उनकी पार्टी राजग का हिस्सा है और आगे भी बनी रहेगी।

और लोड करें