Opposition leaders

  • मोदी का विपक्षी नेताओं पर हमला

    मेरठ। लोकसभा चुनावों की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में पहली जनसभा की। वे रविवार को मेरठ पहुंचे, जहां उन्होंने भाजपा और सहयोगी पार्टियों की ओर से आयोजित रैली को संबोधित किया। इसमें उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर जम कर हमला किया। प्रधानमंत्री मोदी ने रैली में एक बार फिर यह बात दोहराई कि केंद्रीय एजेंसियों ने लूट का जो पैसा जब्त किया है उसे वे गरीबों में लौटाएंगे। PM Modi attack opposition leaders यह भी पढ़ें: भारत के लोकतंत्र व चुनाव निष्पक्षता पर अमेरिका नहीं बोलेगा तो क्या रूस बोलेगा? विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए...

  • विपक्षी नेताओं के बयानों का विवाद

    किसी भी चुनाव की गर्मी में नेताओं की तीखी बयानबाजी बहुत आम है। पार्टियां और नेता एक दूसरे पर हमला करते हैं। कई बार विवादित बयान भी दिए जाते हैं, जिनका मकसद किसी खास चीज की ओर ध्यान खींचना होता है। लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों की ओर से कुछ ऐसे बयान दिए जा रहे हैं, जो रैंडम नहीं लग रहे हैं। यानी ऐसा नहीं लग रहा है कि बिना सोचे समझे चुनाव प्रचार की गर्मी में बोल दिया। Lok Sabha election 2024 ये बयान सुनियोजित लग रहे हैं और पिछले कुछ समय से कही जा...

  • विपक्षी नेताओं को भी नागरिक सम्मान

    आमतौर पर सत्तारूढ़ दल की ओर से अपनी विरोधी पार्टियों के नेताओं को सम्मानित करने की परंपरा नहीं रही है। लेकिन नरेंद्र मोदी की सरकार में यह परंपरा बदली है। मोदी सरकार में एक और परंपरा बदली है कि वहां अपने पुराने नेताओं को नागरिक सम्मान देने की शुरुआत हो गई है। पहले भाजपा अपने पुराने नेताओं को सम्मान नहीं देती थी। छह साल तक प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने जनसंघ के संस्थापक नेताओं को सम्मानित नहीं किया था लेकिन नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के एक साल बाद ही अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न...

  • मीडिया पर हमला करके क्या मिलेगा?

    विपक्षी पार्टियों के नेता लगातार चुनाव हारने की भड़ास मीडिया पर निकाल रहे हैं। कांग्रेस से लेकर समाजवादी पार्टी और राजद से लेकर जदयू और तृणमूल कांग्रेस तक के नेता मीडिया को निशाना बना रहे हैं। जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह अपने इस्तीफे के बारे में पूछे जाने पर मीडिया पर बुरी तरह भड़के। गुरुवार को उन्होंने मीडिया को निशाना बनाते हुए कहा कि जब इस्तीफा देना होगा तो आपसे परामर्श कर लेंगे। आप जाइए और भाजपा कार्यालय से मेरे इस्तीफे का ड्राफ्ट बनवा कर ले आइए। भाजपा नैरेटिव सेट करती है और...

  • विपक्षी नेता ईडी से असहयोग करेंगे

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ असहयोग करने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए कोई साझा रणनीति नहीं बनी है। पार्टियों ने अलग अलग फैसला किया है। कुछ पार्टियां अपवाद के लिए सहयोग कर सकती हैं और ईडी के बुलावे पर पूछताछ के लिए जा सकती हैं, जैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी अभी तक दिखा रहे हैं। लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने यह माहौल बनाना शुरू कर दिया है कि केंद्रीय एजेंसी सिर्फ उनको परेशान करने के लिए बुला रही है। इसके अलावा पार्टियों ने राज्यसभा में हुए जाट अपमान मुद्दे से सबक लेकर...

  • विपक्ष के कई नेता गिरफ्तार होंगे?

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ असहयोग करने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए कोई साझा रणनीति नहीं बनी है। पार्टियों ने अलग अलग फैसला किया है। कुछ पार्टियां अपवाद के लिए सहयोग कर सकती हैं और ईडी के बुलावे पर पूछताछ के लिए जा सकती हैं, जैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी अभी तक दिखा रहे हैं। लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने यह माहौल बनाना शुरू कर दिया है कि केंद्रीय एजेंसी सिर्फ उनको परेशान करने के लिए बुला रही है। इसके अलावा पार्टियों ने राज्यसभा में हुए जाट अपमान मुद्दे से सबक लेकर...

  • पटना बैठक में सभी विपक्षी नेता होंगे!

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ असहयोग करने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए कोई साझा रणनीति नहीं बनी है। पार्टियों ने अलग अलग फैसला किया है। कुछ पार्टियां अपवाद के लिए सहयोग कर सकती हैं और ईडी के बुलावे पर पूछताछ के लिए जा सकती हैं, जैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी अभी तक दिखा रहे हैं। लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने यह माहौल बनाना शुरू कर दिया है कि केंद्रीय एजेंसी सिर्फ उनको परेशान करने के लिए बुला रही है। इसके अलावा पार्टियों ने राज्यसभा में हुए जाट अपमान मुद्दे से सबक लेकर...

  • चुनौती दे रहे क्षत्रपों पर शिकंजा

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ असहयोग करने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए कोई साझा रणनीति नहीं बनी है। पार्टियों ने अलग अलग फैसला किया है। कुछ पार्टियां अपवाद के लिए सहयोग कर सकती हैं और ईडी के बुलावे पर पूछताछ के लिए जा सकती हैं, जैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी अभी तक दिखा रहे हैं। लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने यह माहौल बनाना शुरू कर दिया है कि केंद्रीय एजेंसी सिर्फ उनको परेशान करने के लिए बुला रही है। इसके अलावा पार्टियों ने राज्यसभा में हुए जाट अपमान मुद्दे से सबक लेकर...

  • विपक्षी नेता सत्ता में भ्रष्टाचार को अधिकार मानते: भाजपा

    विपक्षी पार्टियों के गठबंधन ‘इंडिया’ ने केंद्रीय एजेंसियों के साथ असहयोग करने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए कोई साझा रणनीति नहीं बनी है। पार्टियों ने अलग अलग फैसला किया है। कुछ पार्टियां अपवाद के लिए सहयोग कर सकती हैं और ईडी के बुलावे पर पूछताछ के लिए जा सकती हैं, जैसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी अभी तक दिखा रहे हैं। लेकिन ज्यादातर पार्टियों ने यह माहौल बनाना शुरू कर दिया है कि केंद्रीय एजेंसी सिर्फ उनको परेशान करने के लिए बुला रही है। इसके अलावा पार्टियों ने राज्यसभा में हुए जाट अपमान मुद्दे से सबक लेकर...

  • और लोड करें