prashant kishor

  • लालू यादव के बयान पर प्रशांत किशोर का तंज

    Prashant Kishor :- राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बुधवार को जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खेल खत्म होने की बात कही थे, वहीं इस बयान पर चर्चित चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कटाक्ष किया है। जन सुराज अभियान के सूत्रधार किशोर ने कहा कि जिनके पास एक भी सांसद नहीं, वे देश का पीएम तय कर रहा है। दरअसल, राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बुधवार को पांच राज्यों में हुए चुनाव को लेकर कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी का खेल खत्म है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कोई मुकाबला नहीं है।...

  • जदयू को प्रशांत किशोर की चिंता

    ऐसा लग रहा है कि नीतीश कुमार की पार्टी को चुनाव रणनीतिकार और अपनी पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर की चिंता सता रही है। पार्टी की ओर से राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश नारायण सिंह के ऊपर जो हमला किया गया है वह इसी का नतीजा दिख रहा है। अन्यथा इससे पहले भी हरिवंश अपना स्पष्ट रूझान भाजपा की ओर दिखा रहे थे लेकिन कभी जदयू ने उनको निशाना नहीं बनाया था। असल में प्रशांत किशोर जब से पदयात्रा कर रहे हैं तब से अपनी लगभग हर सभा में इस तरह का संकेत देते हैं कि नीतीश कुमार भाजपा...

  • पीके का चुनावी राजनीति में पहला कदम!

    प्रशांत किशोर ने अपनी राजनीतिक पार्टी नहीं बनाई है। उन्होंने जनसुराज बनाया है, जिसके बैनर तले वे बिहार में पदयात्रा कर रहे हैं। लेकिन पदयात्रा शुरू होने के बाद पहला चुनाव आया तो उन्होंने इसमें हाथ आजमाया। बिहार में विधान परिषद की पांच सीटों के लिए चुनाव हुए हैं। इनमें दो सीटें सारण स्नात्तक और शिक्षक क्षेत्र की थीं। इसके अलावा गया स्नात्तक व गया शिक्षक सीट थी और एक सीट कोशी की थी। सारण शिक्षक क्षेत्र की सीट पर प्रशांत किशोर के जनसुराज ने एक स्थानीय शिक्षक आफाक अहमद को समर्थन दिया था। वे एक दूसरे स्थानीय निर्दलीय एमएलसी...

  • राहुल की सजा पर प्रशांत किशोर को याद आए वाजयपेयी की पंक्ति छोटे मन से कोई…

    पटना। राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने मानहानि मामले में राहुल गांधी को दो साल की सजा को 'अत्यधिक' बताया और सत्तारूढ़ दल से कांग्रेस नेता की सदस्यता के संबंध में 'बड़ा दिल' दिखाने का आग्रह किया। किशोर इन दिनों 'जन सुराज' अभियान के तहत अपने गृह प्रदेश बिहार का दौरा कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस यह संदेश जनता तक पहुंचाने के लिए अच्छी तरह से तैयार नहीं दिख रही है कि उसके साथ अन्याय हुआ है। किशोर ने कहा, ‘मैं कोई कानून का विशेषज्ञ नहीं हूं, लेकिन कानूनी प्रक्रिया के प्रति सम्मान के साथ, राहुल गांधी को...

  • प्रशांत किशोर और सिब्बल की एक जैसी सोच!

    कपिल सिब्बल इंसाफ के सिपाही बन गए हैं। वे कई बरसों से एक अलग कांग्रेस बनाने की कोशिश कर रहे थे। सबकी कांग्रेस या अपनी कांग्रेस नाम से पार्टी बनाने का प्रयास भी उन्होंने किया था। गुलाम नबी आजाद को आगे करके सिब्बल ने कांग्रेस के भीतर जी-23 बनाने का काफी हद तक सफल प्रयास किया। अब उन्होंने इंसाफ के सिपाही नाम से वेबसाइट बनाई है और देश के सभी विपक्षी मुख्यमंत्रियों से साथ आने की अपील की है। उन्होंने यह वेबसाइट अन्याय के खिलाफ लड़ने और सबको इंसाफ दिलाने के मकसद से शुरू की है। लेकिन असली बात कुछ...