बिहार में अब गणतंत्र दिवस की झांकी पर सियासत

गणतंत्र दिवस परेड में ‘जल जीवन हरियाली अभियान’ पर आधारित बिहार सरकार की झांकी के प्रस्ताव को केंद्र सरकार ने खारिज कर दिया है। प्रस्ताव के खारिज होने के साथ ही तय हो गया है

बंगाल के बाद महाराष्ट्र की झांकी को भी ना

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस की परेड में इस बार महाराष्ट्र की भी झांकी नहीं होगी। केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल के बाद महाराष्ट्र की झांकी के मॉडल को भी नामंजूर कर दिया है। इस बार मराठी रंगमंच के 175 साल पूरे हो रहे हैं और महाराष्ट्र की झांकी इसी थीम पर बनाई गई थी। पर अब यह झांकी 26 जनवरी को राजपथ पर नहीं दिखाई जाएगी। इस मुद्दे पर शिव सेना और एनसीपी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है और पक्षपात का आरोप लगाया है। शिव सेना के सांसद संजय राउत ने पक्षपात का आरोप लगाते हुए ट्विटर पर लिखा है- महाराष्ट्र की झांकी हमेशा से देश का आकर्षण रही है। अगर यहीं कांग्रेस के कार्यकाल में हुआ होता तो महाराष्ट्र भाजपा हमलावर हो जाती। एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने इस पर नाराजगी जताते हुए कहा- केंद्र ने गणतंत्र दिवस परेड के लिए गैर भाजपा शासित महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल की झांकी को अनुमति देने से इनकार कर दिया है। यह सरकार पूर्वाग्रहपूर्ण तरीके से व्यवहार कर रही है। सुप्रिया सुले ने कहा कि दोनों राज्यों ने स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और उनकी झांकी के लिए अनुमति देने से इनकार करने का फैसला लोगों का अपमान है। यह देश… Continue reading बंगाल के बाद महाराष्ट्र की झांकी को भी ना

और लोड करें